शरीर में कैल्शियम की कमी इन 3 अंगों को कर देती है कमजोर, जानें कैसे दूर करें कैल्शियम की कमी

शरीर के लिए कैल्शियम कितना जरूरी है इस बात से बच्चे से लेकर बूढ़ें तक सभी भलीभांति वाकिफ हैं। शरीर के जोड़ों में दर्द और अन्य हिस्सों पर सफेद धब्बे होना कैल्शियम की कमी का संकेत कहलाते हैं।

 

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Aug 01, 2019Updated at: Jan 29, 2021
शरीर में कैल्शियम की कमी इन 3 अंगों को कर देती है कमजोर, जानें कैसे दूर करें कैल्शियम की कमी

शरीर के लिए कैल्शियम कितना जरूरी है इस बात से बच्चे से लेकर बूढ़ें तक सभी भलीभांति वाकिफ हैं। शरीर के जोड़ों में दर्द और अन्य हिस्सों पर सफेद धब्बे होना कैल्शियम की कमी का संकेत कहलाते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि कैल्शियम की कमी होना खतरनाक हो सकता है। कैल्शियम की कमी को भूलकर भी नजरअंदाज नही किया जाना चाहिए। कैल्शियम की कमी शरीर में कई तरह की परेशानियों का कारण बन सकती है, जिसके कारण अस्वस्थता का भाव आने लगता है। अगर आप भी इस बात से अंजान हैं कि कैल्शियम की कमी के कारण हमारे शरीर  के कौन-कौन से अंग प्रभावित होते हैं तो हम इसकी कमी से कमजोर होने वाले अंगों के बारे में बताने जा रहे हैं।

कैल्शियम की कमी से हड्डियां होती है कमजोर

शरीर में कैल्शियम की कमी होना इंसान के लिए खतरनाक होता हैं। कैल्शियम की कमी के कारण शरीर में हड्डियों का विकास बाधित हो जाता है, जिसके कारण हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इतना ही नहीं हड्डियों की कमजोरी के कारण व्यक्ति अस्वस्थता और थका-थका सा महसूस करने लगता है। हड्डियों के कमजोर होने के कारण व्यक्ति को केवल शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से परेशानियां भी झेलनी पड़ती हैं। इसके साथ ही अक्सर हड्डियों में दर्द की समस्या भी रहती हैं। इसलिए कैल्शियम की कमी को नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। इसके लिए जरूरी है कि आप डॉक्टर की सलाह लें और कैल्शियम युक्त आहार का अधिक से अधिक सेवन करें।

इसे भी पढ़ेंः दिमाग को तेज बनाने के साथ पुरुषों की शारीरिक कमजोरी दूर करता है चूना, जानें इसके 5 स्वास्थ्य लाभ

कैल्शियम की कमी दिमागी स्वास्थ्य को करती है प्रभावित

कैल्शियम की कमी केवल हड्डियों को कमजोर नहीं करती बल्कि दिमाग को भी कमजोर बनाती है। कैल्शियम की कमी से हमारा दिमाग सिकुड़ने लगता है और दिमाग का न्यूरोट्रांसमीटर सही से काम नहीं कर पाता।  न्यूरोट्रांसमीटर के ठीक से न काम कर पाने के कारण दिमाग की कार्य प्रणाली प्रभावित होती हैं और व्यक्ति खुद को मानसिक रूप से अस्वस्थ महसूस करने लगता है।

इसे भी पढ़ेंः थकान उतारने के साथ आपकी सेहत को भी दुरुस्त रखती है शराब, जानें कैसे बनें स्मार्ट ड्रिंकर

ह्रदय गतिविधियों को भी प्रभावित करता है कैल्शियम

शरीर में कैल्शियम की कमी ह्रदय कार्य प्रणाली को भी प्रभावित करती है। कैल्शियम की कमी के कारण ह्रदय कमजोर हो जाता हैं और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। चूंकि कैल्शियम की कमी ह्रदय की गति को धीमा कर देती है, जिससे व्यक्ति के शरीर में रक्त का प्रवाह रुक-रुक कर आता है और सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। इस स्थिति में व्यक्ति खुद को अस्वस्थ और ऊर्जाहीन महसूस करने लगता है। इसलिए कैल्शियम की कमी होने पर डॉक्टर की सलाह और दूध, बादाम, लीची, अखरोट, अंकुरित अनाज जैसे  कैल्शियम युक्त आहार का सेवन बढ़ा देना चाहिए।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer