भोजन विकार जागरूकता और स्क्रीनिंग सप्ताह 2020: न्यूट्रीशनिस्ट से जानें भोजन विकार के प्रकार

भोजन विकार जागरूकता और स्क्रीनिंग सप्ताह 2020 के मौके पर जानें क्या होता है भोजन विकार और कैसे पा सकते हैं इससे छुटकारा। 

 
Vishal Singh
स्वस्थ आहारWritten by: Vishal SinghPublished at: Feb 27, 2020Updated at: Feb 27, 2020
भोजन विकार जागरूकता और स्क्रीनिंग सप्ताह 2020: न्यूट्रीशनिस्ट से जानें भोजन विकार के प्रकार

भोजन विकार जागरूकता और स्क्रीनिंग सप्ताह 2020: भोजन विकार एक तरह से अनहेल्दी खाने की आदत ही होती है, जिसका सीधा असर हमारे शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। स्वस्थ आहार का सेवन न करना हमारी सेहत पर कई तरह से प्रहार करता है। अगर आप हेल्दी डाइट का सेवन नहीं करते तो इससे आपके शरीर को पूरी तरह से न्यूट्रीएंट्स नहीं मिल पाते हैं, जिसकी वजह से आपको गंभीर बीमारियों का भी सामना करना पड़ता है। अपने आपको हमेशा स्वस्थ रखने के लिए जरूरी होता है कि हम बेहतर खाना खाएं जिससे हमे भरपूर मात्रा में सही न्यूट्रीएंट्स मिल सके। 

आप सभी जानते हैं कि सही और स्वस्थ आहार का सेवन करने से आप लंबे समय तक अपने आपको स्वस्थ रख सकते हैं। वहीं, दूसरी ओर अगर आप अपनी डाइट को हेल्दी नहीं बनाते तो इससे आपके पाचन क्रिया, हड्डियां, त्वचा, दांत, मुंह और शरीर के बाकि हिस्सों में बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। भोजन के इस विकार के कारण आपको कई ऐसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

भोजन विकार के प्रकार

एनोरेक्सिया नर्वोसा (Anorexia Nervosa)

एनोरेक्सिया नर्वोसा एक तरह का भोजन विकार है जिसमें भूख कम करने के लिए कोशिशें की जाती है और वजन बढ़ने का डर रहता है। ये आजकल  बहुत ही आम हो गया है, इसका शिकार ज्यादातर महिलाएं होती है जबकि कुछ पुरुष भी इसे अपनाने की कोशिश करते हैं। कई लोग अपने आपको फिट रखने के लिए और अपना वजन कम करने के लिए खाना छोड़ने की कोशिश करते हैं। लेकिन उन्हें इस बात का ख्याल नहीं रहता कि वो इससे अपने आपको कई न्यूट्रीएंट्स को दूर रखते हैं। 

एनोरेक्सिया सबसे ज्यादा खतरा आपके स्वास्थ्य पर होता है, इससे आपके शरीर के अंगों को काफी नुकसान पहुंचता है और उन्हें सही मात्रा में पोषण नहीं मिल पाते हैं। इससे आपके बालों को, त्वचा को भी सही मात्रा में न्यूट्रीएंट्स नहीं मिल पाते हैं। 

एनोरेक्सिया का इलाज मनोचिकित्सा के द्वारा किया जा सकता है, वो भी आसानी से किसी को इस बात को समझाया जा सकता है कि खाना छोड़ने या फिर खाना कम करने से आपका कोई फायदा नहीं होने वाला। इस तरह के विकार को दूर करने के लिए आप न्यूट्रीशन काउंसलिंग का सहारा ले सकते हैं, जिससे आपको ये बात आसानी से समझ में आ सकती है कि आपके लिए एक बेहतर डाइट क्या है और आपको अपनी डाइट को कैसे बेहतर बनाना है। 

इसे भी पढ़ें: फाइबर युक्‍त भोजन से होते हैं ये फायदे

बच्चों के भोजन विकार को कैसे करें दूर? 

बुलिमिया नर्वोसा (Bulimia Nervosa)

बुलिमिया नर्वोसा एक तरह का ऐसा भोजन विकार है जो ज्यादा से ज्यादा खाने के लिए उकसाता है। इसके लक्षण होते हैं कि बिना किसी रुकावट के ज्यादा से ज्यादा मात्रा में खाते रहना। बार-बार ज्यादा मात्रा में खाने से यानी भूख से भी ज्यादा खाने से आपकी पाचन क्रिया खराब होने लगती है। इससे आपके शरीर में कमजोरी होने लगती है और साथ ही आपकी तबीयत पर भी इसका असर होता है। 

भोजन को लेकर पाबंदी

ये एक तरह का ऐसा भोजन विकार होता है जिसमें खाने की इच्छा कम होना, किसी चीज की सुगंध के कारण उसे न खाना, स्वाद सही नहीं लगना जैसी चीजें होती है। 

इसे भी पढ़ें: बदहजमी की समस्‍या का पूर्ण समाधान है ये 5 उपाय, पाचन क्रिया को बनाते हैं मजबूत

इसलिए ये जरूरी हो जाता है कि हम सबको भोजन और स्वस्थ भोजन को लेकर जागरुकता लोगों तक फैलानी चाहिए। जिससे की वो भी किसी विकार से न घिर जाएं, बल्कि अपनी डाइट को बेहतर करें और अपने आपको हमेशा स्वस्थ रख सकें। इसके साथ ही लोगों को अपनी डाइट के साथ इस बात का भी ख्याल रखने की जरूरत होती है कि वो रोजाना एक्सरसाइज करना न भूलें। इससे वो लंबे समय तक अपने आपको फिट रखने में मदद कर सकते हैं। 

(Inputs by Zoya Fakhi, Nutritionist, Bhatia Hospital, Mumbai)

Read More Article On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer