रात में नींबू, संतरा जैसे खट्टे फलों का सेवन करने से बढ़ता है वात दोष और सड़ते हैं दांत, जानें नुकसान

जी हां ये बात बिल्कुल सही है कि बेवक्त समय पर खाई गई चीज हमारे शरीर पर असर उल्टा करती है। 

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: May 06, 2020 16:19 IST
रात में नींबू, संतरा जैसे खट्टे फलों का सेवन करने से बढ़ता है वात दोष और सड़ते हैं दांत, जानें नुकसान

किसे नहीं पता कि फल खाना हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है। दरअसल फलों में ढेर सारे विटामिंस, मिंरल्स और पोष्टिक तत्व होते हैं, जो हमें तंदरुस्त और सेहतमंत बनाए रखने में मदद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि फलों को सही समय पर खाने से ही हमारे शरीर को फायदा पहुंचता है। और अगर फलों को गलत समय पर खाया जाए तो ये हमारी सेहत के लिए नुकसानदेह भी साबित हो सकता है। जी हां ये बात बिल्कुल सही है कि बेवक्त समय पर खाई गई चीज हमारे शरीर पर असर उल्टा करती है। इसका मतलब ये है कि असमय पर खाया गया फल हमारे शरीर को फायदा नहीं बल्कि नुकसान पहुंचाता है। इसी क्रम में हम आपको बता रहे हैं कि किन फलों को आपको रात में नहीं खाना चाहिए। 

citrus

हमें हमेशा रात में विटामिन सी युक्त खट्टे फलों का सेवन नहीं करना चाहिए। खटे फल यानी की सिट्रस फ्रूट। दरअसल नींबू, संतरा, मौसमी सहित ये सिट्रस फल अम्‍लीय (एसिडिक) होते हैं। रात में सोने से पहले खट्टे फलों का सेवन करने से किसी भी व्यक्ति को एसिडिटी हो सकती है और जिस व्यक्ति को गैस व पेट से जुड़ी समस्याएं रहती हैं उसे तो बिल्कुल भी रात को सोने से पहले खट्टी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इस लेख में हम आपको रात के वक्त सिट्रस फलों के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में बता रहे हैं, जिसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

  • रात में सोते वक्त खट्टे फलों का सेवन करने से खांसी और गले में दर्द जैसी दिक्कत हो सकती है। 
  • रात में सिट्रस फूड के सेवन से खांसी और कफ भी बन सकता है। 
  • सोने से ठीक पहले विटामिन सी का सेवन आपकी नींद उड़ा सकता है। 
  • रात में सिट्रस फूड का सेवन करने से वजन कम करने में भी मुश्किल होती है। 
  • रात को सिट्रस फूड का सेवन करने से शरीर में पानी की मात्रा बढ़ती है, जिसके कारण बार-बार पेशाब करने जाना पड़ता है। 
  • आयुर्वेद के अनुसार, रात को खट्टे फलों के सेवन से वात दोष बढ़ सकता है।

इसे भी पढ़ेंः गर्मियों का सबसे स्वादिष्ट फल आम खाने के आप भी हैं शौकीन तो ध्यान दें, ऐसे पहचानें आम खट्टा है या मीठा?

खट्टे फल अम्लीय होते हैं। इसका मतलब है कि ये आपके सीने में जलन पैदा कर सकते हैं। ये ऐसा कर सकते हैं और ऐसा होता भी है हालांकि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप अम्लीय फलों का प्रबंधन कैसे करते हैं। आप बिना किसी समस्या के एक संतरे को छील कर खा सकते हैं और उसे चबा कर फेंक सकते हैं। इसे आपको कोई दिक्कत नहीं होगी लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन निश्चित ही आपको बीमार कर सकता है। इसके अलावा बहुत से लोग इस बात को नहीं जानते होंगे कि सिट्रस फूड को खाने के दस मिनट बाद उन्हें अपने दांतों को ध्यान से ब्रश करना चाहिए क्योंकि ये दांतों को सड़ा देते हैं। 

lemon

कुछ लोग सुबह भी सिट्रस फलों का सेवन नहीं करते हैं क्योंकि उन्हें सुबह भी सीने में जलन हो सकती है। 

दांतों को नष्ट करने वाला प्राथमिक पदार्थ बैक्टीरिया द्वारा उत्पादित एसिड होता है। लेकिन बैक्टीरिया को एसिड में किण्वित करने के लिए बैक्टीरिया को थोड़ा समय लगता है, कभी-कभी 4 घंटे का समय भी। खट्टे फलों में ज्यादातर सिट्रिक एसिड होता है। इसलिए यदि आप सीधे अपने दांतों को सिट्रिस में उजागर कर रहे हैं, तो आप सीधे अपने दांतों को एसिड के लिए उजागर कर रहे हैं। कहने की जरूरत नहीं है, नुकसान तत्काल है।

इसे भी पढ़ेंः भोजन करने के बाद जरूर करें ये 1 काम, वजन होगा कम, शुगर रहेगा कंट्रोल

जैसा कि आप जानते हैं, एसिड रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान इलेक्ट्रॉनों को छोड़ता है और इससे दांतों की जड़ों के अणुओं की रचना करने वाले कणों को आसानी से नुकसान पहुंचता है। इसलिए हां, खट्टे फल आपके दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। लेकिन यह कहना सही नहीं है कि आपको खट्टे फलों से बचना चाहिए। सौभाग्य से, लार में दांत की जड़ों को फिर से भरने की ताकत होती है, जिससे कटे हुए सिरे को फिर से ठीक किया जा सकता है।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer