Vitamins: बढ़ती उम्र में तेज दिमाग के लिए लें ये 5 जरूरी विटामिन्स, अवसाद-तनाव जैसी समस्याएं भी होंगी दूर

अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है सही खान-पान और सही खान-पान में जरूरी विटामिन्स का होना बहुत जरूरी है। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Feb 20, 2020 09:32 IST
Vitamins: बढ़ती उम्र में तेज दिमाग के लिए लें ये 5 जरूरी विटामिन्स, अवसाद-तनाव जैसी समस्याएं भी होंगी दूर

अच्छे मानसिक स्वास्थ्य से बेहतर कुछ भी नहीं है क्योंकि ये आपके संपूर्ण स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है और मानसिक कल्याण के लिए अच्छी जीवनशैली के विकल्पों की आवश्यकता होती है। हमें अक्सर ये महसूस नहीं होता है अच्छा मानसिक स्वास्थ्य सिर्फ कुछ मामूली से परिवर्तन और कुछ आवश्यक विटामिन और मिनरल की शरीर में पूर्ति से भी प्राप्त किया जा सकता है। ये आपके मस्तिष्क को स्वस्थ और खुश रखने में मदद कर सकते हैं। अन्य अंगों की तरह, हमारे मस्तिष्क को भी अच्छी तरह से काम करने के लिए विटामिन की बहुत ज्यादा जरूरत होती है। अगर आपके शरीर में इन जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स की कमी हो जाती है तो आप न्यूरोलॉजिकल और भावनात्मक स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं का शिकार हो सकते हैं। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि कुछ विटामिनों और मिनरल्स के सेवन को बढ़ाने से आप कुछ मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं जैसे अवसाद, चिंता, मनोदशा में परिवर्तन को दूर कर सकते हैं और मस्तिष्क स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं। हालांकि निर्णायक प्रमाण अभी उपलब्ध नहीं है लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि प्राकृतिक बूस्टर और दवाएं आपके मस्तिष्क को स्वस्थ बनाने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में काम आ सकती हैं। इस लेख में हम आपको ऐसे 5 जरूरी विटामिन्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके मस्तिष्क स्वास्थ्य को बेहतर बना सकती हैं।

 Mental Health

5 विटामिन, जो आपके मस्तिष्क स्वास्थ्य को बेहतर बनाएंगे

विटामिन बी

विटामिन बी मस्तिष्क के लिए सबसे आवश्यक पोषक तत्वों के समूह में से एक जरूरी विटामिन है। लगभग सभी रूपों में - बी 1, बी 2, बी 3, बी 6 न्यूरोट्रांसमीटर के इधर से उधर जाने में मदद करते हैं और अवसाद, तनाव जैसी समस्याओं के लक्षणों को कम करते हैं। इसके साथ ही ये विटामिन मानसिक गिरावट यानी की याददाश्त में कमी को धीमा करता है, जो उम्र के साथ हो सकती है। जबकि विटामिन बी बहुत सारे खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, शाकाहारी लोगों को कुछ मामलों में सप्लीमेंट की आवश्यकता हो सकती है।

इसे भी पढ़ेंः शाम 4 बजे के बाद चाय-समोसा नहीं खाएं ये 5 हेल्दी फूड, पेट भरने का हेल्दी सौदा हैं ये

सेलेनियम

सेलेनियम एक महत्वपूर्ण माइक्रोन्यूट्रिएंट है, जो शरीर को कुछ मुक्त कणों और संक्रमणों से होने वाले नुकसान से बचाता है। मस्तिष्क के लिए भी, यह कई लाभों की गारंटी देता है। मस्तिष्क को पर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति करने, सूजन को कम करने और कोशिकाओं की क्षति को रोकने में सेलेनियम मदद कर सकता है। कई अध्ययनों में पुष्टि हुई है कि पर्याप्त सेलेनियम का स्तर अवसाद के विकास के जोखिम को कम कर सकता है और साथ ही प्रसवपूर्व अवसाद की संभावना को कम कर सकता है। सेलेनियम सप्लीमेंट चिंता से जुड़े कुछ उच्च-श्रेणी के लक्षणों से निपटने में भी मदद कर सकता है।

Vitamins For Good And Better Mental Health

विटामिन डी

विटामिन डी हड्डी स्वास्थ्य के साथ-साथ स्वस्थ मस्तिष्क के लिए भी एक आवश्यक सप्लीमेंट है। डॉक्टरों और शोधकर्ताओं के अनुसार, पोषक तत्व में हार्मोनेलिक जैव रासायनिक होते हैं, जो मस्तिष्क के रिसेप्टर्स के साथ इंटरेक्ट करते हैं और महत्वपूर्ण कार्यों को बनाए रखने में मदद करते हैं, जो मस्तिष्क के माध्यम से जाते हैं। यह कुछ एंजाइमों को सक्रिय और निष्क्रिय भी करता है, जो तंत्रिका विकास में मदद करते हैं और सूजन को कम करते हैं। अच्छी मात्रा में विटामिन डी आपके मस्तिष्क को स्वस्थ रहने और मानसिक बीमारियों के विकास के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़ेंः भारी भरकम एक्सरसाइज नहीं प्रोटीन पैक्ड ये 5 फूड से बनेंगी मसल्स, जानें किस फूड में कितना प्रोटीन

हल्दी

हल्दी की अच्छाईयों को किसी नए परिचय की आवश्यकता नहीं है। आपके भोजन में एक चुटकी  हल्दी आपके संपूर्ण स्वास्थ्य और इम्यूनिटी की रक्षा के लिए अच्छी माना जाती है। इतना ही नहीं हल्दी एडीएचडी से जुड़े कुछ लक्षणों जैसे  अवसाद या चिंता के इलाज के लिए भी फायदेमंद है। हल्दी में एक बायोएक्टिव यौगिक होता है, जो आपके डीएचए (जो एक आवश्यक स्वस्थ मस्तिष्क फैट है) को बेहतर ढंग से कार्य करने के लिए चैनलाइज़ कर सकता है और न्यूरोपैट्रान में मदद करता है। हल्दी की जड़ में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट ऑक्सीडेटिव तनाव से निपटने में भी मदद कर सकते हैं।

मैग्निशियम

मैग्नीशियम मस्तिष्क के लिए एक स्वस्थ प्राकृतिक औषधि है। मैग्निशियम प्रमुख न्यूरोलॉजिकल कार्यों को बनाए रखने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि शरीर से मस्तिष्क तक और दूसरे तरीके से संकेत अच्छी तरह से काम कर रहे हैं। मैग्निशियम मस्तिष्क के विकास, संज्ञानात्मक कार्यों को सुचारू बनाने में भी मदद करता है और मस्तिष्क में आवश्यक रिसेप्टर्स को मिलाने का काम करता है। आपको यह जानकर और भी आश्चर्य हो सकता है कि मैग्नीशियम की सुरक्षित मात्रा (400-420 मिलीग्राम) का सेवन शरीर में खराब प्रतिक्रियाओं से लड़ने में भी मदद कर सकता है।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer