किशमिश खाने से शरीर में बढ़ते हैं प्लेटलेट्स, दूर होंगी ब्लड से जुड़ी कई बीमारियां

खून में प्लेटलेट्स की संख्या का कम होना शरीर के लिए घातक है। इसीलिए डेंगू, मलेरिया, टायफॉइड आदि रोगों के कारण जब मरीज के शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या कम होती है, तो डॉक्टर तुरंत प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले आहार खाने की सलाह देते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jun 19, 2018Updated at: Jun 19, 2018
किशमिश खाने से शरीर में बढ़ते हैं प्लेटलेट्स, दूर होंगी ब्लड से जुड़ी कई बीमारियां

खून में प्लेटलेट्स की संख्या का कम होना शरीर के लिए घातक है। इसीलिए डेंगू, मलेरिया, टायफॉइड आदि रोगों के कारण जब मरीज के शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या कम होती है, तो डॉक्टर तुरंत प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले आहार खाने की सलाह देते हैं। किशमिश एक ऐसा आहार है, जिसमें ढेर सारे पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं और ये तत्व आपके शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।
डेंगू, मलेरिया, टायफॉइड आदि रोगों के कारण शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या बहुत कम हो जाती है, जो कि जानलेवा भी हो सकता है। कई बार ये रोग नहीं भी होते हैं फिर भी आपके शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या सामान्य से बहुत कम होती है। आइये आपको बताते हैं कि प्लेटलेट्स क्यों महत्वपूर्ण हैं और किशमिश से आप किस तरह प्लेटलेट्स बढ़ा सकते हैं।

कितने होने चाहिए शरीर में प्लेटलेट्स?

शरीर में प्‍लेटलेट्स की संख्‍या कम होने की स्थिति को थ्रोम्बोसाइटोपीनिया के नाम से जाना जाता है। एक स्वस्थ व्यक्ति के खून में सामान्य प्लेटलेट काउंट डेढ़ लाख (1,50,000)से साढ़े चार लाख (4,50,000) प्रति माइक्रोलीटर होता है। लेकिन जब यह काउंट डेढ़ लाख प्रति माइक्रोलीटर से नीचे चला जाये तो इसे लो प्लेटलेट माना जाता है। कुछ खास तरह की दवाओं, आनुवंशिक रोगों, कुछ खास तरह के कैंसर, कीमोथेरेपी ट्रीटमेंट, अधिक एल्कोहल के सेवन व कुछ खास तरह के बुखार जैसे डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया के होने पर भी ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या कम हो जाती है। लेकिन घबराएं नहीं क्‍योंकि कुछ आहारों की मदद से ब्‍लड प्‍लेटलेट्स को प्राकृतिक रूप से बढ़ाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:- गाय का देसी घी खाने से नहीं बढ़ता वजन, दूर होती हैं ये 5 जानलेवा बीमारियां

किशमिश बढ़ाती है प्लेटलेट्स

किशमिश में आयरन की मात्रा भरपूर होती है इसलिए ये शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाती है और शरीर को मजबूत बनाती है। किशमिश को आप स्नैक के रूप में, सब्जी, आइसक्रीम, फ्रूट, सलाद या ओट्स के साथ आसानी से खा सकते हैं। इसके अलावा किशमिश को आप दही और दलिया के साथ भी खा सकते हैं। इसके अलावा किशमिश में ग्‍लूकोज, फ्रक्‍टोज होता है जिससे एनर्जी लेवल बढ़ता है और कमजोरी दूर होती है।

प्लेटलेट्स के लिए कैसे खाएं किशमिश

रात में सोने से पहले एक कप पानी में 1 मुट्ठी किशमिश भिगो दें। सुबह यह पानी छानकर पिएं और किशमिश को अच्छी तरह चबाकर खाएं। किशमिश के पानी को रोज पीने से कोलेस्ट्राल के लेवल को ठीक रखता है। ये शरीर के ट्राईग्लिसेराइड्स के स्तर को कम करने में मदद भी करता है। रोजाना इसके सेवन करने से आपको पाचन, मेटाल्जिम आदि के स्तर को कम रखेगा। जिससे आप हमेशा फिट रहेगे।

किशमिश से मिलते हैं कई पोषक तत्व

100 ग्राम किशमिश से आपको इतने सारे पोषक तत्व मिलते हैं।

कैलोरी (kcal)- 299  
सैचुरेटेड फैट- 0.1 g    
अनसैचुरेटेड फैट- 0 g    
मोनोसैचुरेटेड फेट- 0.1 g    
कोलेस्ट्रॉल- 0 mg    
सोडियम- 11 mg    
पोटैशियम- 749 mg    
कार्बोहाइड्रेट- 79 g    
डाइट्री फाइबर- 3.7 g    
शुगर- 59 g    
प्रोटीन- 3.1 g   
इसके अलावा किशमिश में विटामिन सी, कैल्शियम और आयरन भी भरपूर पाया जाता है।

इसे भी पढ़ें:- शाकाहारी लोगों के लिए वो 10 चीजें, जिनसे मिलेगा मीट से ज्यादा आयरन

दूर होती है खून की कमी

किशमिश के पानी में आयरन, कॉपर और B कॉम्प्लेक्स की भरपूर मात्रा होती है। ये खून की कमी दूर करके रेड ब्लड सेल्स को हेल्दी बनाता है, जो सीधे एनीमिया से लड़ने की शक्‍ति रखता है। नए ब्‍लड के गठन के लिए जरूरी विटामिन बी कॉमप्‍लेक्‍स की जरुरत को भी किशमिश पूरी करती है। इसके अलावा किशमिश में मौजूद भरपूर मात्रा में कॉपर, लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है।

आंखों के लिए भी फायदेमंद

किशमिश में विटामिन ए, ए-बीटा कैरोटीन और ए-कैरोटीनॉइड होता है, जो आंखों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत आवश्‍यक होता है। इसमें एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण होते है जो आंखों को फ्री रैडिकल्‍स से लड़ने में मदद करता है। किशमिश खाने से उम्र बढने की वजह से आंखों की कमजोरी, मसल्‍स डैमेज, मोतियाबिंद आदि नहीं होता।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Disclaimer