बाथरूम की ये 5 आदतें बदलकर आप बढ़ा सकते हैं अपनी उम्र, 5वीं आदत बदलना सबसे जरूरी

खाने और सोने की तरह बाथरूम की आदतें भी आपको बीमार बना सकती हैं। लेख में जानें कौन सी आदतें बदलना है जरूरी। 

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Jan 08, 2020 17:24 IST
बाथरूम की ये 5 आदतें बदलकर आप बढ़ा सकते हैं अपनी उम्र, 5वीं आदत बदलना सबसे जरूरी

हममें से ज्यादातर लोग दिन में एक बार से ज्यादा बाथरूम यूज करते हैं। हम अक्सर अपने डेली रूटीन निपटाते हैं और बिना सोचे-समझे चीजें करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी ये आदतें कितनी स्वस्थ हैं? अगर आप सोच रहे हैं कि ये बाथरूम की आदतें क्या होती हैं तो आपको बता दें कि खाने और सोने की तरह बाथरूम की आदतें आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करती हैं। इनमें से जरा सा बदलाव कर आप अपनी जिंदगी में कुछ वर्ष और भी जोड़ सकते हैं। इस लेख में हम आपको ऐसी 5 आदतों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें बदलकर आप अपने जीवन में कुष वर्ष जोड़ सकते हैं।

bathroom

नहाने के बाद फिसलने वाली चीजों से दूर रहें और फर्श को साफ रखें

आपको अपने बाथरूम को किसी भी तरह से सजाना चाहिए। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि आपको अपने बाथरूम में फिसलने वाली चीजों को हटाना चाहिए और आप इसके बजाए नॉन-स्लिप आइटम जैसे कि बाथ मैट खरीदने की आदत डालें। विशेषज्ञ कहते हैं, "बाथरूम में नॉन-स्लिप सतह का उपयोग कर आप जीवन में कई वर्षों को जोड़ सकते हैं।" दरअसल फिसलन भरी सतह पर आप कभी भी गिर सकते हैं और आपके हाथ-पैर टूट सकते हैं। इतनी ही नहीं कुछ मामलों में  लोगों के बाथरूम में फिसलकर मरने की भी खबरें सामने आती हैं। 

Buy Online: Amazon Brand - Solimo Anti-Slip Microfibre Bathmat, 40cm x 60cm - Pack of 2 (Beige) & MRP.449.00/- only. 

शावर के मुंह को साफ करें

वर्ष 2009 में प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा प्रकाशित के एक अध्ययन में पाया गया कि वे लोग, जो शावर से नहाते हैं उनमें बीमारियों के संपर्क में आने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। NYC सर्जिकल एसोसिएट्स के एक डॉक्टर का कहना है कि, "अगर आपको शावर के पानी को पीने या मुंह में भरने की आदत है तो आपको ये आदत बदल देनी चाहिए। दरअसल जिस पानी को आप घर साफ करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं, उसमें बैक्टीरिया शामिल हो सकते हैं, जो आपके शावरहेड में जम जाते हैं। इसलिए, अपने शॉवर हेड को जितनी बार हो सके साफ जरूर करें।

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में फिट रहने के लिए अपनाएं ये 7 अच्छी आदतें, पूरा सीजन रहेंगे फिट

फोन को खुद से दूर रखें

विशेषज्ञ कहते हैं कि लोगों को अपने फोन को अपने साथ बाथरूम में ले जाने की एक बुरी आदत बन गई है। अब वक्त आ गया है कि इस आदत को बदला जाए। हालांकि यह समय बीतने का एक शानदार तरीका जरूर है लेकिन ऐसा करने से आप बाथरूम के बैक्टीरिया अपने साथ बाहर ले आते हैं। वास्तव में, एनल्स ऑफ क्लीनिकल माइक्रोबायोलॉजी और एंटीमाइक्रोबायल्स में प्रकाशित 2017 के एक अध्ययन में पाया गया कि अधिकांश फोन में बैक्टीरिया होते हैं, जिनसे स्टैफ संक्रमण हो सकता है। एरिज़ोना विश्वविद्यालय के एक और अध्ययन में भी पाया गया कि आपके फोन में टॉयलेट शीट के मुकाबले 10 गुना अधिक बैक्टीरिया होते हैं। इसलिए अपने स्वास्थ्य की खातिर अपने फोन को जहां तक संभव हो बाथरूम से दूर रखने की पूरी कोशिश करें।

इसे भी पढ़ेंः उम्र बढ़ने पर नींद कम आती है या ज्यादा, पढ़ें बुढ़ापे में फिट रहने के लिए दिन में कितनी नींद की है जरूरत

bathroom

टॉयलेट फ्लश करने के बाद ढक्कन नीचे करें 

कई शौचालयों में ढक्कन होना एक अच्छा कारण है। जब आप फ्लश करते हैं तो यह आपके बाथरूम से बैक्टीरिया को बाहर रखने में मदद करता है। दरअसल वर्ष 2012 में हुए एक अध्ययन में ढक्कन वाले शौचालय को फ्लश करने और पेट के बग के प्रसार के बीच संबंध पाया गया है। फ्लश करने से अक्सर हर जगह पानी छिड़कता है, जिसे आप अपने शौचालय में नहीं फैलने देना चाहते। पाइप को बंद कर आप ढक्कन बंद कर दें ताकि दूसरा व्यक्ति बीमार न हो।

समय-समय पर ब्रश बदलें

टेक्सास यूनिवर्सिटी द्वारा 2016 में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि हमारे मुंह में पाए जाने वाले कुछ हानिकारक बैक्टीरिया दूसरों के साथ संपर्क में आते हैं और बढ़ते जाते हैं। बढ़ने के बाद इनमें परिवर्तन होता है और आगे चलकर ये संक्रमण और बीमारी का रूप ले लेते हैं। इसलिए ब्रश करना बेहद जरूरी होता है। लेकिन अगर आप अपने जीवन में कुछ वर्ष और जोड़ना चाहते हैं, तो अपने टूथब्रश से बहुत ज्यादा न जुड़ें। संक्रमण होने के जोखिम को कम करने के लिए हर दो से तीन महीने में और तुरंत बीमार होने के बाद अपने टूथब्रश को जरूर बदलें।

Read more articles on Mind-Body In Hindi

Disclaimer