कच्चे या उबले हुए अंडे: दोनों में कौन है सेहत के लिए है बेहतर? जानें किससे होता है ज्यादा फायदा

अंडो का सेवन हमारे लिए काफी न्यूट्रिशन से भरपूर होता है। लेकिन यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप अंडे को किस तरीके से खाते हैं। 

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 20, 2020Updated at: Aug 20, 2020
कच्चे या उबले हुए अंडे: दोनों में कौन है सेहत के लिए है बेहतर?  जानें किससे होता है ज्यादा फायदा

अंडो में बहुत से मिनरल्स विटामिंस और प्रोटीन व पोषक तत्त्व विद्यमान होते हैं। इसलिए इसको दुनिया में सबसे अधिक हेल्दी चीजों में से एक माना जाता है। अंडों के ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। परन्तु प्रश्न यह है कि कौन से प्रकार के अंडे सबसे बेहतर व हेल्दी होते हैं - कच्चे या पके हुए? आज भी इस बात को लेकर अधिकांश लोगों के मन में संशय रहता है हालांकि बहुत से शोध भी हुए हैं लेकिन फिर भी सबकी अपनी अपनी राय है। आइए दोनो प्रकार के अंडों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

egg

कच्चे अंडों के लाभ (advantages)

हर प्रकार के भोजन की तरह अंडे भी पकते समय अपने कुछ पोषक तत्त्व खो देते हैं। आप को कच्चे अंडे खाने से निम्नलिखित एक्स्ट्रा पोषण मिलेगा। 

·         33% ज्यादा ओमेगा (omega-3)

·         36% ज्यादा विटामिन डी (vitamin-D)

·         33% ज्यादा DHA

·         20% ज्यादा बायोटिन (biotin)

·         20% ज्यादा ज़िंक (zinc)

·         33% ज्यादा कोलीन (choline)

उपर लिखित तत्त्व आपको तब मिलेंगे जब आप एक अंडे को कच्चे रूप में खाते हैं। यदि हम इनकी हानियों के बारे में बात करें तो, इन तत्त्वों में ज्यादा कोई हानि नहीं होती है। 

इसे भी पढ़ेंः इन 5 सस्‍ते शाकाहारी फूड में होता है अंडे से ज्‍यादा प्रोटीन, जानिए एक दिन में कितनी मात्रा में लें Protein

तो क्या हमें अंडों को कच्चा खा लेना चाहिए? (should we consume eggs raw?)

जैसा कि हमने जाना की कच्चे अंडों में पके हुए अंडों से कुछ ज्यादा तत्त्व मिलते हैं तो क्या हमें अंडों को कच्चा ही खा लेना चाहिए? इसका सीधा जवाब है नहीं। कच्चे व पके हुए अंडों में फैट व प्रोटीन की मात्रा एक समान ही होती है लेकिन यदि आप अंडों को कच्चे रूप में खाते हैं तो इसके कुछ नुकसान भी हैं।

boilegg

कच्चे अंडे खाने के नुक़सान (Disadvantages)

खराब पाचनशक्ति (Poor digestibility)

यदि आप अंडों को कच्चा खाते हैं तो इससे आप के पाचन तंत्र पर गहरा प्रभाव पड़ता है। कच्चा अंडा खाने से आप के पाचन तंत्र की अमीनो एसिड पचाने की शक्ति कमजोर हो जाती है जिससे आप को अंडे का पूर्ण लाभ नहीं मिल पाता। 

फूड पॉयजनिंग (Food poisoning)

 कई बार कच्चे अंडों में सालमोनेला नाम का एक तत्त्व पाया जाता है। जिसके शरीर के अंदर जाने से हमें फूड पॉयजनिंग हो सकती है। इसके बार आप को उल्टियां, पेट दर्द व डायरिया आदि तकलीफें होंगी। अतः अंडों को कच्चे रूप में न खाएं। 

इसे भी पढ़ेंः बैली फैट कंट्रोल करने में नाकाम हो रही है आपकी सारी ट्रिक? ट्राई करें अंडे से जुड़ा ये जबरदस्त वेट लॉस डाइट

बायोटिन के अवशोषण का ब्लॉक होना (Raw Eggs May Block The Absorption Of Biotin)

बायोटिन आप के शरीर को फैटी एसिड्स व ग्लूकोज का उत्पादन करने में मदद करता है। यदि आप अंडे उबाल कर या पका कर खाते हैं तो उसके योक में बायोटिन पाया जाता है। परंतु यदि आप अंडे को कच्चे रूप में खाते हैं तो आप को बायोटिन के स्थान पर अविडिन(Avidin)  मिलता है जिससे आप के शरीर में बायोटिन का अवशोषण ब्लॉक हो जाता है।

अंडों को कैसे पकाएं ( How to Cook Eggs)

अब जबकि हम जान चुके हैं कि कच्चे अंडों के मुकाबले पके हुए अंडे हमारे लिए ज्यादा बेहतर व हेल्दी रहते हैं।  तो प्रश्न यह उठता है कि हम अंडों को कैसे पका सकते हैं? क्या इन्हे पकाने का कोई स्पेशल तरीका होता है? तो आप अंडों को उबाल कर या आमलेट बना कर खा सकते हैं। यह पके हुए अंडों की कैटेगरी में ही शामिल होता है। इससे आप को किसी तरह का कोई नुक़सान भी नहीं होगा। 

यदि आप अंडों को उबाल कर खाते हैं तो उनसे आप को एक यह लाभ मिलता है कि उनमें किसी प्रकार का तेल या मसाला नहीं होता है। तेल व मसाले से आप को स्वास्थ्य सम्बन्धी कुछ रिस्क उठाने पड़ सकते हैं। इसलिए अंडों का सबसे बेस्ट प्रकार उबले हुए अंडे ही माना जाता है।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer