World AIDS Day 2020: महिलाओं में एचआईवी का संकेत हो सकते हैं ये 6 असामान्य लक्षण

HIV एक प्रकार का वायरस है, जो AIDS जैसी गंभीर बीमारि का कारण बन सकता है। जानें महिलाओं में इसके शुरुआती लक्षण।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Oct 04, 2019Updated at: Dec 01, 2020
World AIDS Day 2020: महिलाओं में एचआईवी का संकेत हो सकते हैं ये 6 असामान्य लक्षण

आज 1 दिसंबर को दुनिया World AIDS Day (विश्व एड्स दिवस) मना रही है। एड्स एक गंभीर बीमारी है, जिसकी शुरुआत एचआईवी (HIV) वायरस से होती है। ये HIV Virus जब शरीर में पहुंचकर गंभीर नुकसान पहुंचा देता है, तब उस स्थिति को एड्स कहा जाता है। एड्स का अभी तक कोई भी प्रामाणिक इलाज नहीं है। लेकिन HIV संक्रमित होने के बारे में पता चलते ही अगर कुछ सावधानियां बरती जाएं और दवाएं सही समय पर ली जाएं, तो शरीर को इस वायरस के कारण होने वाले नुकसान से काफी हद तक बचाया जा सकता है और इसकी गति कम की जा सकती है।

एचआईवी विषाणु है, जो संक्रमित रक्त, असुरक्षित यौन संबंध, सुइयों, सीरिंज के कारण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। पर सिर्फ महिलाओं की बात करें तो अधिकांश महिलाओं को योनि सेक्स के दौरान एचआईवी होता है और कुछ को एनल सेक्स से भी एचआईवी हो सकता है। डॉक्टर्स की मानें तो एचआईवी के लक्षण अक्सर जल्दी मालूम नहीं पड़ते। फिर जबतक मालूम पड़ता है तब तक बहुत देर हो जाती है। संक्रमण होने पर, इन लक्षणों के दिखने में 2-4 सप्ताह लग जाते हैं।

अक्सर इन लक्षणों को एचआईवी के बजाय एक सामान्य सर्दी या फ्लू माना जाता है। तेजी से फैलने वाले एचआईवी संक्रमण में लगभग 80 प्रतिशत व्यक्ति फ्लू जैसे लक्षणों का अनुभव करते हैं। यही कारण है कि आपके और आपके साथी के साथ यौन संबंध शुरू करने से पहले हमेशा परीक्षण करना बहुत महत्वपूर्ण है। आज हम आपको बताएंगे कि महिलाओं कैसे पहले से जान सकती हैं शरीर के द्वारा दिए जा रहे एचआईवी के लक्षणों को।

महिलाओं में एचआईवी होने के होने के सबसे सामान्य संकेत

शरीर पर हो जाते हैं बॉडी रैशेज

महिओं में एचआईवी संक्रमण का सबसे अहम लक्षणों में से एक है शरीर पर लाल चक्ते या बॉडी रैश्ज होना। इन चकत्तों में खुजली होने आदि की भी परेशानी हो सकती है।

रह रह कर बुखार

बुखार एचआईवी के आम लक्षणों में से एक है। एचआईवी से पीड़ित महिलाओं को बुखार रह रह कर हो जाता है।

सोर थ्रोट

गले में सूजन या दर्द इसके कुछ लक्षणों में से एक है। एचआईवी पीड़ित महिलाओं में इस तरीके की परेशानी धीरे-धीरे बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़ें:- HIV और AIDS में ये हैं 7 बड़े अंतर, जानें तथ्य

बहुत ज्यादा सिर दर्द

एड्स से पीड़ित महिलाओं को लगातार सिर में दर्द की समस्या रहती है।

सूजी हुई लिम्फ

लिम्फ नोड्स इम्यून सिस्टम का हिस्सा होते हैं। इसमें इम्यून स्टोर होते हैं। इसलिए इंफेक्शन की वजह ग्लैंड में सूजन आ जाता है। इस सूजन की वजह से गर्दल सिर के पीछे और कमर आदि में दर्द होता है।

जी मिचलाना

एचआईवी वायरस के बढ़ने से भूख कम हो जाती है। इसके अलावा पेट भी ठीक नहीं रहता। इसी चलते जी मिचली करता है।

अन्य लक्षण

  • थकान
  • मुंह में अल्सर
  • फंगल इंफेक्शन और बैक्टीरियल वेजिनोसिस (वेजाइनल इंफेक्शन)
  • रात को पसीना
  • उल्टी
  • मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों में दर्द
  • नाखून के रंगों को बदल जाना

प्रेग्नेंसी में एचआईवी

इसके अलावा एचआईवी का संक्रमण होने पर महिलाओं के पीरियड्स में भी अनियमितता आ जाती है। पीरियड्स बीच-बीच में रूक के आता है या होने पर सामान्य से अधिक होता है। इसके अलावा बहुत सी छोटी-छोटी बीमारियां जो पीड़ित महिला को होती है, वो जल्दी ठीक नहीं होती। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान एचआईवी और खतरनाक हो जाती है क्योंकि तब मां से बच्चे में इसे फैलने का खतरी बढ़ जाता है। इसी वजह से गर्भवस्था के दौरान महिलाओं को एचआईवा जांच करने की सलाह दी जाती है। ताकि जितनी जल्द इसका परीक्षण होगा, उतनी ही जल्द इसका इलाज हो पाएगा।

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer