गलत पोजीशन में बैठने से युवा हो रहे पीठ और रीढ़ की समस्याओं के शिकार, इन 7 घातक बीमारियों का भी है खतरा

गलत पोजीशन में बैठने से शरीर को कई समस्याएं हो सकती हैं। आइए जानते हैं गलत पोजीशन में बैठने से शरीर को किस तरह से नुकसान पहुंचता है।

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Nov 03, 2020Updated at: Nov 03, 2020
गलत पोजीशन में बैठने से युवा हो रहे पीठ और रीढ़ की समस्याओं के शिकार, इन 7 घातक बीमारियों का भी है खतरा
सीटिंग जॉब के कारण लोगों को कई तरह की समस्याएं हो रही हैं। खासतौर पर लगातार एक ही पोजीशन में बैठकर काम करने से लोगों को शारीरिक रूप से कई तरह की परेशानियां होने लगती है। अगर आप अधिक समय तक एक ही पोजीशन में बैठकर काम करते हैं, तो इससे वजन बढ़ने की समस्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है। इसके अलावा काम में अधिक व्यस्तता के कारण लोग अपने बैठने के तरीके पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। इस वजह से उनके शरीर को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। गलत तरीके से बैठने के कारण व्यक्ति को पीठ और रीढ़ की हड्डी में काफी दर्द होने लगता  है। एक आंकड़े के मुताबिक, लगातार बैठकर काम करने से लगभग 20 प्रतिशत युवाओं को पीठ और रीढ़ की हड्डियों में परेशानी हो रही है। इतना ही नहीं, गलत पोजीशन में बैठने से शरीर को कई तरह की समस्याएं हो रही हैं। आइए जानते हैं गलत तरीके से बैठने से शरीर को होने वाली समस्याएं-

बढ़ सकत है कोलेस्ट्रॉल

लगातार बैठकर काम करने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की शिकायत हो सकती है। एक्सपर्ट के अनुसार, अगर आप नियमित रूप से लगातार 6 घंटे से अधिक बैठकर काम करते हैं, तो आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ सकता है। इतना ही नहीं, इससे मोटापा भी काफी तेजी से बढ़ता है।

बढ़ता है डायबिटीज का खतरा

रोजाना लगातार 8 घंटे बैठकर काम करने से इंसुलिन पर 40 प्रतिशत असर पड़ता है। शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज बढ़ने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। ऐसे में डायबिटीज होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

दिल को हो सकता है नुकसान

गलत पोजीशन में बैठने से ना सिर्फ पीठ में दर्द बल्कि इससे आपके दिल को भी नुकसान पहुंच सकता है। एक्सपर्ट की मानें तो लगातार 3 घंटे बैठकर काम करने से 50% आर्टरी का फैलाव कम होने की संभावना हो जाती है। इससे हमारा रक्त संचार भी धीमा हो सकता है, जिससे ब्रेन के सभी हिस्सो में खून नहीं पहुंच पाता है, जिससे दिमाग पर भी असर पड़ सकता है।

पैरों में ब्लड क्लॉट बनने का खतरा

अगर आप पूरे दिन चेयर पर टांगे लटकाकर काम करते हैं, तो पैरों में ब्लड क्लॉट की समस्या हो सकती है। इससे आपको पैरों और मांसपेशियों में दर्द और सूजन की शिकायत हो सकती है। पैरों में खून जमने से चलने-फिरने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

हल्की चोट पर फ्रैक्चर होने की संभावना

अगर आपको लगातार बैठकर काम करने की आदत हो गई है, तो इस आदत को बदल लें। लगातार 8 घंटे तक बैठकर काम करने से बोन डेंसिटी कम हो जाती है। ऐसे में हल्की सी चोट लगने पर भी फ्रैक्चर होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ सकती है। 
 

हार्ट में ब्लड पम्पिंग

दिल में होने वाले ब्लड पम्पिंग के जरिए ही पूरे शरीर में खून प्रवाहित होता है। अगर आप एक ही पोजीशन में लगातार बैठकर काम कर रहे हैं या फिर किसी लगत पोजीशन में बैठे हैं, तो इससे ब्लड का फ्लो सही से नहीं हो पाता है। ऐसे में हार्ट को ब्लड पम्पिंग करने में समस्या पैदा होती है, जिससे दिल पर प्रेशर बढ़ता है और कई गंभीर समस्या होने की संभावना बढ़ती है।

सीटिंग पोजीशन कैसा होना चाहिए?

  • कभी भी लगातार 2 घंटे से ज्यादा एक ही पोजीशन में ना बैठें।
  • हर 2 घंटे पर करीब 10 मिनट का गैप लें।
  • बीच-बीच में पानी जरूर पीते रहें। इससे आपकी बॉडी फ्रेश महसूस करेगी।
  • सीटिंग वर्क में बीच-बीच में स्ट्रेचिंग करना सबसे फायदेमंद होता है।

 

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer