दही खाने से भी बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता, पेट को हेल्‍दी रखते हैं इनमें मौजूद 'गुड बैक्‍टीरिया'

Yogurt Benefits: दही हमारे संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहतर होती है। यह हमारी आंतों को हेल्‍दी रखने के साथ इम्‍यूनिटी को भी बढ़ाती है। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Mar 27, 2020
दही खाने से भी बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता, पेट को हेल्‍दी रखते हैं इनमें मौजूद 'गुड बैक्‍टीरिया'

मौसम में बदलाव के साथ, ठंड या फ्लू से बचने के लिए हमें अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। यह उचित समय है जब आप अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) और जीवन शैली की आदतों पर ध्यान देते हैं। मजबूत इम्‍यून सिस्‍टम सुनिश्चित करने के लिए हमें अपने आहार पर ध्‍यान देना चाहिए। हमें अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए जो इम्‍यूनिटी लेवल को बढ़ाने में मदद करें। ऐसा ही एक खाद्य पदार्थ जो मौसम में बदलाव के साथ आपकी इम्युनिटी को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसके अलावा, वे आपके शरीर को बैक्‍टीरियल और वायरल संक्रमणों से लड़ने की शक्ति प्रदान करते हैं।

'हीलिंग फूड्स' बुक के अनुसार, "मानव आंतों में बैक्टीरिया की लगभग 400 विभिन्न प्रजातियां होती हैं, कुछ अच्छे और कुछ बुरे होते हैं। दही में कई प्रकार के अच्‍छे बैक्‍टीरिया पाए जाते हैं। अच्छे बैक्टीरिया कार्बनिक अम्लों को ग्लूकोज में बदलने में मदद करते हैं, कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं, पोषक तत्वों को मेटाबॉलिज करने में मदद करते हैं, भोजन में एंजाइम, प्रोटीन और फाइबर को तोड़ते हैं, और प्रतिरक्षा प्रणाली को बूस्‍ट करने में मदद करते हैं।"

Yogurt-Benefits

बच्‍चों और बुजुर्गों के लिए फायदेमंद है फ्रेश दही

दही में प्रोबायोटिक्स का एक सामान्य प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाला प्रभाव होता है और आंतों में रोगजनक बैक्टीरिया और यीस्‍ट को बाधित करता है। प्रोबायोटिक्स को विशेष रूप से बच्चों में एक्जिमा जैसी एलर्जी को रोकने की क्षमता दिखाने के लिए भी जाना जाता है। बुजुर्गों या कमजोर प्रतिरक्षा वालो लोगों में, घर की बनी ताजी दही बैक्टीरिया और वायरल संक्रमणों को रोकने में मदद कर सकता है।

हमेशा ताजी दही का अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए, क्‍यों कि इसमें अच्‍छे बैक्‍टीरिया और प्रोबायोटिक्‍स होते हैं। कृत्रिम रंग, स्वाद, गाढ़ेपन और मिठास वाले योगर्ट से बचें।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज में फायदेमंद होता है योगर्ट खाना, ब्लड शुगर घटाने के लिए इन 4 तरीकों से खाएं

सुपरफूड है दही

पौष्टिक रूप से, दही एक सुपरफूड है जो न केवल आपके पेट को ठंडा करता है, बल्कि आपके पूरे शरीर को प्रोटीन, कैल्शियम और ऐसे कई महत्वपूर्ण तत्व प्रदान करता है। यह प्रोबायोटिक और आंत गतिविधि में सहयोगी है। क्योंकि यह पेट के लिए बहुत हल्का है, यह अक्सर पाचन समस्या वाले लोगों को खाने की सलाह दी जाती है। आप यह नहीं जानते होंगे, लेकिन यह वास्तव में सर्दियों में या मौसम में हो रहे बदलाव के दौरान खाने से यह आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ा देता है। इसमें लैक्टोबैसिलस, एक स्वस्थ बैक्टीरिया होता है जो कवक से संबंधित संक्रमण से लड़ता है।

इसे भी पढ़ें: पेट को हेल्‍दी रखने के लिए रोजाना खाएं प्रोबायोटिक्‍स वाले ये 7 फूड

आयुर्वेद ने अक्सर दही खाने की सलाह दी जाती है, द‍ही का सेवन हमेशा दोपहर में करना चाहिए आप सुबह के नाश्‍ते में भी दही ले सकते हैं। रात के समय और अस्‍थमा के मरीजों को दही खाने से बचना चाहिए।

दही जमाने का तरीका 

दही हमेशा मिट्टी के बर्तन में जमाना फायदेमंद हो सकता है। रात में दूध उबालने के बाद उसे किसी मटके में रख दें। गर्म दूध में थोड़ी सही दही डालकर रख दें। रातभर के लिए छोड़ दीजिए और सुबह ताजी दही का अनंद लीजिए। कोशिश करें दही को बिना चीनी या नमक के खाएं।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer