Doctor Verified

आपके दिमाग को डैमेज कर सकती हैं लाइफस्टाइल से जुड़ी ये 5 गलतियां, अंजाने में न करें गलती

लाइफस्‍टाइल से जुड़ी गलत आदतों के कारण मस्‍त‍िष्‍क को नुकसान पहुंच सकता है। गलत आदतों के कारण द‍िमाग से जुड़ी गंभीर बीमार‍ियों का खतरा बढ़ जाता है। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Mar 18, 2023 09:30 IST
आपके दिमाग को डैमेज कर सकती हैं लाइफस्टाइल से जुड़ी ये 5 गलतियां, अंजाने में न करें गलती

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Bad Habits For Your Brain: मस्‍त‍िष्‍क हमारे शरीर का महत्‍वपूर्ण ह‍िस्‍सा है। शरीर के बाक‍ि अंगों के साथ-साथ मस्‍त‍िष्‍क का ख्‍याल रखना भी जरूरी है।भागदौड़ भरी ज‍िंदगी में हमारा द‍िमाग काफी प्रेशर झेलता है। द‍िमाग पर प्रेशर पड़ने के कारण ब्रेन डैमेज होने की संभावना बढ़ जाती है। ब्रेन डैमेज होने पर धमनी फट सकती है ज‍िसके कारण ब्रेन हेमरेज जैसी जानलेवा बीमारी हो सकती है। लाइफस्‍टाइल से जुड़ी ऐसी कई आदतें हैं, ज‍िसके कारण द‍िमाग पर बुरा असर पड़ सकता है। इन आदतों के बारे में आपको आगे बताएंगे। अगर आपकी लाइफस्‍टाइल में भी ये आदतें शाम‍िल हैं, तो आपको इनसे जल्‍द से जल्‍द छुटकारा पा लेना चाह‍िए। ऐसा न करने पर आपकी मानस‍िक और शारीर‍िक सेहत प्रभाव‍ित हो सकती है। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

1. पर्याप्‍त नींद न लेना 

नींद पूरी न करने का असर भी द‍िमाग पर पड़ता है। नींद की कमी के कारण आप हर समय थका हुआ महसूस करते हैं। इससे द‍िमाग के मैकेन‍िज्‍म पर बुरा असर पड़ता है। पर्याप्‍त नींद न लेने के कारण व्‍यक्‍त‍ि हर समय तनाव में रहता है। तनाव बढ़ने से द‍िमाग के सेल्‍स डैमेज हो सकते हैं। द‍िमाग को तेज रखने और फोकस बढ़ाने के ल‍िए हर द‍िन 7 से 8 घंटे की नींद पूरी करें। अन‍िद्रा की स्‍थि‍त‍ि में डॉक्‍टर से संपर्क करना न भूलें।     

2. नमक का ज्‍यादा सेवन  

ज्‍यादा नमक खाने से हाई बीपी की समस्‍या हो सकती है। हाई बीपी के कारण स्‍ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। स्‍ट्राेक के कारण ब्रेन डैमेज होने की आशंका बढ़ जाती है। जो लोग फास्‍ट फूड या प्रोसेस्‍ड फूड्स का ज्‍यादा सेवन करते हैं, उनके शरीर में सोड‍ियम की मात्रा बढ़ जाती है। इसके अलावा ड‍िब्‍बाबंद खाने के सेवन से भी बचना चाह‍िए। रेडी टू ईट फूड भले ही झटपट तैयार हो जाता है, लेक‍िन इस चक्‍कर में आप ज्‍यादा नमक खा लेते हैं। नमक और चीनी का सीम‍ित सेवन ही अच्‍छी सेहत का राज है।

इसे भी पढ़ें- मानस‍िक तनाव से लड़कर चंचल ने घटाया 65 क‍िलो वजन, बनीं फ‍िट और हेल्‍दी

3. ज्‍यादा देर बैठे रहना 

side effects of sitting

अगर आप पूरे द‍िन केवल बैठे रहते हैं, तो द‍िमाग डैमेज हो सकता है। पीएलओएस वन में 2018 में हुए एक अध्‍ययन में बताया गया था क‍ि पूरे द‍िन बैठे रहने के कारण शारीर‍िक स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य भी प्रभाव‍ित होता है। आपको द‍िन में कम से कम 40 से 50 म‍िनट वॉक और फ‍िज‍िकल एक्‍ट‍िव‍िटी करनी चाह‍िए। एक ही जगह बैठे रहने के कारण मन भी उदास होता है और तनाव के लक्षण बढ़ते हैं। तनाव बढ़ने से द‍िमाग पर प्रेशर क्र‍िएट होता है। इसी प्रेशर से बचने के ल‍िए शरीर को एक्‍ट‍िव रखें। एक ही पोज‍िशन में ज्‍यादा देर तक न रहें।   

4. धूम्रपान का सेवन न करें

धूम्रपान करने की आदत मस्‍त‍िष्‍क के ल‍िए हान‍िकारक होती है। अगर आप धूम्रपान करते हैं, तो रक्‍त वाह‍िकाएं कमजोर हो सकती हैं। इसके कारण द‍िमाग में रक्तस्राव की स्‍थ‍ित‍ि बन सकती है और ब्रेन हेमरेज हो सकता है। धूम्रपान के अलावा एल्‍कोहल या अन्‍य नशीली चीजों का सेवन करने से भी बचना चाह‍िए। धूम्रपान के श‍िकार व्‍यक्‍त‍ि की मानस‍िक स्‍थि‍त‍ि, सामान्‍य व्‍यक्‍त‍ि के मुकाबले कमजोर हो सकती है। धूम्रपान का प्रभाव उन लोगों पर ज्‍यादा होता है जो लंबे समय से इसका सेवन कर रहे हों।  

5. तेज आवाज में गाने सुनना 

आजकल युवाओं को तेज धुन में गाने सुनने का क्रेज है। लेक‍िन ये आदत द‍िमाग पर बुरा असर डालती है। जो लोग तेज आवाज के आसपास काम करते हैं जैसे क‍िसी फैक्‍ट्री में, उन्‍हें ध्‍वन‍ि प्रदूषण ज्‍यादा प्रभाव‍ित करती है। ध्‍वन‍ि प्रदूषण के कारण द‍िमाग की नसों पर बुरा असर पड़ता है। कानों में जरूरत से ज्‍यादा शोर पहुंचने के कारण द‍िमाग डैमेज हो सकता है। हर समय हैडफोन लगाए रखने के ल‍िए भी कानों में तेज आवाज जाती है। एक सीमि‍त डेस‍िमल तक ही आवाज कानों के ल‍िए सुरक्ष‍ित होती है।

धूम्रपान करना, ज्‍यादा देर बैठना, तेज आवाज में गाने सुनना, नमक का ज्‍यादा सेवन करना, नींद पूरी न करने के कारण द‍िमाग पर बुरा असर पड़ता है और सेल्‍स डैमेज हो सकते हैं।   

Disclaimer