Doctor Verified

नीम से हो सकता है बवासीर का इलाज, एक्सपर्ट से जानें इसके इस्तेमाल का आसान तरीका

बवासीर की समस्या को दूर करने के लिए नीम की पत्तियों का इस्तेमाल किया जा सकता है। आइए जानते हैं इस्तेमाल का तरीका

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Mar 11, 2022Updated at: Mar 11, 2022
नीम से हो सकता है बवासीर का इलाज, एक्सपर्ट से जानें इसके इस्तेमाल का आसान तरीका

नीम के इस्तेमाल से कई तरह के संक्रमण, घाव और बीमारियों से निजात पाया जा सकता है। नीम एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसके इस्तेमाल से कई तरह की परेशानी है। लेकिन क्या कभी आपने नीम का इस्तोेमाल बवासीर का इलाज करने के लिए किया है? क्या नीम से बवासीर की समस्या कम हो सकती है? अगर आप इस से अनजान हैं, तो परेशान न हों। आज हम इस लेख में नीम से बवासीर का इलाज (neem for piles) करने के तरीकों के बारे में बताएं। इस विषय की जानकारी के लिए हमने गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी से बात की। आइए जानते हैं इनसे नीम से बवासीर का इलाज कैसे किया जा सकता है। 

नीम से बवासीर का इलाज कैसे हो सकता है इलाज?  ( How can hemorrhoids be treated with neem?  )

आयुर्वेदाचार्य बताते हैं कि बवासीर में एनस के बाहरी और अंदरूनी हिस्सों में मस्सा बन जाता है। इस स्थिति में मरीजों को काफी ज्यादा दर्द और सूजन की परेशानी (is neem good for piles) होती है। नीम से इस समस्या का इलाज किया जा सकता है। दरअसल, नीम में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरस जैसे गुण मौजूद होते हैं। आयुर्वेद में सूजन, दर्द, जलन, रेडनेस जैसी समस्या को कम करने के लिए नीम का कई तरीकों से इस्तेमाल होता है। ऐसे में बवासीर की परेशानी को कम करने के लिए भी नीम उपयोगी हो सकता है। बवासीर की समस्या होने पर नीम के सभी हिस्सों जैसे- फूल, पत्तियां और छाल का इस्तेमाल हो सकता है। जिसे आप कई तरीकों से अपने मस्से पर लगा सकते हैं। इससे मस्से जल्द से जल्द सूखेगा भी। साथ ही घाव फैलने की परेशानी भी होगी। 

इसे भी पढ़ें - सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ नीम और हल्दी खाने से मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें सेवन का सही तरीका

बवासीर में कैसे करें नीम का इस्तेमाल (How To Use Neem For Piles Treatment)

नीम की फूल और पत्तियों का लेप

बवासीर की समस्याओं को कम करने के लिए नीम के फूल और नीम की पत्तियों (neem leaves for hemorrhoids) को अच्छी तरह से पीस लें। अब इस लेप को प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे मस्से की समस्या दूर हो सकती है। 

नीम का क्रीम

बवासीर के मस्से पर नीम के क्रीम का भी इस्तेमाल हो सकता है। मार्केट में मौजूद कई तरह की नीम की क्रीम उपलब्ध हैं, जिसका प्रयोग डॉक्टर की सलाह पर आप कर सकते हैं। इससे मस्सा धीरे-धीरे नष्ट हो सकता है। 

नीम की पत्तियों का रस

बाहरी बवासीर की परेशानी को कम करने के लिए नीम की पत्तियों का रस भी आपके लिए प्रभावी हो सकता है। इसके लिए नीम की पत्तियों को अच्छे से कूट लें। अब इस रस को बाहरी बवासीर पर लगाएं। नियमित रूप से कुछ दिनों तक इस रस को लगाने से बवासीर की परेशानी कम होगी। 

नीम का तेल

बवासीर की समस्या कम करने के लिए नीम का तेल भी उपयोगी हो सकता है। इसके लिए एक कॉटन का कपड़ा लें। अब इसमें थोड़ा सा नीम का तेल लगा लें। अब इसे मस्से पर लगाएं। कुछ समय तक इसे ऐसे ही लगा छोड़ दें। इससे मस्सा धीरे-धीरे कम होने लगेगा। इसके अलावा सिट्ज बाथ में भी आप नीम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - नीम की छाल का उपयोग: इन 5 समस्याओं का रामबाण इलाज है नीम की छाल, जानें इसके इस्तेमाल का तरीका

कैसे नीम बवासीर की परेशानी करता है कम?

  • एक्सपर्ट का कहना है कि नीम में एंटी बैक्टीरियल, सूजनरोधी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो मस्से के सूजन को कम करने के साथ-साथ बैक्टीरिया को भी कम करता है। जिससे दर्द की समस्या प्रभावी तरीके से कम हो सकती है। 
  • इसके अलावा अगर आप नीम का जूस पीते हैं, तो यह कब्ज और एसिडिटी से भी आपको दूर रख सकता है। 

बवासीर में नीम फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपकी परेशानी काफी ज्यादा बढ़ रही है, तो इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। घर पर खुद से अपना इलाज करने से बचें। ताकि स्थिति गंभीर न हो।

Disclaimer