बार-बार मीठी चीजें खाने की जिद करते हैं बच्चे? इन 5 टिप्स की मदद से घटाएं बच्चों में मीठे की लत

बच्चे अक्सर मीठी चीजों के लिए जिद करते हैं मगर ज्यादा मीठा बच्चों के लिए नुकसानदायक होता है। जानें बच्चों में मीठे की लत छुड़ाने के टिप्स।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Feb 09, 2020 08:30 IST
बार-बार मीठी चीजें खाने की जिद करते हैं बच्चे? इन 5 टिप्स की मदद से घटाएं बच्चों में मीठे की लत

ज्यादातर बच्चों को मीठी चीजें खाना पसंद होता है। टॉफी, चॉकलेट, केक, पेस्ट्री, जूस, कुकीज, जेली, च्युइंग गम और न जाने कितनी सारी चीजें हैं, जिन्हें लगभग सभी छोटे बच्चे शौक से खाते हैं, बल्कि कई बार तो इनके लिए जिद और गुस्सा भी करते हैं। मगर यह तो आप भी जानते हैं कि बहुत अधिक मीठा खाना किसी की भी सेहत के लिए अच्छा नहीं है और बच्चों के लिए तो और भी खतरनाक है। मीठी चीजें ज्यादा खाने से न सिर्फ बच्चों के दांत खराब होने का खतरा रहता है, बल्कि उनमें ब्लड शुगर बढ़ने, मोटापा और कई तरह के गंभीर रोगों का खतरा भी बना रहता है। इसलिए बच्चों के मीठी की लत छुड़ाने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं।

घर पर बनाएं मीठे व्यंजन

बाजार में मिलने वाले सभी मीठी चीजों में बहुत ज्यादा चीनी का इस्तेमाल किया जाता है। बच्चे को कुकीज, पेस्ट्री, केक, कैंडीज आदि खिलाने के बजाय घर पर ही मीठी चीजें बनाएं। घर में आप मैदे के बजाय आटे की कुकीज बना सकती हैं, ड्राई फ्रूट्स और नट्स से केक बना सकती हैं, हलवा, मीठी पूड़ियां, दलिया आदि बना सकती हैं। बस ध्यान रखें कि घर में बनाते समय भी व्हाइट शुगर का प्रयोग कम करें। इसके बजाय ब्राउन शुगर या गुड़ का प्रयोग करें। इससे भी बेहतर होगा कि आप ड्राई फ्रूट्स से ही मीठी चीजें बनाएं, जैसे- किशमिश, खजूर, छुहारे आदि से।

इसे भी पढ़ें: ज्यादा मीठा खाने वालों को होता है इन 8 स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा, जानें कैसे कम करें मीठे की लत

योगर्ट खिलाएं

बच्चों को आइसक्रीम, कुल्फी, कोल्ड ड्रिंक्स आदि देने के बजाय आप योगर्ट खिलाएं। फ्लेवर्ड योगर्ट बच्चों को पसंद भी आते हैं और इनमें शुगर की भी मात्रा कम होती है। इसके अलावा योगर्ट प्रोबायोटिक फूड होता है, इसलिए बच्चों के लिए हेल्दी होता है। योगर्ट में प्रोटीन की मात्रा अच्छी होती है, जो बच्चों के विकास के लिए जरूरी है।

मीठी ड्रिंक्स पर लगाएं रोक

सबसे ज्यादा शुगर मीठे ड्रिंक्स में घुले होते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि 1 लीटर कोल्ड ड्रिंक बनाने में लगभग 110 ग्राम चीनी का प्रयोग किया जाता है। कोल्ड ड्रिंक्स के अलावा फ्रूट ड्रिंक्स जैसे- मैंगो फ्लेवर, ऑरेंज फ्लेवर, नींबू-पानी फ्लेवर आदि में भी बहुत अधिक मात्रा में चीनी घुली होती है। इनके सेवन से बच्चों को नुकसान पहुंचता है। इसलिए कोल्ड ड्रिंक्स के बजाय आप घर पर ही मीठे-चटपटे ड्रिंक्स बना सकते हैं, जिन्हें बच्चे पसंद करें, जैसे- आम का मीठा पना, शर्बत, स्मूदीज, शेक आदि।

इसे भी पढ़ें: मैदा, चीनी और फास्ट फूड्स के ज्यादा सेवन से होता है ये गंभीर रोग, जानें इसके लक्षण

सुबह-सुबह सीरियल्स न खिलाएं

बच्चों को सुबह के ब्रेकफास्ट में सीरियल्स जैसे- कॉर्न फ्लेक्स, म्यूसली और अन्य पैकेटबंद चीजें न दें। इनके सेवन से अचानक उनका ब्लड शुगर बढ़ सकता है। इसके बजाय सुबह के नाश्ते में पोहा, ओट्स, दलिया आदि का सेवन ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। इनमें फाइबर की मात्रा अच्छी होती है और इन्हें आप घर पर हेल्दी चीजें मिलाकर बना सकते हैं।

बच्चों को मीठे के नुकसान बताएं

इन सब बातों का ध्यान रखने के साथ-साथ यह भी जरूरी है कि आप मीठे के नुकसानों के बारे में अपने बच्चे से बात करें। बच्चों को बताएं कि अगर वो ज्यादा मीठा खाएंगे, तो उनके दांत खराब हो जाएंगे और जल्दी टूट जाएंगे। शुरुआत से ही इन बातों का ध्यान रखेंगे, तो बच्चों के मीठा खाने की लत को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है।

Read more articles on Kids Health in Hindi

Disclaimer