लॉकडाउन के कारण डेंटिस्ट के पास नहीं जा पा रहे हैं, तो इन आसान तरीकों से करें टूटे हुए दांतों के दर्द का इलाज

दांतों के टूटने या हिलने पर अगर आप डेंटिस्ट के पास नहीं जा पा रहे हैं, तो ये आसान उपाय आपको दर्द से राहत दिलाने और इंफेक्शन से बचाने में मदद करेंगे।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 10, 2020
लॉकडाउन के कारण डेंटिस्ट के पास नहीं जा पा रहे हैं, तो इन आसान तरीकों से करें टूटे हुए दांतों के दर्द का इलाज

दांत के टूटने या हिलने पर बहुत तेज दर्द होता है। खासकर तब जब दांत मसूड़ों से आधा लगा हो और आधा निकल गया हो। चूंकि मसूड़ों में ही दांतों के ब्लड वेसल्स (रक्त वाहिकाएं), नर्व्स और कनेक्टिव टिशूज होते हैं, इसलिए कई बार असहनीय दर्द झेलना पड़ता है। आमतौर पर दांतों से जुड़ी छोटी से छोटी समस्या के लिए डेंटिस्ट के पास जाने की सलाह दी जाती है। मगर इन दिनों लॉकडाउन के कारण अगर आप डेंटिस्ट तक नहीं जा पा रहे हैं, तो घर पर ही इस दर्द से राहत पाने के लिए कुछ उपाय अपना सकते हैं।

दांत के टूटने या हिलने पर ये चीजें न करें

अगर आपका दांत टूट गया है या हिल रहा है और आप डेंटिस्ट के पास नहीं जा पा रहे हैं, तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • ठंडी और गर्म तापमान की चीजों को खाने-पीने से परहेज करें।
  • बहुत अधिक मीठी चीजों का सेवन न करें।
  • एसिडिक चीजें और ज्यादा खट्टी चीजें न खाएं।
  • सख्त और चबाने वाले चीजें, टॉफी आदि न खाएं।
  • दांत पर नैचुरल चीजों के अलावा किसी अन्य केमिकल या आर्टिफिशियल चीज का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह के न करें।

दर्द के लिए करें ये घरेलू उपाय

टूटे हुए दांतों की जगह पर नर्व्स जुड़ने और घाव को भरने में थोड़ा समय लगता है। तब तक डेंटिस्ट का इंतजार करने से बेहतर है कि आप घर पर ही कुछ उपायों को अपनाएं, जिससे दर्द से राहत मिले।

दर्द निवारक दवाएं ले सकते हैं

अगर आपको दांत टूटने के बाद तेज दर्द है, तो आप पास के केमिस्ट या फार्मासिस्ट से सलाह लेकर कोई दर्द निवारक दवा खा सकते हैं। आमतौर पर ऐसे दर्द के लिए इबुप्रोफेन, एसिटामिनोफेन जैसी दवाएं ली जा सकती हैं।

लौंग के तेल का प्रयोग करें

लौंग का तेल दांतों के दर्द को ठीक करने में बड़ा फायदेमंद समझा जाता है। लौंग के तेल को नैचुरल एनस्थेटिक माना जाता है इसलिए दांतों के दर्द के लिए ये तेल सैकड़ों सालों से प्रयोग किया जा रहा है। इसके इस्तेमाल के लिए आप लौंग के तेल में छोटा सा रूई का फाहा भिगोएं और फिर इसे उस जगह पर कुछ सेकेंड्स के लिए रख लें, जहां दर्द हो रहा है। इससे आपको दर्द में तुरंत आराम मिल जाएगा। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आप तेल को निगलें नहीं।

इसे भी पढ़ें:- दांतों की सेंसिविटी से छुटकारा पाना है, तो ब्रश करते समय ध्यान रखें ये 5 बातें

नमक पानी से कुल्ला करें

नमक और पानी का गरारा भी मुंह के बैक्टीरिया को मारने और सूजन कम करने में फायदेमंद होता है। नमक में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं इसलिए ये इंफेक्शन से बचाता है और दर्द से भी राहत दिलाता है। इसलिए आप दांतों की समस्या में दिन में 3-4 बार नमक पानी से कुल्ला भी कर सकते हैं।

ध्यान रखें- इन नुस्खों का प्रयोग करने के बाद भी आपको डेंटिस्ट से जरूर मिलना चाहिए क्योंकि कई बार डैमेज टिशूज ठीक से भर नहीं पाते हैं, तो आगे चलकर इंफेक्शन होने और खतरनाक बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। रिसर्च बताती हैं कि मुंह का स्वास्थ्य हृदय रोगों से भी जुड़ा हुआ है।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer