Skin Care Tips: चेहरे की रंगत निखारता है जैतून का तेल, जानें स्किन लाइटनिंग के लिए कैसे करें इसका इस्तेमाल

कुछ लोग बालों और त्वचा को हल्का करने के लिए जैतून के तेल और नींबू के रस के साथ इस्तेमाल करते हैं। आइए जानते हैं इसके अन्य फायदे।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 28, 2020Updated at: Apr 28, 2020
Skin Care Tips: चेहरे की रंगत निखारता है जैतून का तेल, जानें स्किन लाइटनिंग के लिए कैसे करें इसका इस्तेमाल

ऑलिव ऑयल (जैतून का तेल) जैतून से मिलता है, जो मेडिटरेनियन बेसिन की एक पारंपरिक पौधा है। इस तेल में कई औषधीय गुण है, जिसकी वजह से इसका इस्तेमाल कई तरह के आयुर्वेदिक दवाइयों से लेकर ब्यूटी प्रोडक्ट्स तक को बनाने में किया जाता है। ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल अक्सर फेस वाश प्रोडक्ट के रूप में किया जाता है। इसके अलावा साबुन, बॉडी वॉश और लोशन को बनाने में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। वहीं स्किन को गोरा बनाने के लिए और स्किन लाइटनिंग के लिए भी ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल हो सकता है। पर सोचने वाली बात ये है कि स्किन लाइटिंग है क्या और ऑलिव ऑयल से ये कैसे हो सकता है।

insideskincaretips

ऑलिव ऑयल (जैतून का तेल) और स्किन लाइटनिंग

क्या जैतून का तेल त्वचा को हल्का करने में मदद करता है? यह समझने के लिए कि जैतून का तेल त्वचा की हल्की-फुल्की दिनचर्या के लिए क्या कर सकता है और क्या नहीं, हम इस बात पर नजर डालना होगा कि त्वचा के तेल कैसे काम करते हैं और जैतून के तेल में क्या गुण होते हैं। स्किन लाइटनिंग का मतलब स्किन स्पॉट्स, पैचेज या स्किन टोन को हल्का करना है। स्किन लाइटनर्स को स्किन वाइटेनर्स, स्किन ब्राइटनर्स, फेडिंग क्रीम और ब्लीचिंग क्रीम भी कहा जाता है।

खुद को हेल्दी रखने के बारे में कितने जागरूक हैं आप? खेलें ये क्विज :

Loading...

इसे भी पढ़ें : Skin Care: आलू का फेस पैक ही नहीं घर पर इन इजी स्‍टेप्‍स से बनाएं आलू का स्‍क्रब और स्किन व्‍हाइटनिंग क्रीम

स्किन लाइटनिंग उत्पाद त्वचा के लिए कैसे काम करते हैं?

सबसे पहले, आइए देखें कि त्वचा के प्रभावी तत्व क्या करते हैं। स्किन-लाइटनिंग क्रीम आमतौर पर सतह पर या त्वचा की ऊपरी परत में काम करती हैं। अच्छी त्वचा ब्लीचर्स इनमें से एक या दोनों तरीकों से काम करती हैं, जैसे कि

स्किन पिगमेंट को कम करता है

मेलेनिन आपकी त्वचा का एक पिगमेंट है। आपके त्वचा में जितना अधिक मेलेनिन होता है, त्वचा की टोन उतनी ही गहरी होती है। यह मेलेनिन मेलानोसाइट्स नामक त्वचा में कोशिकाओं द्वारा बनाया गया है। त्वचा को हल्का करने वाली क्रीम इसी प्रक्रिया को रोक देती हैं और इसे धीमा कर देती हैं जिसके माध्यम से मेलानोसाइट्स मेलेनिन बनाते हैं। साथ ही मेलेनिन को त्वचा की ऊपरी परत पर भेजे जाने से रोकते हैं। स्किन लाइटनर स्थायी नहीं होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि समय के साथ आपकी त्वचा नए सिरे से नई मेलानोसाइट्स बढ़ती है।

त्वचा की एक्सफोलिएशन बढ़ाएं

पुराने त्वचा कोशिकाओं (Shedding older skin cells) को बहा देने से त्वचा को हल्का करने में मदद मिलती है, जो धूप से क्षतिग्रस्त हो गई है। जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, त्वचा की प्राकृतिक तौर से पुराने त्वचा कोशिकाओं छूटना धीमा हो जाता है। कुछ त्वचा लाइटनर्स तेजी से पुराने त्वचा कोशिकाओं छूटना ट्रिगर करके काम करते हैं। जिससे त्वचा की सतह पर लाइटर कोशिकाएं दिखाई देती हैं।

insideoliveoil

स्किन लाइटनर और सनब्लॉक

हल्की त्वचा को सूरज की क्षति और टैनिंग से बचाने के लिए स्किन लाइटनर में सनब्लॉक भी हो सकता है। इनमें अगर सूर्य की पराबैंगनी (यूवी) किरणों को रोकने वाली ये सामग्री में शामिल हैं, तो ये स्किन लाइटनिंग के कई मायनों में फायदेमंद होगा। जैसे कि जिंक आक्साइड और टाइटेनियम डाइऑक्साइड।

इसे भी पढ़ें : मेकअप रिमूव किए बिना ही सो जाती हैं आप? जानें सुबह उठकर चेहरे को साफ करने का आसान तरीका

जैतून के तेल की त्वचा की देखभाल में भूमिका

आहार के माध्यम से त्वचा की देखभाल

जैतून के तेल में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है और इसे अपने खाने में शामिल करने से शरीर में सूजन कम हो जाती है। इस तरह सूजन के कारण त्वचा को होने वाले नुकसान को रोकने या ठीक करने में जैतून का तेल आपकी मदद कर सकता है। उदाहरण के लिए, फाइन लाइन्स, झुर्रियों और लालिमा रेडनेस।

त्वचा देखभाल उत्पादों में जैतून का तेल

  • -जैतून का तेल वाणिज्यिक त्वचा देखभाल और कॉस्मेटिक उत्पादों में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा आप इसे धीरे भी अपने चेहर पर लगा सकते हैं। जैतून के तेल को त्वचा पर लगाने से लगभग 20 प्रतिशत तक सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी (यूवी) किरणों से बचा जा सकता है। यह त्वचा की प्राकृतिक सूर्य-अवरुद्ध प्रोटीन को बढ़ाकर ऐसा करता है। 
  • -जैतून के तेल में स्क्वालेन नामक फैट भी होती है। यह प्राकृतिक वसा त्वचा का सबसे महत्वपूर्ण सुरक्षात्मक फैट है। जैतून का तेल मिलाने से यह प्राकृतिक अवरोध को मजबूत करता है।
  • -जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो क्षति को रोकने में मदद करते हैं। 

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer