बच्चे का मानसिक स्वास्थ्य ठीक रखने के लिए पेरेंट्स ध्यान रखें ये बातें

Teens Mental Health Facts Parents Should Know: बच्चों की परवरिश के दौरान माता-पिता को बच्चों की मेंटल हेल्थ का विशेष ध्यान रखना चाहिए, जानें टिप्स।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Dec 22, 2022 20:08 IST
बच्चे का मानसिक स्वास्थ्य ठीक रखने के लिए पेरेंट्स ध्यान रखें ये बातें

Teens Mental Health Facts Parents Should Know: बच्चों की परवरिश के दौरान माता-पिता को बच्चों की मेंटल हेल्थ का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ज्यादातर पैरेंट्स बच्चों की मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं को पहचान नहीं पाते हैं और इसकी वजह से बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता रहता है। अगर पेरेंट्स सही समय पर बच्चों की मानसिक स्ववास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के संकेत को पहचान लेंगे तो बच्चों को इसका शिकार होने से बचाया जा सकता है। किशोरावस्था तक बच्चों में मेंटल हेल्थ से जुड़ी समस्याओं को पहचानकर उसका निदान करने की कोशिश करना हर पेरेंट्स का कर्तव्य होता है। इस लेख में आइए जानते हैं पेरेंट्स को बच्चों की मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान कैसे रखें और किन बातों का ध्यान जरूर रखें।

बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान कैसे रखें- Teens Mental Health Facts Parents Should Know

पेरेंट्स कई बार बच्चों के मूड और उनके व्यवहार को सही ढंग से समझ नहीं पाते हैं। ऐसे में अगर आपका बच्चा किसी तरह की मानसिक परेशानी से जूझ रहा है तो उसके लिए यह और गंभीर हो जाता है। अगर आपके बच्चे की बॉडी लैंग्वेज और उनके व्यवहार में किसी तरह का बदलाव दिखता है तो आपको बच्चों से बात जरूर करनी चाहिए। बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य ठीक रखने के लिए पेरेंट्स को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-

Teens Mental Health Facts Parents Should Know

1. बच्चों के व्यवहार को समझें

हर माता-पिता को अपने बच्चे का व्यवहार अच्छी तरह से ध्यान रखना चाहिए। अगर आपके बच्चे के व्यवहार में अचानक कोई बदलाव दिखता है, तो इसे भूलकर भी नजरअंदाज न करें। ऐसा करने से आपका बच्चा गंभीर रूप से मानसिक समस्याओं का शिकार हो सकता है। ऐसा जरूरी नहीं है कि हर बार आपके बच्चे के व्यवहार में बदलाव किसी परेशानी का संकेत हो, लेकिन उसका ध्यान रखने से आप बच्चे को परेशानी की चपेट में जाने से बचा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पेरेंट्स की इन गलतियों से अकेलेपन का शिकार हो सकते हैं सिंगल चाइल्ड, जानें परवरिश के टिप्स

2. बच्चों के साथ बातचीत जरूर करें

बच्चों और माता-पिता के बीच कम्युनिकेशन गैप होने से आप उनकी भावनाओं को सही तरह से समझ नहीं पाएंगे। कम्युनिकेशन गैप होने पर बच्चों की परेशानी और समस्या बढ़ जाती है। बच्चों से बातचीत खुलकर करने से आप उनकी परेशानियों को समझ सकते हैं।

3. आत्मविश्वास को बढ़ावा दें

उन्हें अपने सपनों को जीने और गलतियां करने के लिए प्रोत्साहित करें, लेकिन साथ ही साथ उन गलतियों से कैसे सीखें और आगे बढ़ें, ये भी उन्हें बताएं। इसके अलावा, उन्हें गर्व करने के लिए कहें कि वे कहां हैं। साथ ही साथ उन्हें बताएं कि आपको आगे और भी चीजें करनी हैं और यहीं रूकना नहीं है।

4. भावनाओं पर नजर

बच्चों की भावनाएं क्या है, उन्हें क्या चाहिए और वो किस बर्ताव के साथ रहते हैं इसपर पैरेंट्स को नजर रखनी चाहिए। माता-पिता को अपने बच्चों की भावनाओं को समझते हुए उन्हें सही और गलत के बारे में समझाना चाहिए साथ ही उन्हें नियमित रूप से अच्छी आदतों के बारे में बताना चाहिए। जिससे कि आपके बच्चे दिमागी रूप से स्वस्थ हो सके और नकारात्मक चीजों से दूर रहें। 

बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए पेरेंट्स को ऊपर बताई गयी बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। किसी भी तरह की परेशानी या समस्या की स्थिति में आप डॉक्टर या मनोवैज्ञानिक से संपर्क जरूर करें।

(Image Courtesy: Freepik.com) 

 

Disclaimer