प्रेग्नेंसी में खाएं भुने चने, सेहत को मिलेंगे ढेरों फायदे

प्रेग्नेंसी में भुने हुए चने का सेवन करना शरीर के लिए काफी हेल्दी होता है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jun 21, 2022Updated at: Jun 21, 2022
प्रेग्नेंसी में खाएं भुने चने, सेहत को मिलेंगे ढेरों फायदे

Roasted Chana for Pregnancy : प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अपने डाइट का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ताकि शरीर को भरपूर रूप से पोषण मिले। इस दौरान कई हेल्दी चीजें खाने की सलाह दी जाती हैं। इन हेल्दी डाइट में भुने हुए चनों को भी शामिल किया जा सकता है। भुने हुए चने खाने से स्वास्थ्य को कई लाभ हो सकते हैं। भुने हुए चने में कई तर के पोषक तत्व जैसे- प्रोटीन, विटामिंस, मिनरल्स पाए जाते हैं। आज हम आपको इस लेख में प्रेग्नेंसी में भुने चने खाने के फायदों के बारे में बताएं। आइए जानते हैं गर्भावस्था में भुने हुए चने खाने के क्या फायदे हैं? 

क्या गर्भावस्था में खा सकते हैं भुने हुए चने?

नोएडा स्थित डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी का कहना है कि प्रेग्नेंसी में भुने हुए चने का सेवन करना सुरक्षित होता है। हालांकि, ध्यान रखें कि चने अच्छे से भुना हुआ हो, यह कच्चे न रहे। इसमें कई तरह के प्रोटीन, खनिज और फोलिक एसिड पाए जाते हैं, जो प्रेग्नेंसी अवस्था में महिलाओं के लिए हेल्दी हो सकते हैं। 

प्रेग्नेंसी में भुने चने खाने के फायदे 

प्रेग्नेंसी में भुने चने का सेवन करने से शरीर को कई फायदे हो सकते हैं। यह वजन को कम करने से साथ-साथ एनीमिया की समस्या को दूर कर सकता है। इसके अलावा गर्भावस्था में भुने हुए चने खाने से शरीर को कई अन्य लाभ हो सकते हैं. आइए जानते हैं इस बारे में-

इसे भी पढ़ें - सुबह खाली पेट भुन हुए चने खाने से सेहत को मिलते हैं ये 6 फायदे

एनीमिया से करे बचाव

गर्भावस्था में कई महिलाओं में आयरन की कई देखी गई है। इस स्थिति में भुना हुआ चना लाभकारी हो सकता है। दरअसल, भुने हुए चने का सेवन करने से शरीर में रेल ब्लड सेल्स बढ़ता है। यह ऊतकों में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने में असरदार है। 

शरीर को बनाए एनर्जेटिक

प्रेग्नेंसी में भुने हुए चने का सेवन करने से यह आपके शरीर को एनर्जेटिक बनाए रखता है। इसके सेवन से आपको काफी ऊर्जा महसूस होती है। गर्भावस्था के दौरान भुने चने खाएं। इसमें भरपूर रूप से प्रोटीन होती है, जो मांसपेशियों को मजबूत कर सकता है। साथ ही यह शारीरिक चुनौतियों का सामना करने के लिए आपको तैयार करती है।

मस्तिष्क विकास

चने में कोलीन नामक एक सूक्ष्म पोषक तत्व होता है, जो मस्तिष्क के विकास और स्वस्थ तंत्रिकाओं के निर्माण में सहायक होती है। भ्रूण के मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के विकास में मददगार होता है। 

समग्र भ्रूण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

काले भुने चने में भरपूर रूप से कैल्शियम, फॉस्फेट, मैंगनीज, जिंक और विटामिन के होते हैं, जो हड्डियों की मजबूती और कार्टिलेज के निर्माण में सहायता हो सकती है। चने खाने से कोशिकाओं की सुरक्षा होती है। इसके साथ ही काले चने में अमीनो एसिड और कार्बोहाइड्रेट होता है। यह चयापचय में सहायता होता है।

वजन को करे कंट्रोल

प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ महिलाओं को वजन बढ़ने का डर रहता है। अगर आपको भी यह डर रहा रहा है, तो डाइट में भुने हुए चने शामिव करें। भुने हुए चने के सेवन से बार-बार भूख लगने की क्रेविंग कम होती है, जो आपके शरीर को स्वस्थ भी रहता है। साथ ही इससे वजन भी नियंत्रित हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें - चने के सत्तू और बेसन में क्या अंतर होता है? जानें दोनों को बनाने का तरीका और इनमें मौजूद खास गुण

प्रेग्नेंसी के दौरान भुने हुए चने का सेवन करना शरीर के लिए स्वस्थ हो सकता है। हालांकि, अगर आपको पहले से किसी तरह की परेशानी है, तो एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही भुने चने को अपने आहार में शामिल करें। 

Disclaimer