पेरेंट्स के लिए जरूरी है बच्‍चे की देखभाल और अपनी सेहत के बीच तालमेल बिठाना, जानें किन बातों पर दें ध्‍यान

यहां न्‍यू पेरेंट्स के लिए कुछ टिप्‍स हैं, जो उन्‍हें अपने बच्‍चे की देखभाल और अपनी सेहत के बीच तालमेल बिठाने में मदद करेंगी।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Nov 16, 2020Updated at: Nov 16, 2020
पेरेंट्स के लिए जरूरी है बच्‍चे की देखभाल और अपनी सेहत के बीच तालमेल बिठाना, जानें किन बातों पर दें ध्‍यान

क्‍या आप भी हाल में ही मां-बाप बने हैं या आप एक छोटे बच्‍चे के माता-पतिा है? अगर हां, तो अक्‍सर बच्‍चे की देखभाल में आपकी भी रोतों की नींद और सुबह का चैन उड़ जाता होगा। ऐसा इसलिए क्‍योंकि एक बच्‍चे को संभालना कोई आसान काम नहीं। अक्‍सर बच्‍चे की देखरेख में माता-पिता खुद की सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं, जो आगे चलकर उनकी सेहत पर भारी पड़ता है। हालांकि, एक दंपति के जीवन में एक बच्‍चे का होना सबसे खास चीजों में से एक है, लेकिन यह उतना ही चुनौतीपूर्ण भी है। क्‍योंकि एक बच्‍चे की देखभाल में न केवल आपको उसकी जिम्‍मेदारियां उठानी पड़ती हैं, बल्कि उसकी देखभाल में आप शारीरिक, मानसिक और भावनात्‍मक रूप से भी प्रभावित होते हैं। ऐसे में अगर आप खुद स्‍वस्‍थ नहीं होंगे, तो आप अपने छोटे बच्‍चे की सही से देखभाल कैसे कर पाएंगे। इसलिए आइए यहां नए माता-पिता के लिए कुछ पेरेंटिंग टिप्‍स हैं, जो उन्‍हें अपने बच्‍चे की देखभाल और अपनी सेहत के बीच तालमेल बैठाने में मदद करेंगी।

parenting tips

नींद है जरूरी

अक्‍सर छोटे बच्‍चों के साथ आपने देखा होगा कि वह दिन को सोते हैं और रात को जागते हैं। ऐसे में माता-पिता की नींद पर इसका असर होता है। लेकिन अधिकतर लोग इस तथ्‍य को नजरअंदाज करते हैं। आपके बच्‍चे के साथ-साथ आपको भी पूरी या अच्‍छी नींद लेना जरूरी है। ऐसी स्थिति में आप माता और पिता दोनों को जिम्‍मेदारियों को साझा करना चाहिए। जिससे कि बच्‍चे की देखभाल करना भी आसान होगा और दोनों की सेहत पर भी बुरा असर नहीं पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: अपने बच्चों को बचपन से ही सिखाएं हेल्दी लाइफस्टाइल की ये 5 आदतें, ताकि बच्चा हमेशा रहे स्वस्थ और बीमारी-मुक्त

फैमिली के लोगों से मांगें मदद

अक्‍सर कहा जाता है कि घर में बड़े-बुजुर्गों का होना और ज्‍वाइंट फैमिली में रहने के कुछ फायदे होते हैं। इन फायदों में से एक फायदा ये है कि आपको अपने बच्‍चे की देखभाल में मदद मिलती है। इसलिए यदि आप ज्‍वाइंट फैमिली में रह रहे हैं, तो आप बच्‍चे की देखभाल में परिवारजनों की मदद मांगे। एक नई मां के लिए अपने प्रसव के बाद अपनी भी सेहत पर विशेष ध्‍यान देने की जरूरत होती है। ऐसे में यदि उसे बच्‍चे की देखभाल में मदद मिले, तो वह खुद का भी ध्‍यान रख पाएगी। यदि आप सिंगल पैरेंट हैं, तो आप बच्‍चे की देखभाल के लिए एक आया यानि देखभाल करने वाली रखें।

अपनी सेहत का ख्‍याल रखें

जब आपके घर में एक बच्‍चा आता है, तो घर के सभी लोगों का ध्‍यान बच्‍चे पर केंद्रित होता है। ऐसे में खासकर बच्‍चे के माता-पिता को खुद के लिए बिलकुल भी समय नहीं मिल पाता है। लेकिन बच्‍चे का ध्‍यान रखते-रखते आप अपनी सेहत से जुड़ी छोटी-छोटी चीजें भूल जाते हैं, जो कि भी आपकी सेहत पर बुरा असर डालती हैं। जैसे कि आपको अपने खाने-पीने के समय का ध्‍यान रखना चाहिए। इसके अलावा, आप उचित आराम करें और खुद को स्‍ट्रेस-फ्री रखने की कोशिश करें। अच्‍छा खाएं, नियमित व्‍यायाम करें और स्‍वस्‍थ रहें। अपनी सेहत को आप बच्‍चे की देखभाल के बीच नजरअंदाज न करें। क्‍योंकि अपने बच्‍चे की देखभाल के लिए आपको खुद स्‍वस्‍थ रहना बेहद जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: अपने 1 साल से बड़े बच्चों को जरूर खिलाएं ये 5 सुपरफूड्स, समुचित विकास के लिए मिलेंगे सभी जरूरी न्यूट्रिएंट्स

tips for parents

खुद पर यकीन रखें

आप कभी भी अपने बच्‍चे की देखभाल को चिंता के रूप में न लें। आप हमेशा कोशिश करें कि आप अपने बच्‍चे की देखभाल में खुद पर यकीन रखें। आप जानते हैं कि आपके बच्‍चे को किन चीजों की आवश्‍यकता है और आपको उसके लिए क्‍या करने की जरूरत है। इसलिए ऐसा न समझें की आप एक अच्‍छे माता-पिता नहीं बन पा रहे हैं, अपनी भावनाओं पर संतुलन रखें और खुद पर विश्‍वास रखें।

इस प्रकार आप इन ईजी टिप्‍स के साथ अपने बच्‍चे की देखभाल कर सकते है। यह टिप्‍स आपको स्‍ट्रेस-फ्री और स्‍वस्‍थ रहने में मदद करेंगी।

Read More Article On Parenting Tips In Hindi

Disclaimer