जानें चेहरे की 5 आम समस्याओं को दूर करने में कैसे करें मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल, ताकि बनी रहे खूबसूरती

मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल हजारों सालों से त्वचा को खूबसूरत जवान बनाए रखने के लिए किया जाता रहा है। आप भी जानें इसके 5 बेहतरीन इस्तेमाल और फायदे।

 

Monika Agarwal
त्‍वचा की देखभालWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 14, 2020Updated at: Jan 07, 2021
जानें चेहरे की 5 आम समस्याओं को दूर करने में कैसे करें मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल, ताकि बनी रहे खूबसूरती

मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग सैकड़ों सालों से किया जा रहा है लेकिन आज भी बहुत से लोग इसे साधारण सी मिट्टी समझकर इसके फायदों को नजरअंदाज कर देते हैं। अगर आपके मन में भी कभी सवाल उठता है कि मुल्तानी मिट्टी चेहरे के लिए कैसे फायदेमंद है? या मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग कैसे करें? या मुल्तानी मिट्टी के प्रयोग के नुकसान क्या हैं, तो ये लेख आपके लिए है। आज के इस सौंदर्य जगत में बहुत सी चीजों को स्किन केयर के लिए प्रयोग किया जाता है लेकिन केवल कुछ ही लोगों को पता होगा कि यह पिंपल, एक्ने व ऑयली स्किन से निजात पाने का एक प्राकृतिक उपाय है। मुल्तानी मिट्टी में सोख लेने वाले गुण होते हैं इसलिए यह आपकी स्किन से सारा तेल निकाल देती है और इसलिए आपको एक्ने भी कम होते हैं। इसमें क्लींजिंग व कूलिंग गुण भी होते हैं जो आपकी स्किन से सारी गन्दगी निकाल देते हैं और आपको एक ठंडक प्रदान करते हैं। मुल्तानी मिट्टी में एंटी माइक्रोबियल गुण होने की वजह से उसमें गुलाब जल मिला लेने से यह पिंपल्स व एक्ने को खत्म करने में सहायक बन जाती है। यह आपके स्कैल्प से डैंड्रफ को कम करने में भी मदद करता है। मुल्तानी मिट्टी आपके बालों में चमक बनाए रखती है। इसमें ऑलिव ऑयल मिला कर बालों में लगाने से आपके बाल घने व लंबे भी होते हैं। यदि आप मुल्तानी मिट्टी का मास्क बना कर अपने चेहरे पर लगाते हैं तो इससे आपके चेहरे पर ब्लड सर्कुलेशन बढ़िया होता है और यह मास्क आपको डल स्किन से मुक्ति दिलाने में मदद करता है और आपको एक निखरी हुई त्वचा प्रदान करता है। इसके अलावा भी मुल्तानी मिट्टी के ढेर सारे फायदे हैं, जिनके बारे में हम आपको आगे बता रहे हैं।

multani

फुंसी या पिंपल के लिए उपचार (Multani Mitti For Breakouts)

मुल्तानी मिट्टी को नीम पाउडर के साथ मिलाएं और इसमें पानी एड करके इसका एक पेस्ट बना लें। यह आपके लाल पिंपल्स को खत्म होने में मदद करेगा। नीम व मुल्तानी दोनों ही आपके पिंपल्स को ठीक करने में लाभदायक होते हैं।

ड्राई व डल स्किन के लिए मॉइश्चराइज मास्क (Multani Mitti For Dull N Dry Skin)

यदि आपकी स्किन भी बहुत ज्यादा डल या ड्राई है तो आप मुल्तानी मिट्टी में शहद को मिलाएं और इसे अपने चेहरे पर एक मास्क की तरह अप्लाई कर लें। शहद आपकी स्किन को मॉइश्चराइज करेगा और जब मुल्तानी मिट्टी आपके चेहरे पर लगेगी तो इससे आपके चेहरे की सारी डलनेस भी दूर हो जाएगी। जब यह मास्क ड्राई हो जाएगा तो इससे आपकी रक्त प्रवाह बेहतर होगा और आपको अपनी स्किन में निखार मिलेगा।

इसे भी पढ़ेंः आंख मूंदकर ना करें मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल, आपके चेहरे और बालों को हो भी सकता है नुकसान

multanibenefits

ऑयली स्किन के लिए फेस पैक (Multani Mitti For Oily Skin)

यदि आप मुल्तानी मिट्टी को टमाटर के जूस के साथ मिला कर चेहरे पर अप्लाई करते हैं तो इससे आपके चेहरे का एक्स्ट्रा तेल निकल जाता है। टमाटर व मुल्तानी के सोखने वाले गुण से यह आपके सारे चेहरे के तेल को सोख लेते हैं और आपके ब्लैकहेड आदि जैसी समस्याओं को भी कम करने में सहायक होते हैं।

मुल्तानी मिट्टी बॉडी स्क्रब (Multani Mitti For Skin Exfoliation)

मुल्तानी मिट्टी के पाउडर में ओटमील मिला लें और इसमें केवल इतना ही पानी मिलाएं जितने में एक स्क्रब बन जाए। इस स्क्रब से आपकी स्किन की बहुत सी समस्याएं हल हो जाती है जैसे आपको डैड स्किन निकल जाती है और आपको अपनी स्किन पर चमक मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः मुल्तानी मिट्टी है बॉडी डिटॉक्स के लिए बेस्ट, जानिए कैसे

मुल्तानी मिट्टी से मिलने वाले अन्य फायदे (Multani Mitti Benefits for Skin)

यदि आप मुल्तानी मिट्टी में कुछ और चीजों को मिला कर फेस पैक बनाते हैं तो उनसे आपको बहुत सी स्किन से सम्बन्धित समस्याओं से छुटकारा मिलता है। आइए जानते हैं इनके अलावा मुल्तानी मिट्टी के और क्या क्या लाभ होते हैं।

  • एक्ने से छुटकारा मिलना।
  • झुर्रियां कम करना।
  • स्किन की सूजन को कम करना।
  • स्किन को कूल करना ताकि आपको स्किन एलर्जी से छुटकारा मिल सके।
  • स्किन को डिटॉक्स करना।
  • टैनिंग व पिग्मेंटेशन से मुक्ति दिलाना। 

मुल्तानी मिट्टी के साइड इफेक्ट्स (Multani Mitti Side Effects)

  • माना कि मुल्तानी मिट्टी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट भी हैं जैसे कि संवेदनशील त्वचा या रूखी त्वचा पर इसका प्रयोग सही नहीं। इसके प्रयोग से इस प्रकार की त्वचा में डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ सकती है। हालांकि ग्लिसरीन या दूध के साथ मिलाकर आप इसका कुछ हद तक प्रयोग कर सकते हैं।
  • मुल्तानी मिट्टी की कूलिंग प्रॉपर्टी के कारण यह सांस संबंधी बीमारी का कारण भी बन सकती है। खासकर कि यदि आप सन बर्न की समस्या से निजात पाने के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग शरीर पर या खासतौर पर सीने पर कर रहे हैं।
  • मुल्तानी मिट्टी हमारी स्किन के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। यह हमारी स्किन की विभिन्न समस्याओं को हल करती है और हमारी स्किन को बहुत से लाभ भी देती है। दरअसल इसमें मौजूद एल्यूमीनियम, मैग्नीशियम और सिलिकेट व खनिज लवण की बहुतायत मात्रा होती है।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer