त्वचा के गड्ढों और छिद्रों (Pores) को तेजी से भरने में मदद करेंगे ये 4 तरह के तेल, जानें प्रयोग का तरीका

त्वचा के गड्ढे और छिद्रों को साफ करने और भरने के लिए आप इन 4 तेलों का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Feb 09, 2020Updated at: Feb 09, 2020
त्वचा के गड्ढों और छिद्रों (Pores) को तेजी से भरने में मदद करेंगे ये 4 तरह के तेल, जानें प्रयोग का तरीका

क्या आप जानते हैं कि हमारी त्वचा पर बेहद महीन छेद होते हैं? इन्हें Skin Pores या रोमछिद्र कहते हैं। इन छिद्रों के जरिए त्वचा को ऑक्सीजन मिलती है। इसके अलावा इन्हीं छिद्रों के जरिए त्वचा के नीचे बनने वाला सीबम ऑयल निकलता है। ये तेल त्वचा पर चमक और नमी बनाए रखने के लिए जरूरी है। ये छिद्र बेहद महीन होते हैं और नंगी आंखों से नहीं दिखाई देते हैं। छोटे होने के बावजूद महीन धूल और प्रदूषण के कण या डेड स्किन सेल्स इन्हें ब्लॉक कर देती हैं। इन छिद्रों के ब्लॉक हो जाने पर कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं, जैसे- ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स, पिंपल्स (मुंहासे) आदि।

इसके अलावा त्वचा की ठीक से सफाई न करने, सोने से पहले मेकअप न साफ करने या गलत मेकअप प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से भी त्वचा के छिद्र ब्लॉक हो जाते हैं। त्वचा को चिकना, गोरा और खूबसूरत बनाने के लिए इन रोमछिद्रों को साफ करना बहुत जरूरी है। इन्हें साफ करने के लिए और ब्लॉकेज को खोलने के लिए आप कुछ खास एसेंशियल ऑयल्स का इस्तेमाल कर सकती हैं।

skin care

रोज़मैरी एसेंशियल ऑयल (Rosemary essential oil)

रोज़मैरी एसेंशियल ऑयल के इस्तेमाल से त्वचा को अच्छी तरह साफ किया जा सकता है। इस तेल में ये खास गुण होता है कि ये त्वचा की गहराई में जाकर त्वचा की अच्छी तरह सफाई करता है। इसके अलावा मुंहासों, ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को रोकने और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए भी रोज़मैरी ऑयल फायदेमंद माना जाता है। ऑयली त्वचा वाले लोग भी इस तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि इसे त्वचा पर लगाने से सीबम कम मात्रा में बनता है, जिससे तैलीय त्वचा से छुटकारा मिलता है।

इसे भी पढ़ें: ठंड में त्वचा में होने वाले रुखेपन से हैं परेशान? जानें सर्दी में त्वचा को कैसे बनाएं कोमल

लोबान का तेल (Frankincense essential oil)

लोबान का तेल भी तमाम त्वचा समस्याओं में बहुत फायदेमंद माना जाता है। लोबान के तेल में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ये फ्रैंकिंसेंस एसेंशियल ऑयल यानी लोबान का तेल त्वचा के लिए प्राकृतिक टोनर की तरह काम करता है। इस तेल से चेहरे की त्वचा को साफ करने से आपकी त्वचा के रोमछिद्र साफ हो जाते हैं और त्वचा की टाइटनेस बढ़ती है। इसलिए ये तेल आपको कील-मुंहासों और ब्लैकहेड्स से तो बचाता ही है, साथ ही झुर्रियों और झाइयों से भी बचाता है।

skin care

टी-ट्री ऑयल (Tea tree essential oil)

टी-ट्री ऑयल त्वचा की लगभग हर समस्या में कारगर पाया गया है, इसीलिए बहुत सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। कील-मुंहासों और त्वचा रोगों से बचाने में ये तेल बहुत फायदेमंद होता है, इसका कारण यह है कि टी-ट्री ऑयल में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ये तेल त्वचा पर मौजूद बैक्टीरिया को मारता है और बढ़े हुए रोमछिद्रों को सिकोड़कर उनके वास्तविक आकार में लाता है, जिससे त्वचा साफ हो जाती है।

skin care

इसे भी पढ़ें: आप भी मॉइश्चराइजर का करते हैं इस्तेमाल? तो जान लें मॉइश्चराइजर का ओवर डोज हो सकता है आपके लिए हानिकारक

तुलसी का तेल (Sweet basil essential oil)

त्वचा को स्किन पोर्स को छोटा करने, साफ करने और कील-मुंहासों को दूर करने के लिए आप तुलसी के तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं। ये तेल त्वचा को रोमछिद्रों में समाकर भीतर तक सफाई करता है। तुलसी के तेल में भी एंटी-सेप्टिक गुण होते हैं। तुलसी के तेल से फेशियल स्टीम करना बहुत फायदेमंद होता है।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer