थायराइड बढ़ने और घटने पर दिखाई देते हैं ये 5 लक्षण, इलाज न मिलने पर हो सकता है कैंसर

क्या आपको ध्यान रखने में दिक्कत, वजन बढ़ना, ठंड लगना या बालों के झड़ने से पीड़ित है? या फिर आप हमेशा पसीने से तर और चिंतित रहते हैं? इसके लिए आपकी थायराइड  ग्रंथि जिम्मेदार हो सकती है। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 05, 2019
थायराइड बढ़ने और घटने पर दिखाई देते हैं ये 5 लक्षण, इलाज न मिलने पर हो सकता है कैंसर

क्या थोड़ा बहुत काम करने के बाद रोजाना थकान महसूस करते हैं? क्या आपको ध्यान रखने में दिक्कत, वजन बढ़ना, ठंड लगना या बालों के झड़ने से पीड़ित है? या फिर आप हमेशा पसीने से तर और चिंतित रहते हैं? इसके लिए आपकी थायराइड  ग्रंथि जिम्मेदार हो सकती है। शरीर और मस्तिष्क का यह रेगुलेटर कभी-कभार बिगाड़ जाता है, विशेषकर यह स्थिति महिलाओं में अधिक देखने को मिलती है। अच्छा महसूस करने और गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए सही उपचार लेना भी बेहद जरूरी है।

क्या है थायराइड ग्रंथि (What Is Thyroid Gland)

गर्दन के सामने तितली के आकार की थायराइड ग्रंथि उन हार्मोन का उत्पादन करती है जो आपके मेटाबॉल्जिम की गति को नियंत्रित करते हैं । मेटाबॉल्जिम प्रणाली शरीर को ऊर्जा का उपयोग करने में मदद करती है। थायराइड विकार थायराइड हार्मोन के उत्पादन को बाधित कर मेटाबॉल्जिम को धीमा या बाधित कर सकता है। जब हार्मोन का स्तर बहुत कम या बहुत अधिक हो जाता है तो आपको यह लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

वजन बढ़ना या घटना (Weight Gain or Loss)

वजन में बेवजह परिवर्तन थायराइड विकार के सबसे आम लक्षणों में से एक है। वजन बढ़ना थायराइड हार्मोन के निम्न स्तर का संकेत हो सकता है, जिसे हाइपोथायरायडिज्म कहा जाता है। इसके विपरीत, अगर थायराइड शरीर की जरूरत से ज्यादा हार्मोन का उत्पादन करता है तो आपका वजन अप्रत्याशित रूप से कम हो सकता है। इसे हाइपरथायरायडिज्म कहते हैं। हाइपरथायरायडिज्म को सामान्यतौर पर सबसे ज्यादा देखा जाता है।

इसे भी पढ़ेंः रतौंधी (नाइट ब्लाइंडनेस) से पीड़ित मरीज इस तरीके से अपनी आंखों को बनाएं दुरुस्त, दूर होगी बीमारी

गर्दन में सूजन (Swelling in the Neck)

गर्दन में सूजन थायराइड का स्पष्ट संकेत है कि आपके साथ कुछ गलत हो सकता है। हाइपोथायरायडिज्म या हाइपरथायरायडिज्म दोनों के साथ गोइटर हो सकता है। कभी-कभार गर्दन में सूजन थायराइड कैंसर या पिंड के परिणामस्वरूप हो सकती है। पिंड का मतलब यहां एक गांठ से है, जो थायराइड के भीतर बढ़ती चली जाती है। यह थायराइड से असंबंधित कारणों से भी हो सकता है।

ह्रदय गति में परिवर्तन (Changes in Heart Rate)

थायराइड हार्मोन शरीर के सभी अंगों को प्रभावित करते हैं और ह्रदय गति पर जेती से अपना प्रभाव जमा सकते हैं। हाइपोथायरायडिज्म से ग्रस्त लोगों को आमतौर पर दूसरे के मुकाबले अपनी ह्रदय गति थोड़ी कम मालूम पड़ती है। हाइपरथायरायडिज्म आपके दिल की गति को बढ़ाने का कारण बन सकता है। यह ब्लड प्रेशर को बढ़ाने और दिल तेज धड़कने या दिल की धड़कन के अन्य प्रकार की दिक्कतों को बढ़ा सकता है।

इसे भी पढ़ेंः  त्वचा से मवाद और पानी का बहना है कुष्ठ रोग के लक्षण, जानें कारण और बचाव

शरीर की ऊर्जा में बदलाव (Changes in Energy)

थायराइड विकार आपकी ऊर्जा के स्तर और मूड पर गंभीर प्रभाव डाल सकता है। हाइपोथायरायडिज्म के कारण लोगों को थकान, सुस्ती और निराशा जैसा महसूस होता है।  हाइपरथायरायडिज्म के कारण चिंता, नींद न आना, बेचैनी और चिड़चिड़ापन जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

बालों का झड़ना (Hair Loss)

थायराइड हार्मोन के संतुलन का एक और संकेत है बालों का झड़ना। हाइपोथायरायडिज्म और हाइपरथायरायडिज्म दोनों के कारण ही लोगों के बाल झड़ सकते हैं। ज्यादातर मामलों में, थायराइड विकार का इलाज होने के बाद बाल वापस उग जाते हैं।

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

 
Disclaimer