डायबिटीज रोगी इमरजेंसी स्थिति में इन 5 तरीकों से तुरंत कंट्रोल करें अपना ब्लड शुगर

अगर आप डायबिटीज रोगी हैं और आपका ब्लड शुगर अचानक बढ़ जाए, तो उसे तुरंत कंट्रोल करने के लिए आपको पता होने चाहिए ये 5 तरीके।

 

Monika Agarwal
डायबिटीज़Written by: Monika AgarwalPublished at: Aug 16, 2020Updated at: Dec 16, 2020
डायबिटीज रोगी इमरजेंसी स्थिति में इन 5 तरीकों से तुरंत कंट्रोल करें अपना ब्लड शुगर

यदि आपको डाइबिटीज है, तो आपको अचानक ब्लड शुगर बढ़ने से जो समस्याएं होती हैं उनके बारे में पता होना बहुत आवश्यक है। जब हमारे शरीर में इंसुलिन बनाने वाला अंग पैनक्रियाज ठीक तरह से काम नहीं करता, तो हमारा शुगर लेवल बढ़ने लगता है। यह एक लंबे समय तक चलने वाली बीमारी है। डॉ. पी. वेंकटाकृष्णन, इंटरनल मेडिसिन, पारस हॉस्पिटल गुड़गांव बताते हैं , "इस बीमारी के दौरान जब आप की शुगर अचानक से ज्यादा बढ़ जाती है तो इसमें जान का खतरा भी हो सकता है। इसलिए शुगर को जल्द से जल्द कम करना बेहद जरूरी है।  इस वजह से आपको बहुत से लक्षण जैसे जी घबराना, सांस फूलना, महसूस करना किसी बात को एकदम से रियेक्ट ना करना आदि महसूस होने लगते हैं। इस स्थिति में आप को तुरन्त एक डॉक्टर के पास जाना चाहिए। आप अपनी ब्लड शुगर को कम करने के लिए निम्न टिप्स भी अपना सकते हैं (What to do when blood sugar is high)।"

daibetes

इमरजेंसी की सिचुएशन में इंसुलिन का डोज (Take a Insuline Dose In an Emergency)

शुगर लेवल कम करने का सबसे तेज उपाय है इंसुलिन का डोज लेना। परन्तु इससे पहले आप को अपने डॉक्टर से भी सलाह ले लेनी चाहिए। ताकि आपको मालूम हो सके कि इमरजेंसी के समय आपको, ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए कितनी मात्रा में इंसुलिन लेना है।

इमरजेंसी में हल्के गर्म पानी से नहाएं (Warm Water Shower In an Emergency)

अगर आपकी शुगर बढ़ गई है और आपके लिए गर्म पानी से शॉवर लेना सुविधाजनक है तो आप 10 मिनट के लिए हल्के गर्म पानी से नहाएं। दरअसल गरम पानी की मदद से आपके शरीर में इंसुलिन का प्रवाह तेज होगा। जिससे आप का शुगर लेवल एकदम से कम हो जाएगा।10 मिनट बाद शुगर जांचें। अगर अभी भी शुगर कम नहीं हुई है तो डॉक्टर से सलाह करें। चाहें तो आप बाद में एक गिलास पानी भी पी सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः इन 3 कारणों से सुबह बढ़ जाता है आपका शुगर लेवल, जानिए ब्‍लड शुगर कंट्रोल करने के उपाय

शुगर बढ़ने पर काफी मात्रा में पानी पिएं (To Reduce Sugar Drink Lots Of Water)

जब शरीर में शुगर बढ़ जाती है तो बार बार पेशाब का प्रेशर बनता है। दरअसल शरीर स्वयं ही अधिक ग्लूकोज की मात्रा को कम करना शुरू कर देता है। इसलिए शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित रखने और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए अधिक पानी पीने की जरूरत है।

शुगर बढ़ने पर वाॅक या हल्की कसरत करें (Light Walk Will Reduce Sugar Level Instantly)

शुगर बढ़ जाए तो थोड़ी सी देर टहलें या हल्की फुल्की कसरत करें। इससे भी आप की ब्लड शुगर कम हो सकती है। परन्तु आप को हर प्रकार की एक्सरसाइज करने से पहले बहुत ज्यादा सावधानी बरतनी होगी। यदि आप की ब्लड शुगर बहुत ज्यादा बढ़ गई है तो आप को हर एक्सरसाइज से खतरा हो सकता है। अतः अपने डॉक्टर से अवश्य सलाह लें।

diabetes

बढ़ी हुई शुगर कम करने के लिए स्मूदी लें (Green Veg Smoothy Will Low Sugar Level)

बढ़े हुए शुगर लेवल में हरी सब्जियों से बनी हुई स्मूदी का सेवन फायदा पहुंचाता है, क्योंकि अधिकांश हरी सब्जियां मैग्नीशियम का स्रोत होती हैं। यदि आप दिन में एक या दो बार हरी सब्जियों से बने जूस या स्मूदी का सेवन करते हैं तो आपके शरीर का शुगर लेवल नियंत्रित रहेगा।आप किसी भी शुगर हाई लेवल एमरजैंसी से बचे रहेंगे।

इसे भी पढ़ेंः आपकी थाली ही आपको बना देती है डायबिटीज का शिकार, न्यूट्रिशनिस्ट से जानें खान-पान का सही तरीका

इमरजेंसी के दौरान मेडिकल सहायता कब लें? (When To Consult a Doctor)

यदि टाइप1 डायबिटीज है (If It Is Type 1 Diabetese)

जिन लोगों को टाइप 1 डाइबिटीज होती हैं उन्हें ब्लड शुगर बढ़ना काफी जोखिम बढ़ा हो सकता है। इस स्थिति को डाइबिटीक कीटोएसिडोसिस कहा जाता है। असल में जब इंसुलिन नहीं होता है और आप की ब्लड सेल्स में ग्लूकोज नहीं जा पाता तो आप का शरीर फैट्स को कीटोन्स में बदलने लग जाता है। इस तत्त्व से आप का ब्लड बहुत ज्यादा एसिडिक हो जाता है। इस कारण हृदय रोग, किडनी फेलियर आदि हो सकता है।

यदि जांच करने पर शुगर 240mg/dL से ज्यादा हो तब आपको कीटोन्स के लिए अपना यूरिन चैक करवा लेना चाहिए। ताकि किसी भी प्रकार के रिस्क का पता चल सके। इसके लक्षण हैं, सांस लेने में दिक्कत होना, सांसों से फ्रूटी जैसी स्मेल आना, उल्टी आना व जी घबराना, गला सूख जाना आदि।

यदि टाइप 2 डायबिटीज है  (If It Is Type 2 Diabetese)

जिन लोगों को टाइप 2 डाइबिटीज होती है और उनकी ब्लड शुगर 600 mg/dL से ज्यादा हो जाती है। ऐसे मेंउनके लक्षण कन्फ्यूजन होना,चक्कर आना, बुखार आना, धुंधला दिखना आदि महसूस होते हैं।

हालांकि इंसुलिन को कंट्रोल करना और रोजाना कसरत करना आपके शुगर लेवल को नियंत्रित रखेगा। लेकिन यदि यूरिन में कीटोन्स और हाई शुगर के लक्षण है तो फौरन डॉक्टर से सलाह लेने की आवश्यकता है।

डॉ पी वेंकटाकृष्णन इंटरनल मेडिसिन, पारस हॉस्पिटल, गुड़गांव से बातचीत पर आधारित

Read more articles on Diabetes in Hindi 

Disclaimer