आपके शरीर का 'सेंट्रल कंट्रोलर' है आपका लिवर, जानें इसका काम और कैसे रखें स्वस्थ

अक्सर जब बच्चों को भूख नहीं लगती या उनके शरीर का विकास ठीक से नहीं होता है, तो डॉक्टर बताता है कि बच्चे का लिवर कमजोर है। दरअसल हमारा लिवर हमारे पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आपका लिवर आपके शरीर में 500 से भी ज्यादा तरह

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Apr 18, 2019 12:59 IST
आपके शरीर का 'सेंट्रल कंट्रोलर' है आपका लिवर, जानें इसका काम और कैसे रखें स्वस्थ

अक्सर जब बच्चों को भूख नहीं लगती या उनके शरीर का विकास ठीक से नहीं होता है, तो डॉक्टर बताता है कि बच्चे का लिवर कमजोर है। दरअसल हमारा लिवर हमारे पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आपका लिवर आपके शरीर में 500 से भी ज्यादा तरह के काम करता है। लिवर हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है इसीलिए इसे सेंट्रल कंट्रोलर भी कहते हैं। आइए आपको बताते हैं कि क्या है हमारे लिवर का काम और इसे कैसे स्वस्थ रख सकते हैं आप।

क्यों जरूरी है लिवर का स्वस्थ रहना

हमारे पूरे शरीर का स्वास्थ्य ज्यादातर हमारे 4 अंगों के स्वास्थ्य पर निर्भर करता है- लिवर, किडनी, मस्तिष्क और हृदय। शरीर में लिवर का महत्व इसलिए है क्योंकि ये 500 से भी ज्यादा बॉडी फंक्शन्स में अपनी मदद देता है। इसमें होने वाली मामूली सी गड़बड़ी की वजह से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होती हैं। दिल और किडनी की बीमारियों के अलावा भारत में लोगों को लिवर से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं सबसे ज्य़ादा परेशान कर रही हैं क्योंकि हमारे खानपान की आदतों और जीवनशैली से इसका गहरा संबंध है।

इसे भी पढ़ें:- शरीर में बेहतर रक्त संचार के लिए अपनाएं ये 5 प्राकृतिक उपाय, बीमारियां रहेंगी दूर

कैसे काम करता है आपका लिवर

लिवर की कार्य प्रणाली को इस ढंग से समझा जा सकता है कि हम जो कुछ भी खाते हैं, वह पहले आंतों में जाता है। वहां मौज़ूद एंजाइम्स भोजन को बारीक कणों में परिवर्तित कर देते हैं। इसके बाद आंतों से आधा पचा हुआ भोजन लिवर में जाकर स्टोर होता है। हमारे शरीर में लिवर का स्थान उस केमिकल फैक्ट्री की तरह होता है, जो अधपचे भोजन के बारीक कणों से पोषक तत्वों को छांट कर अलग करता है। फिर रक्त प्रवाह के साथ इन सभी ज़रूरी विटमिंस और माइक्रो न्यूट्रीएंट्स को लिवर हमारे उन अंगों तक पहुंचाता है, जहां उनकी ज़रूरत होती है।

शरीर की गंदगी करता है साफ

लिवर सभी विषैले तत्वों को पहचान कर उन्हें अलग करता है। जो तत्व पानी में घुलनशील होते हैं, उन्हें यह किडनी में भेज देता है और वहां से वे यूरिन के साथ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। जो अवशेष पानी में घुलने के योग्य नहीं होते, वह लिवर से मलाशय में चले जाते हैं और मल के रूप में शरीर से बाहर निकल जाते हैं।

इसे भी पढ़ें:- आंतों में जमी गंदगी और टॉक्सिन्स को करना है साफ, तो खानपान में करें ये 5 बदलाव

लिवर न हो तो आप नहीं रख सकते व्रत

लिवर कार्बोहाइड्रेट को ग्लाइकोजेन में परिवर्तित करके सुरक्षित रखता है। जब भी आकस्मिक रूप से शरीर को ज़रूरत होती है लिवर इसे तुरंत ग्लूकोज़ में परिवर्तित करके रक्त में प्रवाहित कर देता है। उपवास के दौरान इसी सुरक्षित ग्लूकोज़ से हमारे शरीर को एनर्जी मिलती है। यह कई तरह के प्रोटीन और एंजाइम और हॉर्मोंस बनाने का भी काम करता है।

कैसे स्वस्थ रखें लिवर को

घी-तेल, एल्कोहॉल और रेड मीट के अधिक सेवन से लिवर के आसपास चर्बी जमा हो जाती है, जिससे फैटी लिवर की समस्या हो जाती है। इसके अलावा घी-तेल वाले आहार, जंक फूड्स और मैदे वाले आहार खाने से लिवर सिरोसिस का भी खतरा होता है। सिरोसिस लिवर संबंधी समस्याओं की सबसे गंभीर और अंतिम अवस्था मानी जाती है। इसमें लिवर की कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होने लगती हैं और उनका दोबारा निर्माण संभव नहीं हो पाता। इसका सबसे ज्यादा खतरा शराब पीने वालों को होता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer