बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मददगार हो सकते हैं एसेंशियल ऑयल्स, जानें कैसे करना है प्रयोग

शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के बढ़ने से हृदय रोग और कई अन्‍य समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसे मैनेज करना जरूरी है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 09, 2020Updated at: Feb 09, 2020
बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मददगार हो सकते हैं एसेंशियल ऑयल्स, जानें कैसे करना है प्रयोग

आंकड़ों के अनुसार, 80% भारतीय, कोलेस्ट्रॉल की समस्या (Cholesterol problems) से पीड़ित हैं और कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना एक गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या है। अगर कोलेस्‍ट्रॉल कंट्रोल न हो तो इससे आप तनाव, हाई ब्‍लड प्रेशर (High BP), मोटापा (Obesity), हृदय रोग (Cardiovascular disease), उच्च रक्तचाप (Hypertension) और यहां तक कि हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) सहित कई अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से आप परेशान हो सकते हैं।

जबकि, इसके इलाज के लिए जीवनशैली में कुछ परिवर्तन जैसे- हेल्‍दी डाइट, एक्‍सरसाइज और भरपूर नींद जरूरी है। कई अध्‍ययनों में पाया गया है कि एसेंशियल ऑयल का उपयोग संभावित रूप से बिना किसी साइड इफेक्‍ट्स के कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम कर सकता है, ये आपको आश्‍चर्य लग रहा होगा, मगर यह सही है। आइए विस्‍तार से जानते हैं।

lemongrass

लेमनग्रास एसेंशियल ऑयल से कम होता है कोलेस्‍ट्रॉल?

एरोमाथेरेपी (Aromatherapy) प्राकृतिक रूप से आपकी बॉडी को हील करने के साथ सुरक्षा प्रदान करता है। ऐसी ही एक आसान रेमेडी है लेमनग्रास एसेंशियल ऑयल (Lemon Grass Essential Oil)। 

आमतौर पर इसका प्रयोग किचन में डिश को फ्लेवर देने के लिए किया जाता है। उपयोग में लाया जाने वाला लेमनग्रास एसेंशियल ऑयल, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी तरीके से प्रबंधित करने में भी मदद कर सकता है, और यह तथ्‍य इसकी पत्तियों में छिपा है। 

विज्ञान के अनुसार, लेमनग्रास ऑयल में टेरपेनॉइड यौगिक होते हैं जैसे कि गेरनिऑल और साइट्रल जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं। ये यौगिक मेवलोनिक एसिड के उत्पादन को बाधित करते हैं। यह कोलेस्‍ट्रॉल की कई दवाओं में इस्‍तेमाल किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: फायदेमंद ही नहीं नुकसानदेह भी हो सकती है लेमनग्रास

सूजन से बचाता है

लेमनग्रास, हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के कारण होने वाले कुछ दुष्प्रभावों पर भी अंकुश लगा सकता है। 2010 में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि लेमनग्रास ऑयल या अर्क का नियमित उपयोग शरीर में एंटीऑक्सिडेंट के उत्पादन को उत्तेजित करता है जो सूजन से लड़ने में मदद करता ह, जो कि मोटापे के प्रमुख कारणों में से एक है। यह शरीर में लिपिड लेवल को उत्‍पादन को कम करता है। एक स्वस्थ जीवन शैली के साथ लेमनग्रास का उपयोग कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से होने वाले नुकसान को कम करने में मदद कर सकता है।

lemongrass

कैसे करें इस्‍तेमाल? 

इसके प्रयोग से पहले यह समझना जरूरी है कि एसेंशियल ऑयल का प्रयोग पेय के तौर पर नहीं किया जाता है, जब तक कि उन्‍हें सही तरीके से डायल्‍यूट न किया गया हो। आप लेमनग्रास ऑयल को लेमनग्रास टी के तौर पर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यह तेल आंतरिक और बाहरी तौर पर प्रयोग करना सुरक्षित है। आप प्रतिदिन 1-2 बूंदों (या किसी वाहक तेल के साथ भी उपयोग कर सकते हैं) लेमनग्रास एसेंशियल ऑयल का उपयोग कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिहाज से बहुत फायदेमंद है लेमनग्रास

हालांकि, अभी क्लिीनिकल स्‍टडी चल रही है, मगर शोधकर्ताओं ने पाया है कि अन्‍य प्राकृतिक तेल जैसे कि लौंग का तेल, लैवेंडर ऑयल कोलेस्ट्रॉल से जुड़े लक्षणों में से कुछ को राहत देने में मदद कर सकता है और अगर नियमित रूप से उपयोग किया जाता है, तो स्थिति को बेहतर तरीके से प्रबंधित करने में मदद कर सकता है।

लेवेंडर ऑयल में तनाव को कम करने के गुण पाए गए हैं और यह शरीर में रक्‍त और ऑक्‍सीजन के प्रवाह को बेहतर बनाने में मददगार हो सकता है। ग्रैपफ्रूट ऑयल एक और रेमेडी है जो शरीर के लिए एक detoxifying एजेंट के रूप में काम करता है, शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल और अतिरिक्त वसा को दूर करता है।

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Disclaimer