शरीर में कहीं पतली तो कहीं मोटी त्वचा क्यों होती है? जानें दोनों त्वचा में अंतर और इनके काम

शरीर के किसी अंग में मोटी त्वचा (स्किन) होती है, तो किसी अंग में बहुत पतली। प्रकृति ने शरीर को ऐसा क्यों बनाया है, जानें इस लेख में।

Monika Agarwal
त्‍वचा की देखभालWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 18, 2021
शरीर में कहीं पतली तो कहीं मोटी त्वचा क्यों होती है? जानें दोनों त्वचा में अंतर और इनके काम

आपने भी ये महसूस किया होगा कि हम सभी के शरीर में त्वचा कहीं मोटी होती है, तो कहीं बहुत पतली होती है। जैसे- आंखों के ऊपर, हथेली के पिछले हिस्से में पतली त्वचा होती है, वहीं हथेली, जांघ, हिप्स, पेट आदि की त्वचा बहुत मोटी होती है। लेकिन क्या आपने सोचा है कि इसका क्या कारण होता है और हमारी त्वचा कैसे बनती है? त्वचा या स्किन दरअसल शरीर के ऊपर एक आवरण (कवर) की तरह है, जो हमें सर्दी, गर्मी, वातावरण में मौजूद हर प्रकार की गंदगी और प्रदूषण आदि से बचाने के लिए बहुत आवश्यक है।

स्किन की तीन लेयर होती हैं और आपके शरीर में हर जगह स्किन की लेयर अलग अलग रूप में मौजूद होती है। कहीं से आपकी स्किन बहुत मोटी होती है तो कहीं से यह स्किन की परत बिल्कुल ही पतली हो जाती है। अगर हम मैक्रोस्कोपिक रूप से देखते हैं तो दोनों तरह की त्वचा एक समान दिखती हैं। जबकि दोनों में टिशूज के स्तर पर न के बराबर अंतर है। आइए आपको बताते हैं दोनों प्रकार की स्किन के बारे में कुछ जरूरी बातें।

skin type

Image Credit- 8west.ca

शरीर में पतली स्किन का क्या काम है?

स्किन की सबसे ऊपरी परत को एपीडर्मीस कहा जाता है। शरीर के जिस भी अंग में स्किन बहुत पतली है, वहां एपिडर्मिस की भूमिका बहुत अधिक बढ़ जाती है क्योंकि पतली त्वचा होने पर चोट, कट आदि लगने पर तुरंत खून निकलने लगता है। इस ऊपरी परत की भी कुल मिला कर पांच परत होती है।

  • स्ट्रेटम बेसेल
  • स्ट्रेटम स्पिनोसम
  • स्ट्रेटम ग्रेनोलिज्म
  • स्ट्रेटम लुसिडम
  • स्ट्रेटम कोर्नियम

ऐसी स्किन अर्थात् पतली स्किन हमारे सारे शरीर पर होती है केवल हाथ, बाजू और पैरों को छोड़ कर। आपकी आंखों के आस पास के भाग पर सबसे पतली स्किन होती है। पतली स्किन में हेयर फॉलिकल अलग अलग ग्लैंड से जुड़े हुए होते हैं जो शरीर का तापमान नियंत्रित करने में मदद करते हैं और इसमें मौजूद सिबेशियस ग्लैंड सिबम को कंट्रोल करके स्किन को पोषक तत्व पहुंचाने में मदद करती है।

इसे भी पढ़ें: क्या आप नहीं जानना चाहते आपका स्किन टाइप? ये है पहचानने का आसान तरीका

शरीर में मोटी स्किन का क्या काम है?

मोटी स्किन में एपीडर्मिस की सारी पांच परत होती हैं। यह अधिकतर उन जगहों में मौजूद होती है जहां रगड़ (फ्रिक्शन) अधिक होता है जैसे आपकी उंगलियां, हथेली आदि। मोटी स्किन में बाल नहीं होते हैं और न ही इसमें सिबेशियस ग्लैंड मौजूद होती है। क्योंकि यह ग्लैंड हेयर फॉलिकल में खुलती है। तो हमारे शरीर के ऐसे अंग जो ज्यादा उपयोगी होते हैं या जिनमें रगड़ की संभावना ज्यादा है, उनकी स्किन प्राकृतिक रूप से मोटी होती है। मोटी स्किन अधिक फ्रिक्शन के कारण होने वाले नुकसान से आपकी स्किन को बचाती है और इसमें ऐसी ग्लैंड भी हैं जो पसीने को कंट्रोल करके आपके शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद करती हैं।

मोटी स्किन और पतली स्किन में क्या है अंतर (Difference Between Thick And Thin Skin)

  • मोटी स्किन की दूसरी परत (डर्मिस) पतली होती है जबकि पतली स्किन की दूसरी परत मोटी होती है।
  • मोटी स्किन में डर्मल पैपिले होता है जो बालों के विकास को नियंत्रित करता है। जबकि पतली स्किन में अधिक प्रमुख डर्मल पेपिले होता है।
  • मोटी स्किन में एपीडर्मिस की पांच परत होती हैं। जबकि पतली स्किन में केवल चार परत ही होती हैं।
  • मोटी स्किन के सेंसरी एडाप्टर थोड़े अधिक मोटे होते हैं। जबकि पतली स्किन में थोड़े कम मोटे होते है।
  • मोटी स्किन में केवल एक्स्राइन स्वेट ग्लैंड होती है जो पानी निकालती है। ताकि आपकी स्किन की सतह थोड़ी ठंडी रह सके। जबकि पतली स्किन में दोनों एक्राइन और अपोक्राइन स्वेट ग्लैंड होती है।
  • स्किन की मोटी परत में कोई हेयर फॉलिकल नहीं होता है। जबकि पतली स्किन में हेयर फॉलिकल होते हैं।
  • मोटी स्किन में सिबेसस ग्लैंड नहीं होते हैं जबकि पतली स्किन में होते हैं।
  • मोटी स्किन में एरेक्टर पीली मसल्स नहीं होती हैं जबकि पतली स्किन में होती हैं।

आसन शब्दों में हम कुल मिला कर कह सकते हैं कि आपकी स्किन को मोटा या फिर पतला एपीडर्मिस की मोटाई के हिसाब से ही कह सकते हैं। आप की स्किन में बहुत सारे सेल्स के जाल बिछे होते हैं। ताकि स्किन आप को पैथोजंस और वातावरणीय प्रदूषण आदि से बचा सके। हमारे शरीर में हथेलियों, उंगलियों और तलवे में ही मोटी स्किन पाई जाती है क्योंकि यहां कोई भी बाल नहीं होता है और बाकी के सारे शरीर में पतली स्किन पाई जाती है और बाल भी होते हैं। तो यह थे पतली और मोटी स्किन के बीच कुछ अंतर जिन्हें आप इन आसान शब्दों के माध्यम से तो पक्का ही समझ गए होंगे।

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer