लॉकडाउन के बावजूद बीते 24 घंटे में कोरोना के बढ़े 1 लाख से ज्यादा मामले लेकिन भारत के लिए राहत, जानें क्यों

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख 12 हजार को पार कर गई वहीं दुनियाभर में 24 घंटे में 1 लाख मामले सामने आए हैं।

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: May 22, 2020Updated at: May 22, 2020
लॉकडाउन के बावजूद बीते 24 घंटे में कोरोना के बढ़े 1 लाख से ज्यादा मामले लेकिन भारत के लिए राहत, जानें क्यों

एशिया और यूरोप के कुछ हिस्सों में कोरोनावायरस की कम होती रफ्तार के बावजूद दुनियारभर में कोरोना का कहर जारी है। कुछ देशों में लॉकडाउन में ढील दिए जाने के कारण बीते 24 घंटों में 1,06,000 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की खबर आई है। इसी के साथ कोरोना की शुरुआत के बाद से  एक दिन में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बात की जानकारी साझा की है। डब्लूएचओ के महानिदेशक  टेड्रॉस अधानोम गेब्रयेसस ने रोजाना होने अपनी मीडिया ब्रीफिंग में इन आंकड़ों को रखा और कहा इन सभी मामलों में से दो तिहाई मामले सिर्फ चार देशों में से सामने आए हैं।         

corona    

अमेरिका में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले 

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के कोरोनावायरस संसाधन केंद्र द्वारा एकत्रित आंकड़ों के अनुसार, दुनियाभर में कोरोना के लगभग 50 लाख मामले हो चुके हैं और 324,000 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।  आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में फिलहाल कोरोना के सबसे ज्यादा मामले हैं । अमेरिका में कोरोना के 15 लाख मामले हैं, जिसके बाद रूस , ब्राजील और ब्रिटेन का नाम शामिल है।   

भारत में भी कोरोना ने पकड़ी रफ्तार      

वहीं बात करें भारत की तो देश में कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा एक लाख 13 हजार को पार कर गया है। गौर करने वाली बात ये है कि इसमें से आधे मामले पिछले दो सप्ताह के भीतर ही सामने आए हैं। 18 मई से लागू हुए लॉकडाउन- 4 में कोरोना के मामलों ने रफ्तार पकड़ ली है। बीते तीन दिन से रोजाना  4 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज हो रहे हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1,12,359 हो चुकी है और 45,300 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। इसके अलावा भारत में कोरोना से अब तक 3,435 लोगों की मौत हो चुकी है।    

इसे भी पढ़ेंः हल्की हवा में खांसने पर 6 फीट नहीं बल्कि 18 फीट तक फैल सकता है कोरोना, जानें किन लोगों के लिए निकलना मुश्किल     

coronanews

सरकार ने सख्ती से पालन करने को कहा  

कोरोना के मामलों की संख्या में वृद्धि के बीच सरकार ने कहा है कि कोरोना से दुनिया की औसत मृत्यु दर के मुकाबले भारत में यह दर आधे से भी कम है। भारत में कोरोना से मृत्यु दर 3.06 फीसदी है। सभी चीजों को देखते हुए रेल व विमान सेवा शुरू करने का फैसला किया गया है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के लिए भी कहा है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए मास्क पहनकर घर से बाहर निकलने और सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य उपाय शामिल हैं।  

भारत कोरोना से प्रभावित 11वां देश

कोरोना संक्रमण के मामले में भारत दुनिया का 11वां सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। हालांकि शीर्ष 10 देशों में से कुछ के मुकाबले भारत में  एक्टिव केस की संख्या काफी कम है। भारत में स्पेन, इटली, जर्मनी, तुर्की एवं ईरान के मुकाबले कम एक्टिव केस हैं। वहीं बात करें रिकवरी रेट को देश में अब लोग 40 फीसदी की दर से ठीक हो रहे हैं। वहीं कुल एक्टिव केस के 2.94 फीसदी मामले आईसीयू में है।      

इसे भी पढ़ेंः   कोरोना के साथ सुरक्षित जीना है तो सब्जी-फलों, दवाईयों, खाने, प्लास्कि कैन को इस तरह करें सैनिटाइज, जानें तरीका

दिल्ली में तेजी से बढ़ रही मरीजों की संख्या 

भारत के सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्यों में से एक दिल्ली भी है, जहां एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना के 571 मामले सामने आए हैं। बता दें कि दिल्ली में लगातार तीसरे दिन कोरोना के 500 या उससे अधिक मामले सामने आए हैं। 

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले 

महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में कोरोना के 2345 नए मामले सामने आए हैं, जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 41 हजार 642 हो गई है। बता दें कि महाराष्ट्र में लागातार पांचवें दिन दो हजार या उससे अधिक लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।   

Read More Articles on Coronavirus in Hindi

Disclaimer