डॉ. स्वाती बाथवाल से जानें गठिया रोगियों के लिए जोड़ों का दर्द दूर करने के लिए 2 सबसे प्रभावी घरेलू नुस्खे

गठिया में होने वाले तेज दर्द और जोड़ों की सूजन को दूर करने के लिए 2 बेहद आसान घरेलू नुस्खे जानें डॉक्टर स्वाती बाथवाल सें।

स्वाती बाथवाल
Written by: स्वाती बाथवालPublished at: Jul 23, 2020Updated at: Jul 23, 2020
डॉ. स्वाती बाथवाल से जानें गठिया रोगियों के लिए जोड़ों का दर्द दूर करने के लिए 2 सबसे प्रभावी घरेलू नुस्खे

गठिया बहुत दर्दनाक रोग है, जिसके कारण कई बार बैठना-उठना भी मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि गठिया रोग के कारण आपको रोजमर्रा के कामों में भी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर गठिया रोग का कारण शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ जाना होता है। ये यूरिक एसिड शरीर में कई कारणों से बढ़ता है। इसमें आपके खानपान और जीवनशैली की बड़ी भूमिका होती है। मोटापे के कारण भी शरीर में यूरिक एसिड बढ़ता है। गठिया रोग को प्राकृतिक रूप से ठीक करने का यही तरीका है कि आप अपने शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कम करें। नीचे 2 बेहद प्रभावी घरेलू नुस्खे बताए जा रहे हैं, जो गठिया रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगे।

gout remedies

धनिया का पानी

ये एक डायटीशियन सीक्रेट है, इसलिए अगर आप गठिया रोग से पीड़ित हैं, तो आपको इसका इस्तेमाल आज से ही शुरू कर देना चाहिए। धनिया के बीजों का पानी या धनिया की पत्तियों का पानी दिन में 1-2 बार पीने से गठिया रोग में बहुत आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए-

1 चम्मच धनिया के बीजों को 250 ग्राम पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दें और सुबह इसे किसी भी समय पी लें, ये आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।
इसी तरह धनिया के बीजों की जगह आप धनिया की पत्तियों का भी प्रयोग कर सकते हैं। धनिया की एक चौथाई कप पत्तियों को अच्छी तरह धोकर रातभर के लिए पानी में भिगोकर रख दें और अगले दिन किसी भी समय इसे छानकर पी लें।

बंदगोभी का पत्ता

अगर आपको गठिया का अटैक होता है, यानी अचानक से तेज दर्द शुरू हो जाता है, तो आप सूजे हुए जोड़ पर बंद गोभी का पत्ता बांध लें। मेरा यकीन करें ये जरूर काम करेगा। इसके लिए बस बंद गोभी के 5-6 पत्तों को फ्रिज में धोकर रख लें। जब आपको दर्द शुरू हो, तो इन पत्तों को जोड़ वाले हिस्से पर ठंडा ही बांध लें। बांधने के लिए आप मुस्लिन कपड़े का प्रयोग कर सकते हैं। जब ये पत्ता खराब हो जाए, तो उसे फेंक दें और दूसरा पत्ता बांधें। दरअसल बंदगोभी के पत्तों में डाययूरेटिक गुण होते हैं, जिसके कारण ये शरीर में मौजूद अतिरिक्त तरल पदार्थ को सोखता है और लाल सूजे हुए जोड़ों को आराम पहुंचाता है।

gout pain

गठिया रोगियों के लिए खानपान में कौन सी सावधानियां हैं जरूरी

गठिया रोगियों के मन में अक्सर एक सवाल रहता है कि उन्हें क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। गठिया रोगियों को क्या खाना चाहिए, इस बारे में आप नीचे हुए लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: डॉ. स्वाती बाथवाल से जानें गठिया और अर्थराइटिस के मरीजों में यूरिक एसिड घटाने वाले 5 फूड्स

गठिया रोगियों को क्या नहीं खाना चाहिए, ये हम आपको आगे बता रहे हैं-

प्यूरिन वाले आहार से परहेज करें

रेड मीट्स, मटन, लैंब, भैंसा, मीट, पोर्क, टर्की, चिकन, सीफूड आदि जैसे मांसाहारी आहारों को गठिया रोगियों को नहीं खाना चाहिए। आप फ्रेश पानी में पाई जाने वाली मछलियां जैसे- रोहू, कैटला, हिल्सा, रानी आदि को खा सकते हैं। दरअसल इन फूड्स में प्यूरिन होता है, जो गठिया रोगियों की परेशानी को बढ़ा देता है। ध्यान दें प्यूरिन प्रोटीन से अलग है।

मीठी चीजों से करें परहेज

शुगर के प्रकार जैसे- फ्रक्टोज, सार्बिटोल और जाइलीटोल आदि का सेवन करने से भी यूरिक एसिड का प्रोडक्शन बढ़ता है। जब आप ज्यादा मात्रा में फ्रक्टोज लेते हैं, तो इससे यूरिक एसिड बढ़ता है। इसलिए फलों का जूस (पैकेटबंद या ताजा दोनों) आपको नहीं पीना चाहिए। दिन में 3 से ज्यादा ताजे फल नहीं खाने चाहिए, ताकि आपको गठिया का अटैक न हो।

इसे भी पढ़ें: गठिया और जोड़ों से हैं परेशान, इस नैचुरल ड्रिंक से निकालें शरीर का यूरिक एसिड

दालों का करें सीमित सेवन

दाल जैसे- मसूर, काबुली चना, काला चना, राजमा आदि का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। सप्ताह में 1 बार 1 कटोरी दाल खाने या काबुली चना या राजमा खाने से आपका यूरिक एसिड नहीं बढ़ेगा। लेकिन इनमें से किसी भी चीज को बहुत ज्यादा न खाएं।

गठिया रोग को कंट्रोल में रखने के लिए और समस्याओं से बचने के लिए इन बातों के अलावा वजन घटाना और रोजाना पर्याप्त पानी पीना बहुत जरूरी है।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer