Doctor Verified

HDL कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए करें इन इंडियन फूड्स का सेवन, मिलेगा फायदा

How to Increase HDL Cholestrol: शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए इन भारतीय फूड्स का सेवन बहुत फायदेमंद होता है, जानें।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 21, 2022 17:43 IST
HDL कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए करें इन इंडियन फूड्स का सेवन, मिलेगा फायदा

How to Increase HDL Cholestrol: शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से आपको दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। खानपान में असंतुलन और खराब जीवनशैली के कारण शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का खतरा बना रहता है। शरीर में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल को एलडीएल (LDL) और गुड कोलेस्ट्रॉल को एचडीएल (HDL) कहते हैं। बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से आपकी धमनियों में ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाता है और हार्ट ब्लॉकेज, स्ट्रोक या हार्ट अटैक जैसी समस्या का खतरा बना रहता है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए आपको हेल्दी लाइफस्टाइल और संतुलित व पौष्टिक डाइट का सेवन करना चाहिए। आइए इस लेख में जानते हैं शरीर में HDL कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए फायदेमंद इंडियन फूड्स के बारे में।

एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए इंडियन फूड्स- Indian Foods To Increase HDL Cholesterol in Hindi

शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अगर आपका खानपान असंतुलित है या आप बहुत ज्यादा तला-भुना या फास्ट फूड जैसे भोजन का सेवन करते हैं, तो इसकी वजह से आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है। हेल्दी डाइट लेने और नियमित रूप से एक्सरसाइज का अभ्यास करने से आपके शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल आसानी से बढ़ जाता है। ओजस क्लिनिक के डायटीशीयन डॉ वी डी त्रिपाठी के मुताबिक आपके शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 100 मिलीग्राम / डीएल से कम होना चाहिए।

How to Increase HDL Cholesterol

इसे भी पढ़ें: High Cholesterol के पीछे हो सकते हैं ये 7 कारण, जानें कम करने उपाय

गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल (HDL) कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए इन इंडियन फूड्स का सेवन करना बहुत फायदेमंद माना जाता है-

1. साबुत अनाज का सेवन

डाइट में साबुत अनाज को शामिल करने से आपके शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में फायदा मिलता है। साबुत अनाज में मौजूद गुण शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करते हैं और ब्लॉकेज की समस्या में खतरे को कम करने में बहुत फायदेमंद होते हैं। इसके लिए आप जौ, गेहूं, रागी, दलिया और जई जैसी चीजों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

2. डाइट में शामिल करें भारतीय दालें

दाल का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए भी दालों का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए अरहर की दाल, मटर और चने की दाल, मसूर की दाल, मूंग की दाल और साबुत मूंग का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। आप अगर शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाना चाहते हैं, तो डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करें-

  • सूखे मटर
  • राजमा
  • ब्लैक बीन्स
  • मसूर की दाल
  • मूंग दाल
  • अरहर
  • चना दाल
  • साबुत मूंग

3. फल और सब्जियां

फाइबर की पर्याप्त मात्रा वाले फल और सब्जियों का सेवन शरीर में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बहुत फायदेमंद होते हैं। आप फलों और सब्जियों को नाश्ते में या डाइट में कई तरीके से शामिल कर सकते हैं। शरीर में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए अंगूर, जामुन, स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी, क्रैनबेरी या ब्लैकबेरी, आलूबुखारा और नाशपाती, सेब केला और हरी सब्जियां आदि को शामिल करें। नियमित रूप से इनका सेवन आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को कम कर गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करेगा।

4. दही का करें सेवन 

शरीर में बढ़े हुए बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने के लिए दही का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। दही में मौजूद गुड बैक्टीरिया आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाते हैं और इसमें मौजूद हेल्दी फैट आपके शरीर में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में बहुत फायदेमंद माने जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रखने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 पोषक तत्व, हृदय रोगों का खतरा होगा कम

आप इन फूड्स को डाइट में शामिल कर शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा कई दूसरे भारतीय व्यंजन भी हैं जिन्हें डाइट में शामिल कर आप शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं। अगर आपके शरीर में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल लंबे समय से कम नहीं हो रहा है, तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer