70 की उम्र में भी रह सकते हैं फिट रोजाना करें एक्‍सरसाइज: स्‍टडी

यह एक गलत धारणा है, कि फिटनेस के लिए एक विशेष उम्र होती है। जबकि फिअ रहने के लिए कोई उम्र नहीं आप किसी भी उम्र में खुद को फिट रखने के लिए एक्‍सरसाइज कर सकते हैं। एक्‍सरसाइज आपके बढ़ती उम्र में स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को कम क

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Sep 01, 2019Updated at: Sep 01, 2019
70 की उम्र में भी रह सकते हैं फिट रोजाना करें एक्‍सरसाइज: स्‍टडी

यह एक गलत धारणा है कि जिम में कसरत करना या फिर एक्‍सरसाइज करना और पसीना बहाने के लिए आपको ए‍क युवा और ऊर्जावान होना चाहिए। हालांकि, हाल में हुए एक अध्ययन में बताया गया है कि जिन लोगों ने कभी व्यायाम नहीं किया है, उनमें एक ही उम्र के किसी भी अन्य उच्च प्रशिक्षित एथलीट की तरह ही मांसपेशियों को बनाने की ऊर्जा और ताकत नहीं है। अध्ययन बर्मिंघम विश्वविद्यालय में लीड रिसर्चर लेह ब्रिन द्वारा किया गया था। अध्ययन ने इस तथ्य पर जोर दिया कि कम या बिना व्यायाम वाले लोग मसल्‍स को उसी तरह से बना सकते हैं, जिस तरह से कम उम्र या उनकी उम्र के एथलीट कर सकते हैं।

अध्ययन के बारे में तथ्य बताते हुए, प्रमुख शोधकर्ता लेह ब्रिन ने कहा, "यदि आपने अपने जीवन में कभी एक्‍सरसाइज या जिम नहीं किया है, तो यह कोई मायने नहीं रखता है। नियमित रूप से व्यायाम करने और वर्कआउट करने से अधिकांश बढ़ती उम्र के लोगों को बहुत फायदा हो सकता है। ”

संपूर्ण शरीर के लिए

उम्र बढ़ने और व्यायाम करने की आदत को बढ़ावा देने के पीछे मुख्य उद्देश्य उम्र बढ़ने के साथ-साथ अच्छे स्वास्थ्य को पाने और लंबे समय तक स्‍वस्‍थ जीवन व्‍यापन करना है। इसके अलावा, किसी भी आयु वर्ग और उम्र का होना मायने नहीं रखता। किसी भी उम्र में फिट रहने के लिए व्यायाम करना सबसे अच्छा तरीका है। वर्कआउट करने से कई उम्र बढ़ने वाली स्वास्थ्य समस्‍याओं को दूर रखने में मदद मिलती है, जिससे कि किसी व्यक्ति के स्‍वस्‍थ जीवन-काल को बढ़ावा मिलता है।

क्‍या कहती है स्‍टडी 

फ्रंटियर्स इन फिजियोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, जिसमें वृद्ध पुरुषों के दो समूहों में मांसपेशियों के निर्माण की क्षमता का पता लगाया गया। पुरुषों का पहला समूह 70 और 80 के आयुवर्ग के थे और उनमें सात लोग थे जो एथलीट थे, जो पूरे समय व्यायाम करते थे और भी खेल से जुड़े हुए हैं। हालांकि, दूसरे समूह में उसी उम्र के आठ स्वस्थ व्‍यायाम न करने वाले लोग शामिल थे, जिनके पास न तो खेल गतिविधियों और व्यायाम करने का कोई इतिहास था।

इसे भी पढें: तनाव व चिंता को दूर कर सकता है रोजाना 20 मिनट ताजी हवा में टहलना: स्‍टडी

कैसे किया गया अध्‍ययन 

अध्‍ययन में शामिल प्रत्येक प्रतिभागी के पास एक वाटर ड्रिंक के साथ आइसोटोप ट्रेसर था। इसके बाद, प्रतिभागियों ने व्यायाम का हर एक मुकाबला किया, जिसमें एक्‍सरसाइज मशीन पर वेट ट्रेनिंग भी शामिल था। उसी के लिए, शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों की मांसपेशियों की बायोप्सी ली। व्यायाम करने के लिए मांसपेशियों ने कैसे प्रतिक्रिया दी, इसका अध्ययन करने के लिए एक्‍सरसाइज से पहले और एक्‍सरसाइज के बाद जांचा गया। 

अध्‍ययन के परिणाम 

अध्ययन को समाप्त होने के बाद, आइसोटोप ट्रेसर ने इस तथ्य को शाबित किया कि मांसपेशियां कैसे विकसित हुई। यह मास्टर एथलीटों के लिए मांसपेशियों को बनाने की क्षमता अधिक होने की उम्मीद थी। हालांकि, परिणाम दोनों में समान थे, और व्‍यायाम न करने वालों में किसी भी उम्र में मांसपेशियों को बनाने की समान क्षमता प्रदर्शित हुई। 

Read More Article On Health News In Hindi

Disclaimer