Expert

शुभ काम से पहले दही-चीनी खाने की परंपरा है सेहतमंद, जानें फायदे

हमारी पंरपरा के मुताब‍िक दही-चीनी का सेवन शुभ होता है। लेक‍िन इस म‍िश्रण का सेवन करने से सेहत को भी कई लाभ म‍िलते हैं। जानते हैं दही-चीनी के फायदे। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Oct 31, 2022 11:16 IST
शुभ काम से पहले दही-चीनी खाने की परंपरा है सेहतमंद, जानें फायदे

बचपन की बहुत सी यादें हमें जीवनभर याद रहती हैं। ऐसी ही एक याद जुड़ी है दही-चीनी के साथ। घर में परंपरा हुआ करती थी, जब भी कोई अच्‍छे काम के ल‍िए बाहर जाता, नानी-दादी या मां उसे दही-चीनी ख‍िलाया करती थीं। बच्‍चों के परीक्षा में जाने से पहले उन्‍हें दही-चीनी ख‍िलाया जाता था। लोगों में ऐसी मान्‍यता थी क‍ि क‍िसी भी शुभ कार्य से पहले दही-चीनी का सेवन शुभ होता है। आज भी कई घरों में दही-चीनी का सेवन क‍िया जाता है। सुबह-सुबह दही-चीनी खाने से सेहत को भी कई फायदे म‍िलते हैं। आयुर्वेद की मानें, तो दही हमारे शरीर को ठंडक पहुंचाने का काम करता है। जब शरीर ज्‍यादा गरम हो जाता है, तो त्‍वचा में एक्‍ने और कई समस्‍याएं जैसे पेट से जुड़ी श‍िकायतें बढ़ने लगती हैं। इन्‍हें शांत करने के ल‍िए दही फायदेमंद होता है। वहीं चीनी, ग्‍लूकोज का स्रोत है। जब हम दही और चीनी का सेवन साथ करते हैं, तो शरीर को कई फायदे म‍िलते हैं। इस लेख के जर‍िए दही-चीनी खाने के अन्‍य लाभ जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने The Nutriwise Clinic, लखनऊ की  न्‍यूट्रि‍शन‍िस्‍ट नेहा सिन्‍हा से बात की।

dahi chini ke fayde

1. मेमोरी पॉवर बढ़ेगी 

दही-चीनी का सेवन करने से मेमोरी बढ़ती है और ध्‍यान लगाने की क्षमता को बढ़ाने में मदद म‍िलती है। ब्रेन के ल‍िए इसे अच्‍छा आहार माना जाता है। पढ़ने वाले बच्‍चों के ल‍िए दही-चीनी का सेवन फायदेमंद होता है इसल‍िए परीक्षा से पहले भी उन्‍हें दही-चीनी ख‍िलाकर भेजा जाता था। दही में व‍िटाम‍िन ए, ई, सी, बी2, बी12 जैसे पोषक तत्‍व पाए जाते हैं। अगर आप पानी का सेवन कम करते हैं, तो शरीर में पोषक तत्‍वों की कमी दूर करने के ल‍िए दही-चीनी का सेवन करना एक अच्‍छा व‍िकल्‍प है।

इसे भी पढ़ें- दही खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए? जानें एक्सपर्ट राय

2. तनाव घटता है 

दही-चीनी का सेवन करने से तनाव कम होता है। आयुर्वेदा के मुताब‍िक, दही को कफवर्धक यानी कफ दोष को संतुल‍ित करने वाला आहार भी कहा गया है।  दही में मौजूद न्‍यूट्र‍िएंट्स जब शरीर में जाते हैं, तो ड‍िप्रेशन, एंग्‍जाइटी, तनाव आद‍ि समस्‍याओं से छुटकारा म‍िलता है। दही-चीनी को खाने का सबसे अच्‍छा समय सुबह का वक्‍त माना जाता है।

3. यूटीआई का इलाज 

यूटीआई यानी यूर‍िनरी ट्रैक्‍ट इंफेक्‍शन। ये समस्‍या ज्‍यादातर मह‍िलाओं में देखने को म‍िलती है। यूटीआई होने पर ब्‍लैडर और यूरेथ्रा आद‍ि में संक्रमण हो जाता है। संक्रमण के कारण जलन, खुजली का एहसास होता है। सुबह-सुबह दही-चीनी का सेवन करने से शरीर को ठंडक म‍िलेगी और यूटीआई के लक्षणों से राहत म‍िलेगी।

4. पेट से जुड़ी समस्‍याएं दूर होंगी  

वैसे तो, दही-चीनी का सेवन सेहत के ल‍िए अच्‍छा ही माना जाता है लेक‍िन ये पेट की सेहत के ल‍िए खासतौर पर फायदेमंद होता है। ज‍िन लोगों को कब्‍ज, एस‍िड‍िटी, अपच की समस्‍या है, उन्‍हें दही-चीनी का सेवन करना चाह‍िए। शरीर की इम्‍यून‍िटी बढ़ाने के ल‍िए भी दही और चीनी का सेवन फायदेमंद माना जाता है।

5. इंस्‍टेंट एनर्जी म‍िलेगी  

दही और चीनी का सेवन करने से शरीर को एनर्जी म‍िलती है। ज‍िन लोगों को मॉर्न‍िंग स‍िकनेस या थकान की समस्‍या है, उन्‍हें दही और चीनी का सेवन करना चाह‍िए। दही में पोटैश‍ियम, कैल्‍श‍ियम जैसे पोषक तत्‍व पाए जाते हैं। ज‍िन लोगों को दूध का सेवन करना अच्‍छा नहीं लगता, उन्‍हें दही खाना चाह‍िए। ये आसानी से पच जाता है।

दही-चीनी का सेवन कब न करें?

दही-चीनी कॉम्ब‍िनेशन की बात करें, तो चीनी में ग्‍लूकोज के अलावा कार्ब्स और कैलोरीज भी मौजूद होती हैं इसल‍िए रोजाना एक से दो चम्‍मच से ज्‍यादा दही-चीनी का सेवन न करें। थोड़ी मात्रा आपके ल‍िए नुकसानदायक नहीं होगी। साथ ही अगर दही से एलर्जी है, तो दही-चीनी का सेवन न करें। खांसी या जुकाम के दौरान दही-चीनी का सेवन करने से बचना चाह‍िए। डायब‍िटीज के मरीजों को भी इसके सेवन से पहले डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाह‍िए।

दही और चीनी का सेवन करने से शरीर में एनर्जी बढ़ती है। इसमें मौजूद ग्‍लूकोज के कारण स्‍ट्रेस कम होता है। मेमोरी पॉवर बढ़ता है। द‍िन की शुरूआत करने का ये एक अच्‍छा तरीका है। लेक‍िन सीम‍ित मात्रा में ही इसका सेवन करें। 

Disclaimer