60 साल के व्यापारी की वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी से बची जान, जानें इस सर्जरी के बाद कैसे रखना चाहिए अपना ख्याल

कोरोना वायरस महामारी के बीच मुंबई के 60 साल के व्यापारी शैलेश कनानी की वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी से बचाई गई जान।

Vishal Singh
हृदय स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 07, 2020Updated at: Aug 07, 2020
60 साल के व्यापारी की वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी से बची जान, जानें इस सर्जरी के बाद कैसे रखना चाहिए अपना ख्याल

हाल के दिनों में पूरी दुनिया में कोविड-19 का खतरा मंडरा रहा है, ऐसे में मुंबई के 60 साल के व्यापारी शैलेश कनानी की सफलतापूर्वक वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी हुई। एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट (Asian Heart Institute) में दिल के विशेषज्ञों ने उनके गंभीर रूप से संकुचित हृदय वाल्व को ठीक करने के लिए वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी की। कनानी को साल 2006 में अपने दिल के वाल्व के संकीर्ण होने का पता चला था, जिसके बाद उन्हें इसी साल मार्च में अचानक सांस लेने में थोड़ी परेशानी हुई और उन्हें एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में ले जाया गया। एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट के मुख्य हृदय रोग विशेषज्ञ सर्जन डॉक्टर रमाकांत पांडा ने बताया कि “जैसा कि रोगी ने लक्षण विकसित किए हैं, उन्होंने तुरंत मुझसे परामर्श किया। जिसके बाद मरीज की समीक्षा करने पर ये पाया गया कि उनकी वाल्व की संकीर्णता बहुत ज्यादा हो गई है, जो एक गंभीर स्थिति थी। 

heart health

सर्जरी का सुझाव क्यों दिया गया?

सर्जरी इसलिए जरूरी हो गई थी क्योंकि व्यापारी कनानी का वाल्व पूरी तरह से कैल्शियम से भरा गई थी, जिसके कारण उनका हृदय पर्याप्त रक्त पंप करने में सक्षम नहीं था। इस स्थिति को देख उन्हें वाल्व प्रतिस्थापन प्रक्रिया की सलाह दी गई थी, या तो सर्जरी द्वारा या बिना सर्जरी के एक न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रिया के जरिए से ट्रांसकैथेटर एओर्टिक वाल्व रिप्लेसमेंट (Transcatheter Aortic Valve Replacement)। आपको बता दें कि एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट टीएवीआर प्रक्रियाओं के सफलतापूर्वक संचालन अस्पतालों में से एक के रूप में सामने आया है।

वाल्व सर्जरी में डॉक्टर पांडा के सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा रिकॉर्ड के कारण, कानानी ने सर्जरी द्वारा वाल्व प्रतिस्थापन का विकल्प चुना। लेकिन कई शोध से ये सामने आया है कि मरीज को-ऑपरेटिव समय के दौरान कोविड-19 (COVID-19) को पकड़ सकता है, तो यह मरीज को गंभीर परिणाम भी दे सकता है। डॉक्टरों ने भी मरीज की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने तक अलग रखने की सलाह दी, जिससे की हालात को बिगड़ने से रोका जा सके। 

heart health

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए फायदेमंद समझकर कर रहे हैं कोकोनट ऑयल का प्रयोग तो हो जाएं सावधान, बढ़ाता है बैड कोलेस्ट्रॉल

सर्जरी की कुछ अहम बातें:

  • यह 9 घंटे तक चलने वाली एक जटिल प्रक्रिया थी।
  • बीती 18 जुलाई लंबी सर्जरी के डॉक्टर पांडा और उनकी टीम ने मरीज के वाल्व से कैल्शियम को हटाने में सफलता हासिल कर उनके हृदय में 25 मिमी आकार के ऊतक वाल्व डाला गया।
  • ऑपरेशन करते समय मुख्य रक्त पाइप में इजाफा भी पाया गया था, जो महाधमनी के पतले हिस्से को हटाकर सामान्य आकार में वापस लाया गया था। डॉक्टर पांडा के मुताबिक, इस अतिरिक्त सर्जरी के बिना मरीज अगले 3 से 4 सालों में एक और बड़ी सर्जरी के लिए वापस आ गया होगा।
  • सर्जरी के बाद रोगी को किसी तरह की परेशानी न होने के कारण उन्हें जल्दी छुट्टी दे दी गई। 
  • सर्जरी के बाद अब मरीज पूरी तरह से सुरक्षित और स्वस्थ है। लेकिन इस तरह की हृदय सर्जरी से गुजरने के बाद क्या करना चाहिए? ऐसे में मरीज को वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी से तेज और अच्छी तरह से ठीक होने के लिए इन टिप्स का पालन करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: हार्ट ट्रांसप्‍लांट कराने की जरूरत कब पड़ती है, जानिए Transplant का खर्च और पूरी प्रक्रिया

पोस्ट-ओपरेटिव केयर टिप्स

  • इस गंभीर स्थिति से गुजरने के बाद मरीज को अपने खानपान से लेकर सभी चीजों के लिए डॉक्टर के दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए। 
  • अपने खानपान को हमेशा हेल्दी रखें और बाहर या तला हुआ भोजन हमेशा के लिए छोड़ दें। 
  • नियमित रूप से व्यायाम आपके लिए बहुत जरूरी है, आपको कम से कम रोजाना 30 मिनट तक व्यायाम करना चाहिए जो आपको स्वस्थ रखने में कारगर है। 
  • किसी भी तरह के भारी वजन को उठाने से आपको बचना चाहिए। 
  • ज्यादा से ज्यादा अपने आपको आराम देने की कोशिश करें और तनावमुक्त रहें। 
  • किसी भी अलग तरह के कदम को उठाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें या नियमित रूप से डॉक्टर के संपर्क में रहें और अपनी स्थिति के बारे में उनसे बात करें। 

Read More Articles On Heart Health Hindi

Disclaimer