याददाश्‍त और एकाग्रता बढ़ाने के प्राकृतिक उपाय: छात्रों के लिए है फायदेमंद

विभिन्न प्रकार की गतिविधियां आपको याददाश्‍त और एकाग्रता बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। इसके लिए यहां कुछ आयुर्वेदिक उपाए दिए गए हैं। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 19, 2020Updated at: Feb 19, 2020
याददाश्‍त और एकाग्रता बढ़ाने के प्राकृतिक उपाय: छात्रों के लिए है फायदेमंद

आजकल न सिर्फ बड़े बल्कि बच्‍चों में भी याददाश्‍त और एकाग्रता में कमी देखने को मिलती है। इससे अक्‍सर वे पढ़ाई-लिखाई और अन्‍य कार्यों में पीछे रह जाते हैं। क्या आप भी चीजों को बार-बार भूल जाते हैं? यदि हां, तो आपको अपनी मेमोरी बढ़ाने की आवश्‍यकता है। विभिन्न गतिविधियां आपको याददाश्‍त, एकाग्रता और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। आपका मस्तिष्क लगभग हर शारीरिक क्रिया में शामिल होता है। यह शरीर के कामकाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आप अपनी मेमोरी को बढ़ाना चाहते हैं तो आप कुछ स्मार्ट बदलाव कर सकते हैं। आयुर्वेद में भी प्राकृतिक रूप से याददाश्त को बढ़ाने के कई उपाय हैं। यहां हम आपको विस्‍तार से बता रहे हैं।

याददाश्‍त और एकाग्रता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक तरीके

1. ध्यान और प्राणायाम 

yoga

ध्यान और प्राणायाम के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं। यह आपको मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के साथ-साथ विभिन्न स्वास्थ्य समस्‍याओं से लड़ने में मदद कर सकता है। प्रति दिन सिर्फ 10 मिनट का ध्यान आपको याददाश्‍त और अन्य मानसिक समस्‍याओं में मदद कर सकता है। ध्यान आपको अपने ब्रीदिंग पैटर्न पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है और आपको बेहतर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है। यदि परीक्षा के समय में आप बहुत अधिक तनाव का अनुभव करते हैं तो आपको ध्यान करना चाहिए। यह आपको तनाव से लड़ने में भी मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: चिड़चिड़ापन और थकान हो सकता है तनाव का कारण, जानें इसके लक्षण और तनावमुक्त रहने के तरीके

2. विपरीत हाथ का प्रयोग

यह एक बहुत ही सरल और प्रभावी माइंड एक्‍सरसाइज है जिसका उपयोग आपके मस्तिष्क को तेज करने के लिए किया जा सकता है। आपको बस अपने कार्यों को करने के लिए अपने दांए हाथ के बजाए बाएं हाथ का प्रयोग करना चाहिए। आप बाएं हाथ से लिखना या ब्रश करना शुरू कर सकते हैं।

student

3. रक्त प्रवाह बढ़ाएं

रक्त के प्रवाह में वृद्धि से मस्तिष्क को ठीक से काम करने में मदद मिलती है। आप उन व्यायामों को कर सकते हैं जो मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ा सकते हैं। कुछ योगाभ्‍यास आपको रक्त प्रवाह बढ़ाने और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद कर सकते हैं। व्यायाम आपको वजन कम करने के साथ-साथ याददाश्त बढ़ाने में भी मदद करेगा।

इसे भी पढ़ें: डिप्रेशन, तनाव को कम करने और याददाश्‍त को बेहतर बनाने में मददगार है म्यूजिक थेरेपी, जानें कैसे मिलेगा फायदा

4. सही आहार का सेवन करें

आपका आहार केवल आपके शरीर के वजन के लिए जिम्मेदार नहीं है। यह आपके मस्तिष्क और मानसिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। सही आहार आपको याददाश्त बढ़ाने में मदद कर सकता है। ब्रोकली, फैटी फिश, हल्दी, कद्दू के बीज, बादाम और अखरोट जैसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें। इसके अलावा, जंक और अत्यधिक प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचें।

Read More Articles On Mind Body In Hindi

Disclaimer