वजन घटाने और कब्ज दूर करने में मददगार है 'जापानी वॉटर थेरेपी', जानें फायदे और नुकसान

जापानी वॉटर थेरेपी में रोज सुबह उठते हैं ही कमरे के तापमान का पानी पीना आपको कई बीमारियों से बचा सकता है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Jan 23, 2021 10:29 IST
वजन घटाने और कब्ज दूर करने में मददगार है 'जापानी वॉटर थेरेपी', जानें फायदे और नुकसान

जापानी जल चिकित्सा (Japanese water therapy) जापान की एक प्रसिद्ध चिकित्सा पद्धति है, जो जापानी लोगों के बीच व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। इसमें पाचन तंत्र को साफ करने और पेट के स्वास्थ्य को विनियमित करने के लिए सुबह उठने के बाद रूम टेंपरेचर के तापमान का पानी खाली पेट पीना होता है। वहीं इस नार्मल तापमान के पानी के अलावा आप गर्म पानी भी पी सकते हैं। वहीं जापानी वॉटर थेरेपी के अधिवक्ताओं की मानें, तो ठंडा पानी हर तरीके से हानिकारक है क्योंकि यह आपके भोजन में फैट और तेल को आपके पाचन तंत्र में कठोर कर सकता है। इस वजह से आपका पाचन धीमा कर हो जाता है और ये कई बीमारी का कारण बन सकता है।

inside_watertherapy

जापानी वॉटर थेरेपी (Japanese water therapy) में क्या करते हैं?

जापानी वॉटर थेरेपी में जागने पर और ब्रश करने से पहले आपको खाली पेट पानी पीना है। इसे करने के लिए खाली पेट कमरे के तापमान के पानी के चार से पांच गिलास पिएं यानी (160-मिलीलीटर) जितना पानी। ध्यान में रखें कि ये पानी नार्मल टेंपरेचर का या हल्का गर्म हो। इसे नाश्ता खाने से 45 मिनट पहले करें। वहीं इसमें ये भी बताया गया है कि प्रत्येक भोजन में, केवल 15 मिनट के लिए ही खाएं और कुछ भी खाने या पीने से कम में कम 2 घंटे का गैप रखें। 

चिकित्सकों के अनुसार, विभिन्न स्थितियों के इलाज के लिए जापानी जल चिकित्सा को विभिन्न अवधियों के लिए किया जाना चाहिए। स्वास्थ्य से जुड़ी लोगों को जिस तरह की प्रोब्लम हो उस हिसाब से इसे करने की कोशिश करनी चाहिए। जैसे कि

  • कब्ज में 10 दिन इसे करें।
  • उच्च रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) में लगातार 30 दिन इसे करें। 
  • टाइप 2 मधुमेह (डायबिटीज टाइप-2) में लगातार 30 दिन तक इसे करें।

हालांकि अधिक पानी पीने से कब्ज और रक्तचाप में मदद मिल सकती है, लेकिन इस बात का कोई सबूत नहीं है कि जापानी जल चिकित्सा टाइप 2 मधुमेह या कैंसर का इलाज या इलाज कर सकती है। पर अधिक पानी पीने से कुछ अन्य स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं।

inside_water therapybenefits

इसे भी पढ़ें : 2 आयुर्वेदिक हर्बल वॉटर, जो आपको अंदर से करे हील

जापानी वॉटर थेरेपी के फायदे

जापानी वॉटर थेरेपी उन स्थितियों में से कई के लिए एक प्रभावी उपचार नहीं है जिनमें सुधार करने का दावा किया गया है, फिर भी अधिक पानी पीने से कुछ स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं। 

वजना घटाना और ब्लड प्रेशर को संतुलित रखना

इस थेरेपी प्रोटोकॉल का पालन करने से वजन कम  (Japanese water therapy to lose weight) हो सकता है क्योंकि यह आपके कैलोरी सेवन को प्रतिबंधित कर सकता है। जापानी जल चिकित्सा का उपयोग करने में प्रति दिन कई गिलास पानी पीना शामिल है, जो आपको पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है। पर्याप्त जलयोजन के लिए कई लाभ हैं, जिसमें ब्रेन फंक्शन को ठीक करना, निरंतर ऊर्जा स्तर को बनाएं रखना, शरीर का तापमान और रक्तचाप विनियमन कई लाभ शामिल हैं।

कब्ज और पथरी में फायदेमंद

इसके अलावा, अधिक पानी पीने से कब्ज, सिरदर्द और गुर्दे की पथरी को रोकने में मदद मिल सकती है। ज्यादातर लोग अपनी प्यास को संतुष्ट करने के लिए पीने वाले अन्य तरल पदार्थ का इस्तेमाल करते हैं। जो कि पूरी तरह से पानी की जगह नहीं ले सकता है। इन तरह पदार्थों में नमक और चीनी जैसे पदार्थ हो सकते हैं, जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।हालांकि, यदि आप बहुत सक्रिय हैं, बाहर काम करते हैं और गर्म जलवायु में रहते हैं, तो आपको अधिक पीने की आवश्यकता हो सकती है।

कम कैलोरी

जापानी जल चिकित्सा का अभ्यास करने से आपको कैलोरी प्रतिबंध के माध्यम से वजन कम करने में मदद मिल सकती है। सबसे पहले, अगर आप चीनी-मीठे पेय पदार्थों जैसे फलों के रस या सोडा को पानी से बदलते हैं, तो आपकी कैलोरी की मात्रा अपने आप कम हो जाती है।संभावित रूप से प्रति दिन कई सौ कैलोरी कम करता है। इसके अतिरिक्त, प्रति भोजन केवल 15 मिनट की खाने वाले लोगों के लिए चिपके रहना, जिसके बाद आप 2 घंटे के लिए फिर से नहीं खाना, कैलोरी सेवन को प्रतिबंधित कर सकते हैं। अंत में ये भी कि अधिक पानी पीने से आप फुलर महसूस कर सकते हैं और भोजन से कम समग्र कैलोरी खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : त्‍वचा को निखारने के लिए जानें वॉटर थेरेपी के 3 फायदे

जापानी वॉटर थेरेपी के खतरे

जापानी जल चिकित्सा से हाइपोनेट्रेमिया का खतरा है। इसके अतिरिक्त, थेरेपी का अभ्यास करते समय कैलोरी को अत्यधिक सीमित करने से आप अभ्यास समाप्त करने के बाद पुन: वजन बढ़ सकता है।पानी का नशा या ओवरहाइड्रेशन, तब हो सकता है जब आप कम समय में अधिक मात्रा में पानी पीते हैं। यह आपके रक्त में हाइपोनेट्रेमिया या निम्न नमक के स्तर के कारण बन सकता है। हाइपोनैट्रेमिया के जोखिम वाले लोगों में गुर्दे की समस्याओं, धीरज एथलीटों और उत्तेजक दवाओं का दुरुपयोग करने वाले लोग शामिल हैं। सुरक्षित होने के लिए, प्रति घंटे लगभग 4 कप (1 लीटर) से अधिक तरल नहीं पीना चाहिए, क्योंकि यह अधिकतम राशि है, जो एक स्वस्थ व्यक्ति की किडनी एक ही बार में संभाल सकती है। जापानी जल चिकित्सा का एक और नकारात्मक पहलू यह है कि यह 15 मिनट तक हूी भोजन करना और खाने के समय पर अपने दिशानिर्देशों के कारण ये अधिक प्रतिबंधात्मक बन जाता है।

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

Disclaimer