ये 5 आदतें हैं 'अच्छी मानसिक स्थिति' का संकेत, आपका दिमाग भी कमजोर है, तो एक्सपर्ट से जानें कैसे बनाएं इसे तेज

जिन लोगों का बेहतर मानसिक स्वास्थ्य होता है उन लोगों में इन 5 तरह की होती है आदतें, एक्सपर्ट से जानिए क्या है अपने दिमागी हालत में सुधार करने के तरीके

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Jan 08, 2021
ये 5 आदतें हैं 'अच्छी मानसिक स्थिति' का संकेत, आपका दिमाग भी कमजोर है, तो एक्सपर्ट से जानें कैसे बनाएं इसे तेज

अक्सर आपने कई ऐसे लोगों को देखा होगा जिनकी मानसिक स्थिति बेहतर नहीं होती और उनके द्वारा कई तरह के लक्षण दिखाई देते हैं। ऐसा हल्के तनाव से लेकर अवसाद की स्थिति तक हो सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं जिन लोगों की मानसिक स्थिति बेहतर होती है उनकी आदतें कैसी होती है? आप ही नहीं बल्कि ज्यादातर लोगों को ये जानकारी नहीं होगी कि जिन लोगों की मानसिक स्थिति बेहतर होती हो उन लोगों की कुछ आदतें होती है जिन्हें देखकर आप ये पता लगा सकते हैं कि वो मानसिक रूप से स्वस्थ हैं। हर कोई ये कोशिश करता है कि उनकी मानसिक स्थिति लंबे समय तक स्वस्थ रहे और उन्हें किसी भी प्रकार से कोई दिक्कत न हो। इसके लिए हमने बात की इंस्टीट्यूट ऑफ साइकोमेट्रिक असेसमेंट एंड काउंसलिंग की अध्यक्ष और माइंड डिजायनर डॉक्टर कोमलप्रीत कौर से। जिन्होंने बताया कि बेहतर मानसिक स्थिति वाले लोगों में किस तरह की आदतें होती हैं और कैसे अपने दिमागी हालत में सुधार करें। 

brain health

बेहतर मानसिक स्थिति वाले लोगों की आदतें (Habits Of People With healthy Brain In Hindi)

ध्यान केंद्रित करने की होती है अच्छी क्षमता

आमतौर पर कुछ लोगों की ध्यान केंद्रित की क्षमता काफी कम होती है, जिसके कारण वो किसी भी चीज पर ध्यान लगाने से पहले ही असफल हो जाते हैं। ऐसे में इस तरह के लोगों को ये कहा जा सकता है कि ये पूरी तरह मानसिक रूप से स्वस्त नहीं है। जबकि जो लोग मानसिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ होते हैं उन लोगों में ध्यान केंद्रित करने की अच्छी क्षमता होती है। ऐसे लोग आसानी से कहीं भी अपना ध्यान केंद्रित कर लेते हैं, उन्हें किसी भी तरह के शोर में अपने ध्यान को किसी एक चीज पर लगाने में परेशानी नहीं होती है। इसकी मदद से वो दूसरे लोगों से ज्यादा एक्टिव माने जाते हैं। 

मानसिक रूप से हमेशा एक्टिव

कई लोगों को आपने भी देखा होगा जिनकी मानसिक स्थिति पूरी तरह से ठीक नहीं होती है ऐसे लोग मानसिक रूप से काफी कमजोर और ढीले होते हैं। ये सच है कि जो लोग मानसिक रूप से पूरी तरह एक्टिव रहते हैं उन लोगों को किसी भी काम को करने में न तो देर लगती है न ही वो उस दौरान सोचने में ज्यादा समय बर्बाद करते हैं। ऐसा कई लोगों के साथ आपने देखा होगा कि जब वो किसी चीज को सुनते हैं तो उसके अगले ही पल वो उसका जवाब दे देते हैं। जबकि कई लोग ऐसे होते हैं जो किसी भी चीज को सुनने के बाद काफी देर तक सोचने और समझने के बाद ही जवाब देते हैं। उदहारण के रूप में जो बच्चे स्कूल में किसी भी सवाल का जवाब सबसे पहले और तुरंत देते हैं उन बच्चों को मानसिक रूप से तेज माना जाता है। 

अच्छी याददाश्त 

याददाश्त आपके मानसिक स्थिति के बारे में कई चीजें बताती हैं, जिन लोगों को अवसाद या तनाव की स्थिति का शिकार होना पड़ता है। उन लोगों में याददाश्त की कमी होती है। जिसके कारण वो कोई भी चीज रखकर भूल जाते हैं, किसी से क्या जरूरी बात की थी इसका ध्यान नहीं रहता है और कब कोई काम करना है इसकी भी याददाश्त ज्यादा नहीं रहती। जबकि जिन लोगों की याददाश्त काफी अच्छी होती है उन लोगों को मानसिक रूप से स्वस्थ माना जाता है और ये माना जाता है कि ऐसे लोगों में किसी भी प्रकार का अवसाद या चिंता की प्रक्रिया नहीं है जिसके कारण उनके मानसिक स्वास्थ्य को हानि हो। डॉक्टर कोमलप्रीत बताती हैं कि अवसाद के सबसे प्रमुख लक्षणों में से एक याददाश्त की कमी भी है जिसके जरिए डॉक्टर ये समझने की कोशिश करते हैं कि मरीज अवसाद की किस स्थिति में है। 

नई चीजों को आसानी से समझने की क्षमता

किसी भी नई चीज को समझने के लिए अक्सर लोगों को परेशानी होते देखा होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं जिन लोगों की मानसिक स्थिति बेहतर होती है उन लोगों को कभी भी नई चीजों को समझने में परेशानी नहीं होती है। जी हां, आमतौर पर लोगों को ये लगता है कि नई चीजों को समझा हर किसी के लिए परेशान करने जैसा है जबकि ऐसा नहीं है, कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें नई चीजें पहली बार ही आसानी से समझ आ जाती है और कोई परेशानी नहीं होती है। ऐसे में एक्सपर्ट कहते हैं कि इन लोगों की मानसिक स्थिति दूसरे लोगों से काफी बेहतर है। 

brainhealth

इसे भी पढ़ें: इन 10 बीमारियों के कारण आपका मानसिक स्वास्थ्य भी होता है प्रभावित, जानें क्या है बचाव

शांत दिमाग

किसी भी चीज को देखकर उत्तेजित हो जाना या तुरंत किसी भी चीज पर गुस्से आ जाना एक तरह से बुरी आदत होती है। आपने कई लोगों या खुद  में ये आदत देखी होगी कि तुरंत किसी भी चीज को देखकर या सुनकर गुस्सा आ जाता है या उसके प्रति उत्तेजित हो जाते हैं। जबकि जिन लोगों की मानसिक स्थिति स्वस्थ और बेहतर होती है उन लोगों का शांत दिमाग होता है, वो कुछ भी सुनकर तुरंत गुस्सा या उत्तेजित नहीं होते। बल्कि ऐसे लोगों का दिमाग शांत माना जाता है। एक्सपर्ट के मुताबिक, जिन लोगों का शांत दिमाग होता है उन लोगों की मानसिक स्थिति काफी अच्छी होती है।

मानसिक स्थिति कैसे बनाएं बेहतर (How To Improve Mental Health)

हेल्दी डाइट

डॉक्टर कोमलप्रीत कौर बताती हैं कि मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर और स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी है कि आप एक हेल्दी डाइट को फॉलो करें। एक्सपर्ट के मुताबिक, बच्चे और बड़े दोनों को ही हमेशा एक ऐसी डाइट का पालन करना चाहिए जिसमें बहुत सारे फल, सब्जियां और अन्य पोषक तत्व वाले आहार शामिल हों। ऐसी डाइट आपको मानसिक रूप से लंबे समय तक स्वस्थ रख सकती हैं, जिसकी मदद से आप अवसाद जैसी गंभीर स्थिति को भी दूर रख सकते हैं। 

एक्सरसाइज और योग

एक्सरसाइज न सिर्फ आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखती है बल्कि ये आपके मानसिक स्थिति में भी सुधार करती है। ज्यादातर लोगों की मानसिक स्थिति चिंता और तनाव के कारण नष्ट होती है जिसको दूर करने के लिए जरूरी है कि आप रोजाना एक्सरसाइज और योग को अपनाएं। इसकी मदद से आप खुद को रोजाना तनावमुक्त भी रख सकते हैं साथ ही इससे आप दिनभर एक्टिव महसूस करेंगे। वहीं, नियमित रूप से एक्सरसाइज और योग करने से आप कई शारीरिर लाभ का फायदा उठा सकते हैं। जसकी मदद से आप कई बीमारियों को भी मात दे सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: तनाव और चिंता के कारण बढ़ सकता है मानसिक रूकावट का खतरा, एक्सपर्ट से जानें क्या है इससे बचाव का तरीका

पर्याप्त नींद लें

पर्याप्त नींद आपको एक बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करती है जिसकी मदद से आप लंबे समय तक खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। रोजाना थकावट के बाद शरीर को आराम देने और फिर से ऊर्जावान बनाने के लिए जरूरी है कि आप पर्याप्त नींद ले। एक्सपर्ट के मुताबिक, जितना प्रभाव डाइट का आपके दिमाग पर होता है उतना ही प्रभाव नींद का आपके दिमाग पर होता है। जो लोग रोजाना पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं उन लोगों को तनाव और चिंता की स्थिति ज्यादा होती है जिसके कारण एक समय पर ये अवसाद या डिप्रेशन की स्थिति भी पैदा कर सकते हैं। इसलिए खुद के मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने और कई समस्याओं को दूर करने के लिए रोजाना पर्याप्त नींद लेना बहुत जरूरी है। 

नई चीजों में घूसें

नई चीजों को अपनाने से कई लोग कतराते हैं, ऐसा ज्यादातर उन लोगों के साथ देखा जाता है जो लो अक्सर मानसिक रूप से कमजोर होते हैं। जबकि एक्सपर्ट बताते हैं कि लोगों को हमेशा नई चीजों को अपनाना चाहिए जिससे कि वो हमेशा मानसिक रूप से स्वस्थ रहें और एक्टिव रह सकें। किसी भी तरह की नई चीजों को अपनाने या उसे ट्राई करना आपको अपनी आदत में डालना चाहिए क्योंकि ये एक अच्छी आदत है और आप इसकी मदद से कुछ भी चीजें आसानी से सीख और समझ सकते हैं। हालांकि आपको शुरुआती दौर में ये सब थोड़ा अलग सा लगे लेकिन ये आपके लिए एक फायदेमंद तरीका है।  

Read more on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer