COVID-19: कोरोना सर्वाइवर ने बताए 9 लक्षण जो फ्लू और निमोनिया से हैं बिल्कुल अलग, पहचान कर लें तुरंत उपचार

COVID-19: विश्वभर में  घोषित महमारी कोरोना के ऐसे 9 लक्षण, जो फ्लू और निमोनिया से हैं बिल्कुल अलग। लेख में पढ़ें और बरतें सावधानियां। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Mar 20, 2020 13:18 IST
COVID-19: कोरोना सर्वाइवर ने बताए 9 लक्षण जो फ्लू और निमोनिया से हैं बिल्कुल अलग, पहचान कर लें तुरंत उपचार

देश और दुनिया में तबाही मचाने वाला कोरोनावायरस (COVID-19) विश्वभर में एक महमारी घोषित किया जा चुका है, जिसके कारण लोग डर और दहशत के साए में जीने को मजबूर हैं। कोरोना के चलते फ्रांस,इटली, पोलैंड जैसे कई देश पहले ही लॉकडाउन कर चुके हैं। कोरोनावायरस एक ऐसा वायरस है, जिसके लक्षण बिल्कुल फ्लू से मिलते हैं, जिसमें बुखार और सूखी खांसी शामिल है। दुनिया भर के डॉक्टर कोरोनावायरस के तोड़ की तलाश में अभी भी लगे हुए हैं लेकिन कोरोना के लक्षणों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस लेख में हम आपको ऐसे 10 लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आम फ्लू और निमोनिया से बिल्कुल अलग हैं।

coronavirus

कोरोना के 9 ऐसे लक्षण, जो फ्लू और निमोनिया से हैं बिल्कुल अलग

पीड़ादायक साइनस

फ्लू और सर्दी पीड़ादायक साइनस के आम लक्षण हैं। थोड़ा सा भी दबाव पड़ने ये बहुत ज्यादा दर्दनाक हो सकता है। चीन के वुहान शहर के निवासी कोनोर रीड का कहना है कि साइनस वाकई बहुत पीड़ादायक होता है। रीड नवंबर 2019 में वायरस की चपेट में आए थे और वे नोवल कोरोनवायरस का शिकार होने वाले चंद पहले लोगों में भी शामिल थे। उन्होंने अपनी डायरी में लिखा है, '' मुझे पूरे शरीर में दर्द हो रहा था, मेरा सिर अकड़ रहा था, मेरी आंखें जल रही थी, मेरा गला घुट रहा था।

कान पर दबाव

कोरोना ने अपनी डायरी में बताया कि उन्हें ऐसा महसूस होता था कि उनके कान बाहर निकलकर गिर जाएंगे। ऐसा वायरस की वजह से होता था, जिससे उनके कान भारी हुए महसूस होते थे। कान के अंदर और बीच के बीच में स्थित यूस्टेशियन ट्यूब घिस जाती है और इससे आपके कानों में दबाव महसूस हो सकता है। ये सलाह दी जाती है कि मालिश करने के लिए ईयरबड का उपयोग न करें और दबाव को राहत देने में मदद करें। ये आपको अच्छे से ज्यादा नुकसान दे सकता है।

इसे भी पढ़ेंः COVID-19: फेफड़ों को नहीं, शरीर के इस अंग को सबसे पहले अपना निशाना बनाता है कोरोना, जानें कैसे रखें इसे ठीक

तेज सिरदर्द

सर्दी और फ्लू की स्थिति में सिरदर्द होना आम है। यह डिहाइड्रेशन के कारण भी हो सकता है। जिस पल आपको सिरदर्द होने लगे तो घबराएं नहीं। कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों को सलाह दी जाती है कि जब भी आवश्यकता हो आईब्रूफिन के बजाय पेरासिटामोल लें।

coronavirusprevention

आंखों में जलन

आंखों में जलन और खुजली होना एलर्जी का संकेत हो सकती है लेकिन एलर्जी के कारण आपके फेस पर खुजली होने लगती है। इस तरह की जलन धुएं, स्मॉग और अन्य एलर्जी के कारण भी हो सकती है।

बंद गला

गले में सूजन के कारण आपको बंद गले की शिकायत हो सकती है, जो कि रोग का एक विशिष्ट लक्षण है। अगर आपको सांस लेने या निगलने में परेशानी हो रही है, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप तुरंत एक डॉक्टर को जाकर दिखाएं।

पूरे शरीर में दर्द

कोरोनावायरस से पीड़ित लोग अपने शरीर में तेज दर्द का अनुभव करते हैं। यह केवल कान और छाती तक ही सीमित नहीं है, बल्कि आपके हाथ और पैर भी दर्द हो सकता है। यह कोरोनोवायरस संक्रमण के दौरान होने वाले बुखार के कारण हो सकता है। तनाव और चिंता भी दर्द को बढ़ा सकती है।

इसे भी पढ़ेंः महंगे सैनिटाइजर से नहीं पानी और ब्लीच से दूर करें कोरोना का खतरा, जानें किन चीजों को साफ करना जरूरी

फेफड़े से आती है आवाज

अगर आप सांस लेते समय दर्द या फिर किसी प्रकार की आवाज महसूस कर रहे हैं तो यह निमोनिया के लक्षण हो सकते हैं। सांस लेते वक्त खर-खर की आवाज आना आपकी सांस की नली में तरल पदार्थ के कारण क्रॉनिक ब्रीदिंग हो सकता है, जो कोरोनोवायरस संक्रमण से जुड़ा होता है।

थकान और भूख न लगना

फ्लू के दौरान थकान होना एक सामान्य लक्षण है। फ्लू के दौरान सलाह दी जाती है कि आप दिन में ज्यादा वक्त आराम करें। वायरस के संपर्क में आने वाली पहली थाई नागरिक जयमुय साय-उंग ने बताया कि वायरस से संपर्क में आने के बाद वह हमेशा थका हुआ महसूस करती थी और उनका खाना खाने का मन नहीं करता था। उन्होंने यह भी शिकायत की कि कोरोनोवायरस होने पर उनका खाने का बिल्कुल भी मन नहीं करता था।

छाती में जकड़न

कोरोनावायरस के शुरुआती लक्षण में बुखार के साथ छाती में जकड़न और लगातार खांसी होना शामिल है। ये वायरस खांसी के दौरान निकलने वाली बूंदों से भी फैलता है। इसलिए खांसी और छींक के दौरान आप कोहनी या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें। कोरोना की एक और सर्वाइवर का कहना है कि बुखार के साथ उन्हें थोड़ी-बहुत खांसी थी। इसी के साथ छाती में जकड़न महसूस होती है और लगातार खांसी भी आती रहती है।

Read More Articles On Coronavirus In Hindi

Disclaimer