मोटापा, कोलेस्ट्रॉल जैसी इन 7 समस्याओं को दूर करे कुल्फा साग, जानें इसके फायदे और नुकसान

कुल्फा स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी होता है। इसके सेवन से आप शरीर की कई परेशानियों को कम कर सकते हैं। आइए जानते हैं इसके फायदे और नुकसान के बारे में-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 04, 2022Updated at: Jul 04, 2022
मोटापा, कोलेस्ट्रॉल जैसी इन 7 समस्याओं को दूर करे कुल्फा साग, जानें इसके फायदे और नुकसान

पर्सलेन या कुल्फा साग, कई तरह के आवश्यक पोषक तत्वों से भरा होता है। कुल्फा (Purslane  in hindi) में मौजूद ओमेगा -3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट्स और  विटामिन्स अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से आपको दूर रखते हैं। इसका इस्तेमाल कई तरह की सब्जी, सलाद या सैंडविच को तैयार करने के लिए किया जा सकता है। इसके सेवन से आप कोलेस्ट्रॉल, हाई बीपी, मोटापा जैसी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। आज हम इस लेख में कुल्फा साग के फायदे (Purslane Benefits) और नुकसान के बारे में जानेंगे। 

कुल्फा साग के फायदे (Purslane Benefits in Hindi)

कुल्फा साग स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी होता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व मोटापा, कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज जैसी परेशानियों को दूर करने में फायदेमंद हो  सकते हैं। आइए जानते हैं कुल्फा साग से स्वास्थ्य को होने वाले फायदे क्या हैं?

1. दिल को रखता है स्वस्थ

दिल को स्वस्थ रखने के लिए कुल्फा साग का सेवन कर सकते हैं। रिसर्च में यह देखा गया है कि नियमित रूप से कुल्फा साग के सेवन से हृदय रोगों के जोखिमों को कम किया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें - झड़ते-टूटते बालों के लिए असरदार है कुल्फा साग, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

2. स्किन के लिए फायदेमंद

ग्लोइंग स्किन पाने के लिए आप कुल्फा साग का इस्तेमाल कर सकते  हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स की अच्छी मात्रा होती है, जो स्किन के लिए फायदेमंद हो सकती है। कुल्फा साग में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देने में मददगार हो सकते हैं। यह झुर्रियों को कम करने के साथ-साथ स्किन की लोच को सुधारने में मददगार हो सकता है। 

3. कोलेस्ट्रॉल स्तर को करता है कम

कुल्फा साग कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करता है। इसमें शामिल ओमेगा-3 फैटी एसिड और  एंटीऑक्सीडेंट्स खराब कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम कर सकते हैं। साथ ही गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में असरदार हो सकते हैं। 

4. मोटापा करता है कंट्रोल

कुल्फा साग में फाइबर की मात्रा भी काफी अच्छी होती है। साथ ही कैलोरी बहुत ही कम  होती है। ऐसे में इस साग के सेवन से आप शरीर  के बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। 

5. सूजन करता है कम

पर्सलेन के बीज खाने से शरीर में साइटोकिन्स को स्तर कम किया जा सकता है। यह शरीर में सूजन को बढ़ावा देते हैं। ऐसे में अगर आप कुल्फा साग के बीजों का सेवन करते हैं, तो इससे शरीर की सूजन को कम किया जा सकता है। 

6. दांतों और मसूड़ों को रखे स्वस्थ

कुल्फा ओरल लाइकेन प्लेनस (Oral Lichen Planus) को कंट्रोल करने में मददगार होता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जो मुंह में म्यूकस लाइनिंग (mucous lining ) को प्रभावित करती है। इस समस्या की वजह से मुंह के अंदर सूजन, सफेद धब्बे और लालिमा जैसे लक्षण दिखते हैं। इन लक्षणों को कंट्रोल करने में कुल्फा साग असरदार हो सकता है। 

7. नींद को बेहतर करने में असरदार

पर्सलेन में प्राकृतिक रूप से मेलाटोनिन पाए जाते हैं, जो नींद को बढ़ावा देने में असरदार हैं। अगर आपको अनिद्रा की शिकायत है, तो कुल्फा का सेवन सूप, सलाद या सब्जी के रूप में कर सकते हैं। इससे नींद को बेहतर किया जा सकता है।

कुल्फा साग के नुकसान  (Purslane Side Effects in Hindi)

अन्य खाद्य पदार्थों की तरह कुल्फा का अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। अधिक मात्रा में इसके सेवन से किडनी की पथरी होने की संभावना  होती है। दरअसल, पर्सलेन में  ऑक्सलेट होता है, जो किडनी स्टोन के विकास को बढ़ावा देता है।

पर्सलेन या ऑक्सलेट युक्त खाद्य पदार्थों  के सेवन से शरीर में कैल्शियम की अवशोषण शक्ति कम होती है।  ऐसे में अगर आप अधिक मात्रा में इसका सेवन करते हैं, तो इससे शरीर में कैल्शियम की कमी हो सकती है।

कुल्फा साग स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी हो सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि अधिक मात्रा में इसके सेवन से शरीर को नुकसान हो सकते हैं। ऐसे में सीमित मात्रा में कुल्फा साग का सेवन करें। 

 

Disclaimer