हार्ट अटैक का मुख्य कारण है धमनियों में जमा प्लाक, इन 5 आहारों से करें सफाई

हार्ट अटैक के मामले आजकल बढ़ते जा रहे हैं। 35-40 साल की उम्र में भी लोगों की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो रही है। हार्ट अटैक और दिल की अन्य बीमारियों का सबसे बड़ा कारण धमनियों में जमा प्लाक है। ये प्लाक ज्यादा फैट वाले भोजन और गलत जीवनशैली के कारण

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Feb 07, 2019Updated at: Feb 07, 2019
हार्ट अटैक का मुख्य कारण है धमनियों में जमा प्लाक, इन 5 आहारों से करें सफाई

हार्ट अटैक के मामले आजकल बढ़ते जा रहे हैं। 35-40 साल की उम्र में भी लोगों की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो रही है। हार्ट अटैक और दिल की अन्य बीमारियों का सबसे बड़ा कारण धमनियों में जमा प्लाक है। ये प्लाक ज्यादा फैट वाले भोजन और गलत जीवनशैली के कारण जमा होता है। धमनियों यानी आर्टरीज में जमा होने वाले इस प्लाक के कारण धमनियां बंद (ब्लॉक) हो जाती हैं और आपके हृदय तक खून नहीं पहुंच पाता है, जिससे हार्ट अटैक आ जाता है। अगर आप अपनी धमनियों को साफ रखना चाहते हैं और हार्ट अटैक से बचना चाहते हैं, तो अपने आहार में इन 5 चीजों को जरूर शामिल करें।

ओट्स होता है हेल्दी

ओट्स में सॉल्यूबल फाइबर (घुलनशील फाइबर) होता है, जो बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। यही बैड कोलेस्ट्रॉल धमनियों में प्लाक बनाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसलिए आप सुबह के नाश्ते और शाम के स्नैक्स में ओट्स ले सकते हैं। इसमें फैट भी बहुत कम होता है इसलिए ये आपका वजन भी नहीं बढ़ाता है।

इसे भी पढ़ें:- सर्दियों में हृदय गति का बढ़ना हो सकता है बुरा संकेत, आज ही बदलें ये 5 आदतें

लहसुन साफ करेगा धमनियां

लहसुन ब्लड प्रेशर और बैड कोलेस्ट्रॉल दोनों के स्तर को कम करता है। आयुर्वेद के अनुसार रोजाना सुबह खाली पेट एक या दो कच्चे लहसुन की कली को खाने से 100 से भी ज्यादा रोगों से छुटकारा मिलता है। नेशनल कार्डियोलॉजिकल रिसर्च सेंटर में हुए एक शोध के अनुसार, अगर हर दिन लहसुन का सेवन किया जाए तो दिल की धमनियों के संकरे होने का खतरा कम हो जाता है। इससे हार्ट अटैक की संभावना भी काफी कम हो जाती है।

कीवी होता है फायदेमंद

कीवी भारत में कम खाया जाता है मगर ये बहुत फायदेमंद होता है। कीवी में ढेर सारे एंटीऑक्‍सीडेंट्स होते हैं, जो बैड कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम करने में मदद करते हैं, जिससे धमनियों की दीवारों में जमा प्‍लाक धीरे-धीरे साफ हो जाता है। इसके अलावा कीवी को बेहतर डिटॉक्स फूड माना जाता है यानी इसे खाने से शरीर, लिवर और किडनी में मौजूद सभी गंदगी शरीर से बाहर निकल जाती हैं।

इसे भी पढ़ें:- कहीं आप दिल की बीमारी के लक्षणों को एसिडिटी या गैस तो नहीं समझ रहे? जानें अंतर

बादाम, काजू, अखरोट और पिस्ता

काजू, बादाम, अखरोट, पिस्ता और मूंगफली आदि नट्स भी आपकी धमनियों में जमे प्लाक को साफ करने में मदद करते हैं। इन सभी का सेवन शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। इसके अलावा इन नट्स में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स आपकी इम्यूनिटी बढ़ाते हैं, जिससे शरीर सभी सामान्य और गंभीर बीमारियों से बचा रहता है।

अनार खाएं, स्वस्थ रहें

अनार में गुणकारी फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप धमनियों की परत की किसी प्रकार की क्षति से रक्षा करते हैं। 2005 में नेशनल अकादमी ऑफ साइंस में छपे एक अध्ययन के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट युक्त अनार का रस शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाता है, जो धमनियों को खुला रखने तथा रक्त को ठीक प्रकार बहने में मदद करता है। आप 1 ताजे अनार को नियमित रूप से खायें। इसके अलावा आप नियमित रूप से दिन में एक बार अनार का जूस भी पी सकते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Heart in Hindi

Disclaimer