सेहत की थाली: एक गुलाब जामुन में कितनी कैलोरीज होती हैं? इसे खाने से सेहत पर क्या असर पड़ता है

Gulab Jamun Calories : त्यौहार या फिर किसी फंक्शन पर आप जमकर गुलाब जामुन खाते हैं, तो पहले  जान लें इसमें मौजूद कैलोरीज और पोषक तत्वों के बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 13, 2022Updated at: Jul 13, 2022
सेहत की थाली: एक गुलाब जामुन में कितनी कैलोरीज होती हैं? इसे खाने से सेहत पर क्या असर पड़ता है

गुलाब जामुन के बिना  शादी, पार्टी हो या त्यौहार, सभी फीके लगते हैं।  उत्तर भारत में खासकर होली और दिवाली में गुलाब जामुन विशेष रूप से बनाया जाता है। गुलाब जामुन कई लोगों की पसंदीदा मिठाई होती है। वहीं कुछ लोग इसे खाने से परहेज करते हैं क्योंकि यह काफी ज्यादा मीठा होता है। गुलाब जामुन का स्वाद मन को रिलैक्स करता है, लेकिन क्या आप इसमें मौजूद कैलोरीज के (Gulab Jamun Calories) बारे में जानते हैं? 

ओनलीमायहेल्थ की स्पेशल सीरीज ‘सेहत की थाली’ में आज हम गुलाब जामुन में मौजूद पोषक तत्वों और कैलोरीज की चर्चा करेंगे। इस विषय की जानकारी के लिए हमने नोएडा स्थित मानस हॉस्पिटल की डाइटीशियन कामिनी कुमारी से बातचीत की। 

गुलाब जामुन में मौजूद कैलोरीज - Calories in Gulab Jamun

डायटीशियन का कहना है कि 1 पीस गुलाब जामुन (लगभग 70  ग्राम) में 160 कैलोरीज मौजूद होती  हैं। इसके अलावा इसमें कार्ब्स भी काफी ज्यादा होता है। कोलेस्ट्रॉल की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए भी गुलाब जामुन अनहेल्दी हो सकता है क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी काफी ज्यादा होता है। इसलिए अगर आप 1 से अधिक गुलाब जामुन खा जाते हैं, तो पहले इसमें मौजूद पोषक तत्वों और सेहत पर इसे खाने से पड़ने वाले प्रभावों के बारे में अच्छे से जरूर जान लें। 

एक पीस गुलाब जामुन (70 ग्राम) में मौजूद पोषक तत्व - 1 Piece Gulab Jamun Nutritional Facts

  • कैलोरी - 160
  • कार्ब्स - 24 ग्राम
  • फाइबर - 0
  • स्टार्च - 0
  • शुगर - 20 ग्राम
  • प्रोटीन - 4 ग्राम
  • फैट - 7 ग्राम
  • कोलेस्ट्रॉल - 17 mg
  • कैल्शियम - 130 mg
  • सोडियम - 55 ग्राम
  • विटामिन ए - 60 mcg

गुलाब जामुन खाने के नुकसान 

गुलाब जामुन भले ही स्वाद में काफी अच्छा हो, लेकिन सेहत के लिहाज से गुलाब जामुन काफी हैवी हो सकता है क्योंकि इसमें कई ऐसे तत्व होते हैं, जो आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आइए जानते हैं गुलाब जामुन के नुकसान के बारे में-

इसे भी पढ़ें - सेहत की थाली: एक समोसे में कितनी कैलोरीज होती हैं? समोसा सेहत पर क्या असर डालता है?

शुगर स्तर को करता है प्रभावित

गुलाब जामुन खाने से डायबिटीज मरीजों का शुगर लेवल काफी ज्यादा हाई हो सकता है क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा काफी ज्यादा होती है। 70 ग्राम के गुलाब जामुन में  करीब 20 ग्राम शुगर होता है। ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह आपके शुगर स्तर को कितने हद तक प्रभावित कर सकता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल का कारण

कोलेस्ट्रॉल मरीजों को भी गुलाब जामुन से परहेज करने की सलाह दी जाती है। इसमें कोलेस्ट्रॉल भी काफी ज्यादा होता है। अगर आप इसका सेवन करते हैं, तो यह खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकता है। 

बढ़ा सकता है वजन 

वजन कम करने के दौरान अगर आप गुलाब जामुन का सेवन करते हैं, तो यह आपकी मेहनत पर पानी फेर सकता है। इसमें वे सभी तत्व होते हैं, जो आपके शरीर के वजन को बढ़ा सकते हैं। इसलिए कोशिश करें कि वजन घटाने के दौरान गुलाब जामुन से दूरी बनाकर रखें। 

सूजन की समस्या

गुलाब जामुन में चीनी का मात्रा काफी ज्यादा होती है। ऐसे में अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो यह शरीर में सूजन को बढ़ा सकता है। इसलिए कोशिश करें कि कम से कम मात्रा में गुलाब जामुन खाएं।

गुलाब जामुन के फायदे (Gulab Jamun Possible Health benefits)

वैसे तो गुलाब जामुन स्वास्थ्य के लिए हेल्दी नहीं माने जाते क्योंकि इसमें वे सभी तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं लेकिन कुछ लोगों को इसका सेवन करने से मन को शांति मिलती है। खासतौर पर अगर आपको कुछ मीठा खाने का मन करे, तो इसके सेवन से क्रेविंग कम होती है। इसलिए कई बार ये शुगर क्रेविंग के कारण होने वाले स्ट्रेस को कम करने में मदद कर सकता है।

गुलाब जुमान दूध से बने खोए से बनता है, इसलिए इसमें प्रोटीन और कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है लेकिन इसमें मौजूद शुगर की वजह से इन प्रोटीन और कैल्शियम का प्रभाव कम हो जाता है। 

गुलाब जामुन खाने के लिए बरतें ये सावधानियां

  • गुलाब जामुन में तेल और चीनी की मात्रा काफी ज्यादा होती है, इसलिए पूरे दिन में 1 से 2 पीस से अधिक गुलाब जामुन का सेवन न करें। 
  • कोशिश करें कि बाजार में खुले हुए गुलाब जामुन खाने के बजाय घर पर तैयार गुलाब जामुन का सेवन करें। 
  • बच्चों को भी कम से कम गुलाब जामुन खाने के लिए दें। यह उनके स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। 
  • घर पर हेल्दी तरीके से गुलाब जामुन तैयार करके खाएं। 

गुलाब जामुन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह होता है। इसलिए कम से कम मात्रा में इसका सेवन करें। वहीं अगर आपको कोई बीमारी या समस्या है, तो एक्सपर्ट से सलाह लेकर ही किसी भी तरह की मिठाईयों का सेवन करें। 

 
Disclaimer