बजट 2014-15 में स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र को क्‍या मिला

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 10, 2014

medical budget 2014-15वित्त मंत्री अरूण जेटली ने साल 2014-15 के आम बजट में स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया है। इस बजट में देश में चार नये एम्‍स खोले जाने की बात कही गयी है। आंध्र प्रदेश, पश्‍चिम बंगाल और पूर्वांचल में नये एम्‍स खोले जाएंगे। इसके लिए बजट में 500 करोड़ रुपये का प्रस्‍ताव रखा गया है।

 

इस बजट में तंबाकू और उससे बने उत्‍पादों पर भी एक्‍साइज ड्यूटी बढ़ायी गयी है। सिगरेट, सिगार, तंबाकू, पान पसाला आदि अब पहले की अपेक्षा महंगे हो जाएंगे। इसे इन उत्‍पादों के सेवन को हतोत्‍साहित करने वाला अच्‍छा कदम माना जा सकता है।

इतना ही नहीं इस बजट में सबके लिए स्वास्थ्य योजना की शुरूआत की है। इस योजना के तहत फ्री मेडिकल हैल्थ और निदान सेवा प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही शीघ्र गुणवत्ता पूर्ण निदान और टीबी के मरीजों के इलाज के लिए दिल्ली एम्स और मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई में दो राष्ट्रीय वरिष्ठ व्यक्ति संस्थान स्थापित किए जाएंगे। वहीं हायर डेंटल एजुकेशन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक अनुसंधान और रैफरस संस्थान किसी एक डेंटल कॉलेज में बनाए जाएंगे।

 

12 और सरकारी कॉलेज खोलने की भी बजट में घोषणा की गई है। वहीं सभी अस्पतालों में डेंटल सुविधाएं बढ़ाने पर भी जोर दिया गया है। नई औषधि प्रयोगशाला खोलने और 31 विद्यमान राज्य प्रयोगशालाओं को मजबूत बनाकर राज्य औषध विनियमकारी और खाद्य विनियमकारी प्रणालियों को मजबूत बनाने के लिए केंद्र सभी की सहायता करेगी। इसके साथ ही 15 आदर्श ग्रामीण स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान राज्यों में स्थापित किए जाएंगे।

 

आम बजट में साफ पानी पर भी काफी जोर दिया गया। सरकार स्वच्छ भारत अभियान के जरिए महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर साल 2019 तक संपूर्ण स्वच्छता से हर परिवार को जोड़ा जाएगा।

 

Image Courtesy- Getty Images

 

Read More on Health News in Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES2 Votes 977 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK