मित्रता हम सभी के लिए अविभाज्‍य है। हम सभी के पास अद्भुत दोस्त हैं और इसलिए हम अपने बच्चों को उनके हर बच्चे के अनुकूल होने की उम्मीद करके उनकी मदद करने की कोशिश करते हैं। लेकिन जैसा कि हम जानते हैं, दोस्ती इतनी सरल नहीं है। प्रेम, साहचर्य के अलावा, हम उन लोगों से भी मिलते हैं जिनके साथ हम संघर्ष, क्रोध, चोट और दुख का सामना करते हैं।

"/>

अच्‍छे और बुरे दोस्‍तों के बीच क्‍या है अंतर, बताएं अपने बच्‍चों को ये जरूरी बातें

मित्रता हम सभी के लिए अविभाज्‍य है। हम सभी के पास अद्भुत दोस्त हैं और इसलिए हम अपने बच्चों को उनके हर बच्चे के अनुकूल होने की उम्मीद करके उनकी मदद करने की कोशिश करते हैं। लेकिन जैसा कि हम जानते हैं, दोस्ती इत

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Jan 30, 2019Updated at: Jan 30, 2019
अच्‍छे और बुरे दोस्‍तों के बीच क्‍या है अंतर, बताएं अपने बच्‍चों को ये जरूरी बातें

मित्रता हम सभी के लिए अविभाज्‍य है। हम सभी के पास अद्भुत दोस्त हैं और इसलिए हम अपने बच्चों को उनके हर बच्चे के अनुकूल होने की उम्मीद करके उनकी मदद करने की कोशिश करते हैं। लेकिन जैसा कि हम जानते हैं, दोस्ती इतनी सरल नहीं है। प्रेम, साहचर्य के अलावा, हम उन लोगों से भी मिलते हैं जिनके साथ हम संघर्ष, क्रोध, चोट और दुख का सामना करते हैं।

 

इस नाजुक उम्र में, एक बच्चा मित्रता को बहुत गंभीरता से लेता है और जब माता-पिता और शिक्षक उन्हें हर किसी के साथ दोस्ताना (और दोस्त) होने की उम्मीद करते हैं, तो हर स्थिति में कार्यात्मक होने के लिए, वे अक्सर भ्रमित होते हैं। हम थोड़ा बहुत महसूस करते हैं कि ये ऐसी उम्र है जब ये छोटे बच्चे अपने अनुभवों के आधार पर जीवन भर चलने वाले व्यक्तित्व का विकास करते हैं। इसलिए उन्हें सीमाओं और अपेक्षाओं के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए और यह सिर्फ एक प्रारंभिक बिंदु हो सकता है ...

सबसे पहले, हमें अपने बच्चों को यह बताने की ज़रूरत है कि उन्हें हर किसी से दोस्ती करने की ज़रूरत नहीं है। हां, उन्हें परस्पर सम्मान की आवश्यकता है और उन लोगों के साथ संवाद करना और काम करना सीखाना चाहिए जो उनके सबसे अच्छे दोस्त नहीं हो सकते, लेकिन उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि जो रिश्‍ते अच्‍छे न हों उनसे दूर कब रहना चाहिए। यहां हम आपको कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं जो अच्‍छे और बुरे दोस्‍तों के बीच अंतर स्‍पष्‍ठ करते हैं। 

सच्‍चे और अच्‍छे दोस्‍त 

  • जो आप कहते हैं उसे सुनते हैं 
  • आपका सम्मान करते हैं 
  • वह आपके साथ वैसा व्‍यवहार करते हैं जो जैसा उन्‍हें पसंद है। 
  • गलती होने पर सॉरी कहते हैं
  • आप पर भरोसा करते हैं 
  • आपके लिए हमेशा खड़े रहते हैं 
  • आपसे संवाद बनाए रखते हैं 
  • जो आपका सहारा बने 

ऐसे दोस्‍त जो कभी-कभी के लिए होते हैं

  • जो आपकी भावनाओं को ठेंस पहुंचाते हैं
  • जो झूठ बोलते हैं वे अच्‍छे दोस्‍त नहीं 
  • ऐसे दोस्‍तों के होने पर दबाव महसूस होता है 
  • जो हमेशा आपको चिढ़ाता हो 
  • बहस में पड़ जाता है
  • आपसे असहमत रहता हो 

ऐसे दोस्‍तों से कभी न करें दोस्‍ती 

  • जो आपके सीक्रेट्स दूसरों से साझा करता है 
  • जो आपको धमकाए। 

ऐसी बातों को आप अपने बच्‍चों को बताकर उन्‍हें अच्‍छे और बुरे दोस्‍तों के बीच के फर्क को बता सकती हैं। 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Parenting In Hindi

Disclaimer