एक ऐसा फूड जो सुधारता है खिलाड़ियों का प्रदर्शन!

एक अध्‍ययन के अनुसार आज हम आपको एक ऐसे फूड के बारे में बताएंगें जिससे आप भी जान पाएंगे कि खिलाड़ि‍यों के बेहतर प्रदर्शन के लिए क्‍या खाते है।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Oct 10, 2016Updated at: Oct 10, 2016
एक ऐसा फूड जो सुधारता है खिलाड़ियों का प्रदर्शन!

हममें से ज्‍यादातर लोग इस बात को जानने के उत्‍सुक रहते हैं कि फिट रहने के लिए खिलाड़ी क्‍या खाते है? एक अध्‍ययन के अनुसार आज हम आपको एक ऐसे ही फूड के बारे में बताएंगें जिससे आप भी जान पाएंगे कि खिलाड़ि‍यों के बेहतर प्रदर्शन में ये फूड कितना फायदेमंद है। यह अध्ययन शोध-पत्रिका ‘फ्रंटियर्स इन साइकोलॉजी’ के ताजा अंक में प्रकाशित हुआ है।

player in hindi
पालक के बारे में तो आपने सुना ही होगा। जी हां, हम बात कर रहे हैं नाइट्रेट से भरपूर, हरी पत्तेदार सब्जी पालक के बारे में। पालक हमारे शरीर में काम करने में बेहद अहम भूमिका निभाता है, विशेष रूप से मेहनत वाले कामों को करने के दौरान। हाल ही में हुई एक रिसर्च में भी पाया गया कि कम ऑक्सीजन वाले माहौल में थोड़ी देर के अंदर अधिक तीव्रता के साथ व्यायाम करने के दौरान अगर नाइट्रेट लिया जाए तो खेलों में प्रदर्शन को सुधार देता है।

बेल्जियम के ल्यूवेन यूनिवर्सिटी से अनुसंधानकर्ताओं की एक टीम ने 27 प्रतिभागियों पर यह अध्ययन किया। प्रतिभागियों को कम समय में तेज गतिविधियों से पहले कॉम्प्लिमेंट्री नाइट्रेट फूड के रूप में दिया गया। इन गतिविधियों में प्रतिभागियों से सप्ताह में तीन बार तेज गति से साइकिलिंग करवाई गई। इसके अलावा उन्हें सामान्य ऑक्सीजन स्तर वाले माहौल और कम ऑक्सीजन स्तर वाले माहौल में यह गतिविधियां करवाकर मूल्यांकन किया गया। पांच सप्ताह बाद देखा गया कि कम ऑक्सीजन वाले माहौल में नाइट्रेट के सेवन से प्रतिभागियों की मांसपेशियों में बदलाव आ गया।

ल्यूवेन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पीटर हेस्पेल ने कहा कि बेशक, यह ऐसा पहला अध्ययन है, जिसमें यह निकलकर आया है कि सिंपल कॉम्प्लिमेंट्री पोषक तत्व लेते हुए अभ्यास करने से मांसपेशियों में बदलाव आ सकता है।” खिलाड़ियों को कई बार कम ऑक्सीजन में कठिन मेहनत वाले अभ्यास करने होते हैं और इस स्थिति में बेहतर प्रदर्शन के लिए और ऊर्जा बनाए रखने के लिए फाइबर मांसपेशियां मददगार होती हैं।

Image Source : Getty

Read More Health News in Hindi

Disclaimer