ग्रीन टी के साथ क्या मिलाकर पीना चाहिए?

Green Tea Health Benefits: ग्रीन टी में मौजूद पोषक तत्व शरीर का मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने में मदद करते हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Nov 14, 2022 18:58 IST
ग्रीन टी के साथ क्या मिलाकर पीना चाहिए?

Green Tea benefits: कोरोना महामारी के बाद लोगों में हेल्दी और फिट रहने के प्रति काफी जागरुकता देखी जा रही है। इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करने, सर्दी-बुखार जैसी बीमारियों से दूर रहने और मोटापा कम (Green tea for Weight Loss) करने के लिए आज कई लोग नॉर्मल दूध, पत्ती और शक्कर वाली चाय को छोड़कर ग्रीन टी को अपना रहे हैं। ग्रीन टी के पोषक तत्व न सिर्फ शरीर से एक्सट्रा फैट पिघलाने में मदद करते हैं बल्कि इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाने में मदद करते हैं। हालांकि कई लोगों को आज भी ग्रीन टी (Green Tea Health Benefits) का स्वाद पसंद नहीं आता है।

मैं खुद की भी बात करूं तो आज से लगभग 2 साल पहले जब मैंने ग्रीन टी को पहली बार टेस्ट किया था, तब मुझको ये बहुत ज्यादा कड़वी और बेस्वाद लगी थी। मैंने पहली बार टेस्ट करने के बाद ही ठान लिया था कि लाइफ में दोबारा कभी ग्रीन टी नहीं पियूंगी। लेकिन कुछ वक्त के बाद मेरी एक दोस्त ने ग्रीन टी में शहद मिलाकर पिलाया। इसके कुछ वक्त मैंने एक कैफे में ग्रीन टी के साथ अदरक का जूस (Green tea with Ginger) मिलाकर पिया। वो दिन है और आज का दिन अब मुझे न सिर्फ ग्रीन टी टेस्टी लगती है बल्कि मैं लोगों में बताती हूं कि उन्हें ग्रीन टी में क्या मिलाकर पीना चाहिए। ताकि सेहत और स्वाद दोनों का संतुलन बना रहे हैं। इसलिए आज इस लेख में मैं आपको बताने जा रही हूं ग्रीन टी के साथ क्या मिलाकर (Green Tea ke sath kya milkar peena chaiye) सेवन किया जा सकता है और कैसे।

इसे भी पढ़ेंः सुबह खाली पेट पिएं हल्दी का पानी, तेजी से घटेगा वजन

Green-tea-ke-sath-kya-milkar-peena-chaiye

ग्रीन टी के साथ क्या मिलाकर पीना चाहिए? 

शहद - Honey With Green Tea

जो लोग ग्रीन टी को अपनी नॉर्मल चाय से बदलना चाहते हैं, लेकिन उन्हें ये स्वाद में कड़वी लगती है तो आप शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप 1 कप ग्रीन टी के साथ 1/2 चम्मच शहद डालकर सेवन कर सकते हैं। शहद का मीठा स्वाद ग्रीन टी के टेस्ट को बदल देता है और ये पीने में कड़वी नहीं लगती है। ग्रीन टी के साथ शहद मिलाने से ये एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फंगल और एंटी-इंफ्लामेटरी ड्रिंक बन जाता है, जो डायबिटीज, मोटापा और ह्रदय संबंधी बीमारियों को दूर करने में मदद कर सकता है।

लेमन या नींबू - Lemon With Green Tea

नींबू एक फैट बर्नर सब्जी है। ग्रीन टी के साथ नींबू मिलाकर पीने से शरीर के मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद मिलती है, जिससे फैट तेजी से बर्न होता है। ग्रीन टी के साथ नींबू मिलाकर पीने से पाचन संबंधी समस्याओं से भी निजात पाई जा सकती है। ग्रीन टी के साथ नींबू का सेवन हमेशा सुबह के नाश्ते के बाद करें। सर्दियों के मौसम में खाली पेट ग्रीन टी के साथ नींबू मिलाकर पीने से कुछ लोगों को एलर्जी की प्रॉब्लम हो सकती है।

तुलसी - Green Tea With Tulsi

ग्रीन टी के साथ तुलसी मिलाकर पीने से सर्दी-जुकाम, खांसी और कई प्रकार की मौसमी बीमारियों से राहत मिल सकती है। ग्रीन टी में तुलसी को मिलाते वक्त ध्यान दें कि इन दोनों ही चीजों को साथ में उबालें। कभी भी ग्रीन टी बैग के साथ तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल न करें। तुलसी के साथ ग्रीन टी का सेवन हमेशा लंच के बाद या शाम को करें। सुबह तुलसी के साथ ग्रीन टी का सेवन करने से बचें।

अदरक - Green Tea With Ginger

ग्रीन टी के साथ अदरक का अर्क या जूस मिलाकर सेवन करना सर्दियों में काफी फायदेमंद माना जाता है। अदरक औ ग्रीन टी के पोषक तत्व शरीर को अंदर से गर्माहट दिलाने में मदद करते हैं। साथ ही सर्दी, जुकाम, खांसी जैसी बीमारियों से भी राहत दिला सकते हैं। अगर आप 1 कप ग्रीन टी बना रहे हैं तो इसमें 1/2 टी-स्पून ही अदरक का रस डालें। अगर आप साबुत अदरक का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो एक छोटा टुकड़ा अदरक का कूटकर ग्रीन टी के साथ उबालें।

ग्रीन टी का सेवन करते वक्त सावधानियां

वेबएमडी की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीन टी या किसी भी पेय पदार्थ का सेवन एक निश्चित मात्रा में ही करना चाहिए। अगर आप अधिक मात्रा में ग्रीन टी का सेवन करने से हैं तो सिरदर्द, पेट दर्द, कब्ज और धड़कन की अनियममितता जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। हेल्थ एक्सपर्ट भी एक दिन में 2 से 3 कप से ज्यादा ग्रीन टी का सेवन करने की सलाह नहीं देते हैं।

 

 

 

 

Disclaimer