शादीशुदा जिंदगी में बढ़ रहे हैं झगड़े? रिश्ता टूटने से बचाने के लिए करें ये 5 काम

लगातार लड़ाई-झगड़े आपकी शादीशुदा जिंदगी को खराब कर सकते हैं। अगर आपका रिश्ता टूटने को है, तो आप इन टिप्स से रिश्ता बचा सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: May 27, 2022Updated at: May 27, 2022
शादीशुदा जिंदगी में बढ़ रहे हैं झगड़े? रिश्ता टूटने से बचाने के लिए करें ये 5 काम

छोटे-मोटे झगड़े हर कपल के बीच होते हैं और ऐसा होना कई बार आपके आपसी प्यार को बढ़ाता है। पार्टनर्स का एक-दूसरे से रूठना-मनाना चलता रहता है। लेकिन अगर पारिवारिक झगड़े इस हद तक बढ़ जाएं कि रिश्ता टूटने की कगार पर आ जाए, तो ये अच्छा नहीं है। जब आपका रिश्ता आपके पार्टनर से अच्छा नहीं चल रहा होता, तब आप हर समय तनाव में रहते हैं। ऐसे समय में दोनों पार्टनर्स में से किसी एक को आगे बढ़कर रिश्ते को बिखरने से बचाना होता है। ऐसी स्थिति आने पर अगर आप सही समय पर रिश्ता संभाल लेते हैं, तो संभव है कि आप पार्टनर का खोया हुआ भरोसा और प्यार वापस पा सकें। आइए आपको बताते हैं कुछ खास टिप्स, जो टूटते-बिखरते रिश्ते को संभालने में आपकी मदद कर सकती है। 

पार्टनर को समय देना है जरूरी

अगर आप अपने पार्टनर के लिए समय नहीं निकालेंगे तो बिगड़ा हुआ रिश्ता और बिगड़ता जाएगा। रिलेशनशिप में टाइम और एफर्ट (आपके द्वारा किए गए प्रयास) बहुत मायने रखते हैं। एक दूसरे को समय देने से नजदीकियां बढ़ती हैं और दूरियां कम होती हैं। इसके अलावा समय देना इसलिए भी जरूरी है ताकि आप एक-दूसरे की जरूरतों और महत्वकाक्षाओं को समझ सकें।

इसे भी पढ़ें- रिश्तों में अक्सर झगड़े का कारण बनती हैं ये 5 गलतियां, जानें क्या है समाधान

बातचीत से ही हल होते हैं मसले

झगड़ा कैसा भी हो और कितना भी बड़ा हो, उसे सुलझाने का अंतिम और अकेला विकल्प बातचीत ही है। बातचीत के अलावा दूसरे विकल्पों से आपका झगड़ा कुछ समय के लिए शांत तो हो सकता है लेकिन हमेशा के लिए खत्म नहीं हो सकता। अगर आप और आपके पार्टनर के बीच झगड़े ज्यादा हो रहे हैं तो उन झगड़ों का कोई कारण भी होगा और उस स्थिति या कारण के लिए आप दोनों के अपने-अपने पॉइंट ऑफ व्यू होंगे। इसलिए कौन किस स्थिति को कैसे समझ रहा है और किसने क्या सोचकर क्या किया, इन सब बातों का अंदाजा लगाने के बजाय आप दोनों एक दूसरे से बात करें और अपना-अपना नजरिया सामने रखें।

relationship fight

कई बार चुप रहने में होती है समझदारी

कई बार तेज बोलने से ज्यादा बड़ी जीत चुप रहने से मिल जाती है। अक्सर प्रेमी-प्रेमिका या पति-पत्नी के झगड़े में तथ्यों के बजाय भावनाएं हावी रहती हैं इसलिए कई बार गुस्से में एक पार्टनर दूसरे को कोई ऐसी बात कह देता है, जो उसे बुरी लग सकती है। संभव है कि उसका मकसद सिर्फ अपनी बात मनवाना हो, न कि सामने वाले को ठेस पहुंचाना। ऐसी गलतियां का एहसास गुस्सा शांत होने के बाद खुद ही हो जाता है। इसलिए कई बार गुस्से में पलटकर कुछ बोलने के बजाय आपके लिए चुप रहना ज्यादा सही साबित हो सकता है। लेकिन ध्यान रखें कि अगर पार्टनर आपको अपशब्द बोल रहे हैं या हिंसा कर रहे हैं, तब आपका जवाब देना भी जरूरी है।

इसे भी पढ़ें- क्या शादीशुदा जिंदगी में परिवार के कारण हो रही है अनबन? जानें ऐसे में पार्टनर से रिश्ते कैसे सुधारें

शक दूर करने का करें प्रयास

आजकल रिलेशनशिप के बहुत सारे झगड़ों के मूल में शक एक बड़ी वजह बनता है। अगर आपके पार्टनर और आपके बीच भी शक ने दीवार खड़ी कर दी है, तो इसे जल्द से जल्द दूर करना बहुत जरूरी है। शक को तथ्यों और बातचीत से दूर किया जा सकता है। इसलिए आप अपने पार्टनर का विश्वास वापस पाने के लिए उनसे बातचीत करें और उनके मन में उठ रहे सवालों और शंकाओं का शांति के साथ जवाब दें।

खुद की गलतियों की माफी मांगने में न कतराएं

कई बार आप गलतियां तो करते हैं लेकिन उनका एहसास होने के बाद माफी मांगने में शर्मिंदगी महसूस करते हैं क्योंकि इसमें आपका ईगो आड़े आ जाता है। अगर आपको कभी भी ये एहसास हो कि आप गलत हैं, तो आपको पार्टनर से माफी मांगने में संकोच नहीं करना चाहिए। माफी मांगना आपके रिश्ते को तो सुधारेगा ही, साथ ही आपके दिल पर पड़े बोझ को भी कम करेगा। 

अगर आप ये सारे प्रयास करते हैं तो संभव है कि आप अपना टूटता हुआ रिश्ता बचा सकें। लेकिन अगर स्थिति बहुत खराब है और आप लड़ाई-झगड़े के कारण मानसिक उत्पीड़न का शिकार हो रहे हैं, तो आप परिवार के सदस्यों या रिलेशनशिप काउंसलर की मदद ले सकते हैं।

Disclaimer