हर मां को अपनी बेटी को सिखानी चाहिए पर्सनल हाइजीन से जुड़ी ये 4 बातें

हर बच्चे का पहला स्कूल उसका घर होता है। बात चाहे पढ़ाई की हो या फिर हाइजीन की, बच्चे को इसकी पहली शिक्षा अपने अभिभावकों से मिलती है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 13, 2022Updated at: Jul 14, 2022
हर मां को अपनी बेटी को सिखानी चाहिए पर्सनल हाइजीन से जुड़ी ये 4 बातें

How To Teach Girls About Personal Hygiene: सेहतमंद बॉडी, खूबसूरत बाल और ग्लोइंग स्किन के लिए पर्सनल हाइजीन बहुत जरूरी है। पर्सनल हाइजीन  का ध्यान न रखने से स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, जिसका असर बाल और स्किन पर दिखना लाजमी है। खासकर लड़कियों को छोटी उम्र से ही पर्सनल हाइजीन के बारे में बताना बहुत जरूरी होता है। पीरियड्स में ब्लीडिंग और क्लॉटिंग जैसी चीजों के बारे में लड़कियों को न बताया जाए, तो ये संक्रामक बीमारियों की वजह बन  सकते हैं। एक लड़की को पर्सनल हाइजीन से जुड़ी बातों की जानकारी देना मां उसके अभिभावक का फर्ज होता है। हालांकि भारत जैसे देश में आज भी मां ऐसी बातें अपनी बेटियों को बताने से बचती हैं। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक मां को अपनी बेटी को पर्सनल हाइजीन की अच्छी आदतों को कैसे सिखाना चाहिए।

बच्ची को कैसे सिखाएं पर्सनल हाइजीन अच्छी आदतें

Girls Hygiene issue

वजाइना को साफ करना है जरूरी

अपनी बेटी को समझाएं जैसे हाथ, मुंह और आंखों को धोना जरूरी है, ठीक वैसे ही वजाइना एरिया को भी स्वच्छ रखना जरूरी है। पानी और साबुन से वजाइना को धोने के बाद तौलिए का इस्तेमाल करना चाहिए। बेटी को बताएं कि वजाइनल एरिया को ड्राई रखने से फंगल इंफेक्शन दूर रहता है।

अंडर आर्म्स को साफ रखें

गर्मी, बारिश और उमस की वजह से अंडरआर्म्स में पसीना आना लाजमी है। पसीना यानी की बैक्टीरिया और कीटाणु, जिसकी वजह से बदबू आती है। अपनी बेटी को बताएं कि नहाते समय अंडरआर्म्स को अच्छे से क्लीन करना जरूरी है। अंडरआर्म्स को क्लीन करने के बाद वहां पर पाउडर लगाना भी सिखाएं। ये उसे पूरा दिन फ्रेश फील करवाने में मदद करेगा।

Women hygiene

पीरियड्स में ज्यादा एहतियात बरतना है जरूरी

12 से 16 साल की लड़कियां कई बार पीरियड्स के दौरान पर्सनल हाइजीन में लापरवाही बरतती हैं, जो फंगल इंफेक्शन, खुलजी और लाल रंग के चकत्तों का कारण बन सकती है। अगर आपकी बेटी को पीरियड्स की शुरुआत हुई है, तो उसके पास बैठें और बताएं कि इस दौरान किस तरह की पर्सनल हाइजीन को मैनेटेन करना चाहिए, ताकि संक्रमण से बचा जा सके।

  • हर 4 से 5 घंटें पर पैड को बदलें।
  • बच्ची को बताएं कि पैड बदलने से पहले प्राइवेट एरिया को क्लीन करें और फिर हाथों को धोएं।
  • वजाइना को नियमित रूप से धोएं और क्लीन अंडरवियर पहनें।
  • अंडरवियर को रोजाना बदलें।

इसे भी पढ़ेंः घर पर बनाएं नैचुरल माउथवॉश, मुंह की बदबू से मिलेगा छुटकारा

नाखून भी है जरूरी

फिल्म स्टार्स को देखकर आजकल की लड़कियां लंबे- लंबे नाखून रखने लगी हैं। नाखून लंबे होने की वजह से गंदगी कई बार इसके अंदर ही रह सकती है। अगर आपकी बेटी को लंबे नाखून रखने का शौक है, तो इसे नियमित तौर पर हाथ धोने, नाखून को कैसे साफ किया जा सकता है इसके बारे में बताएं। अपनी बेटी को समझाएं कि नाखून की गंदगी से उसके एलर्जी और कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

 

Disclaimer