Doctor Verified

आंख में सूजन और दर्द हो तो न करें ये 6 गलत‍ियां, बढ़ जाएगी समस्या

आंख में सूजन और दर्द: आंख में असामान्‍य लक्षण नजर आने पर आपकी तकलीफ बढ़ सकती है इसल‍िए इस दौरान कुछ गलत‍ आदतों से बचें। जान‍िए इन आदतों के बारे में।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Nov 19, 2022 10:00 IST
आंख में सूजन और दर्द हो तो न करें ये 6 गलत‍ियां, बढ़ जाएगी समस्या

आंख में सूजन और दर्द: हमारी आंख बेहद नाजुक होती है। कई बार आंखों का ख्‍याल न रखने के कारण ये संक्रमण या बीमारी की चपेट में आ जाती हैं। आंख में संक्रमण या बीमारी होने पर आंख में दर्द, खुजली, सूजन, लाल‍िमा जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं। इन लक्षणों के नजर आने के दौरान कुछ सावधान‍ियां बरतनी जरूरी होती हैं। ऐसा न करने पर आंख में तकलीफ बढ़ सकती है। आंख में सूजन और दर्द हो तो कुछ गलत‍ियों से बचना चाह‍िए, इन्‍हें हम आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

eye pain in hindi

1. आंखों को साफ न रखना 

आंख में सूजन या दर्द होने के पीछे बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन हो सकता है। संक्रमण होने पर आंखों का खास ख्‍याल रखने की जरूरत होती है। इस दौरान आंख को साफ रखें। ठंडे पानी के छींटे आंख पर डालें। पलकों को बार-बार झपकाएं ताक‍ि आंख में मौजूद गंदगी आंख से बाहर आ जाए। 

इसे भी पढ़ें- आंखों के इन्फेक्शन को दूर करने के घरेलू नुस्खे 

2. बार-बार आंख में हाथ लगाना 

आंख को बार-बार हाथ लगाने से बचना चाह‍िए। इससे आंख में संक्रमण फैल सकता है। आंख में बार-बार हाथ लगाने से आंख में खुजली, जलन और तेज दर्द हो सकता है। हमारे हाथों के जर‍िए कीटाणु आंख में चले जाएंगे, तो संक्रमण के कारण आंख गंभीर बीमारी का श‍िकार हो सकती है इसल‍िए आंख के अंदर या आसपास बार-बार हाथ लगाने से बचें।   

3. आंखों को संक्रमण से न बचाना 

आंख में दर्द और सूजन बनी हुई है, तो इस दौरान आपको आंख को संक्रमण से बचाना चाह‍िए। बाहर न‍िकलते समय सनग्‍लासेज का इस्‍तेमाल करें। आंख को प्रदूषण और धूल के कण से बचाएं। इस दौरान जरूरत होने पर ही बाहर जाएं। आंख में क‍िसी भी तरह के असामान्‍य लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें।    

4. इलाज में देरी करना 

आंख में सूजन या दर्द जैसे लक्षण नजर आ रहे हैं, तो इलाज में देरी करने की गलती न करें। इलाज में देरी करने से आंख में संक्रमण या सूजन बढ़ सकती है। आंख से जुड़ी बीमारी का इलाज तुरंत करवाए जाना चाह‍िए। कई बार चेकअप में देरी के चलते आंख का नंबर ज्‍यादा हो जाता है। कम उम्र में ज‍िन बच्‍चों को चश्‍मा लगा हो, उनकी आंखों का चेकअप हर 6 महीने में एक बार करवाएं।  

5. डॉक्‍टर की सलाह के बगैर दवा लेना 

आंखों में दर्द या सूजन होने पर डॉक्‍टर की सलाह के बगैर दवा न लें। आंखें नाजुक होती हैं, गलत दवा के कारण आंखों की सेहत प्रभाव‍ित हो सकती है। कई लोग आंख में कोई भी आई ड्रॉप डाल लेते हैं लेक‍िन ऐसी गलती न करें। डॉक्‍टर की सलाह के बगैर क‍िसी आई ड्रॉप का इस्‍तेमाल न करें।  

6. घरेलू उपाय आजमाना 

आंखों की अच्‍छी सेहत सुन‍िश्‍च‍ित करना चाहते हैं, तो क‍िसी भी तरह के घरेलू उपायों का इस्‍तेमाल न करें। आंख के अंदर क‍िसी भी पदार्थ को डालने की सलाह डॉक्‍टर नहीं देते। घरेलू उपायों में क‍िसी भी तरह का रस या सामग्री आंख के अंदर न डालें।

ऊपर बताई इन आदतों से बचने से आप आंख में असामान्‍य लक्षणों को बढ़ने से रोक सकते हैं। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें।     

Disclaimer