घर पर रहकर ज्यादा खाने लगे हैं आप तो कारण हो सकता है 'स्ट्रेस ईटिंग', इन 5 तरीकों से छुड़ाएं आदत

अगर क्वारंटाइन पीरियड में आप भी बार-बार भूख लगने और जल्दी-जल्दी खाने की आदत से परेशान हैं, तो ये 5 टिप्स अपनाएं। आपको ओवरईटिंग से मिलेगा छुटकारा।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Apr 02, 2020 13:27 IST
घर पर रहकर ज्यादा खाने लगे हैं आप तो कारण हो सकता है 'स्ट्रेस ईटिंग', इन 5 तरीकों से छुड़ाएं आदत

देशभर में लॉकडाउन है और लोग अपने-अपने घरों में बैठे-बैठे बोर हो रहे हैं। अगर आपने ध्यान दिया हो तो इन दिनों इंटरनेट पर ज्यादा खाने वाले मीम्स बहुत वायरल हो रहे हैं। अगर आप भी घर में बैठे-बैठे पहले से ज्यादा खाने लगे हैं, तो परेशान न हों क्योंकि आप अकेले नहीं हैं। ऐसी स्थिति में ज्यादा खाने का कारण 'स्ट्रेस ईटिंग' हो सकता है। स्ट्रेस ईटिंग एक ऐसी समस्या है, जिसमें तनाव या बोर होने पर आपको बार-बार भूख लगती है और आप पर्याप्त खा चुकने के बाद भी बार-बार खाते रहते हैं। ये बिल्कुल नॉर्मल है। लेकिन लंबे समय तक अगर आप ओवर-ईटिंग करते हैं, तो इससे मोटापे का खतरा रहता है और साथ ही गई गंभीर और जानलेवा बीमारियां जैसे- डायबिटीज, हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर आदि का भी खतरा बढ़ जाता है। आइए आपको बताते हैं स्ट्रेस ईटिंग से बचने के 5 बेहद आसान तरीके।

फूड डायरी बनाएं

अगर आपको लगता है कि आप इमोशनल होकर या बोर होकर ज्यादा खाने लगे हैं, तो इसे रोकने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप एक फूड डायरी बनाएं। आप जब भी कुछ खाएं, तो इस डायरी में तुरंत नोट करें। दरअसल आप ज्यादा इसीलिए खाते हैं क्योंकि खाते समय आपको इस बात का एहसास नहीं होता है कि आपने ज्यादा खा लिया है। मगर यदि आप डायरी में लिखेंगे, तो दिन के अंत तक आपको इस बात का पता आसानी से चल जाएगा कि कब-कब आपने बिना वजह खाया है। इससे अगले दिन आप खुद ही कम खाना शुरू कर देंगे।

इसे भी पढ़ें:- WHO की टिप्स: क्वारंटाइन के दौरान कैसा होना चाहिए आपका खानपान? जानें क्या खाएं, क्या न खाएं और क्या कम खाएं

पोर्शन कंट्रोल का तरीका अपनाएं

आपको हैरानी नहीं होती कि तमाम सेलिब्रिटीज अपनी मनपसंद चीजें खाते हैं फिर भी मोटे नहीं होते, बल्कि हमेशा फिट रहते हैं? इसका कारण यह है कि इनमें से ज्यादातर सेलेब्स हेल्दी और अच्छी चीजें खाते हैं। अगर उनका कुछ ऐसा खाने का भी मन करता है, जिसमें कैलोरीज ज्यादा हैं या कार्ब्स ज्यादा हैं, तो वो पोर्शन कंट्रोल का तरीका अपनाते हैं। पोर्शन कंट्रोल का मतलब है कि आप अगर आपको किसी चीज की क्रेविंग हो रही है, तो आप खुद को रोकें नहीं, बल्कि खाएं। लेकिन बहुत थोड़ी सी मात्रा खाएं।
जैसे- पिज्जा का एक स्लाइस, कोल्ड ड्रिंक की दो घूंट, चिप्स के 4-5 टुकड़े आदि। हां कुछ हेल्दी चीजें आप ज्यादा खा सकते हैं जैसे- रोस्टेड पॉपकॉर्न, भुने चने, रोस्टेड मखाना, मुरमुरे, नट्स आदि।

अपने से बनाकर खाएं

अगर आप भी ऐसे व्यक्ति हैं, जो मूवीज या टीवी देखते समय पैकेटबंद स्नैक्स खाते रहते हैं, तो सावधान हो जाएं। पैकेटबंद आहार आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। दूसरी बात यह है कि जब आपको कोई चीज बनी-बनाई मिलती है, तो आप उसे खाते समय ज्यादा सोचते नहीं हैं। लेकिन इसकी जगह अगर आप खुद से स्नैक्स या खाना बनाकर खाना शुरू करेंगे, तो आपको खाने की वैल्यू का अंदाजा होगा। खाना बनाने से आपकी बोरियत दूर होगी, टाइम पास होगा और ये हेल्दी भी होगा।

इसे भी पढ़ें:- सुबह और शाम के नाश्ते में खाएंगे ये 8 स्नैक्स, तो हमेशा रहेंगे सेहतमंद

पानी पीते रहें

कई बार प्यास को भी हम भूख समझ लेते हैं और खाना शुरू कर देते हैं। गर्मियों की शुरुआत हो गई है और ज्यादातर इलाकों में तापमान दोपहर के समय तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में आपको पानी ज्यादा पीना चाहिए। पानी पीते रहने से एक अच्छी बात तो यह है कि आपका शरीर हाइड्रेट रहता है और दूसरी अच्छी बात यह है कि आपका पेट फुल रहता है, तो आपको भूख का संकेत नहीं मिलता है। तीसरी और सबसे खास बात कि पानी शरीर को डिटॉक्स करता है यानी शरीर में जमा गंदगी को बाहर निकालता है। इसलिए आपको रोजाना कम से कम 3 लीटर पानी पीना चाहिए।

खुद को बिजी रखें

अपने आप को बिजी रखना भी स्ट्रेस ईटिंग से बचने का एक आसान तरीका है। दरअसल ज्यादातर समय आपको भूख इसलिए लगती है क्योंकि आप खाली बैठे होते हैं। जबकि आपको याद होगा कि जब आप किसी काम में बहुत तल्लीनता से लगे होते हैं, तो आपको कुछ घंटों तक भूख का एहसास भी नहीं होता है।  भूख का कुछ हद तक आपकी बोरियत से भी कनेक्शन है। इसलिए खाली बैठने के बजाय अपने आपको बिजी रखें और क्वरंटाइन के समय का सदुपयोग कुछ अच्छी किताबें पढ़ने, अच्छी मूवीज देखने या पुराने दोस्तों से बात करने और फ्यूचर प्लानिंग में करें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer