सर्दियों में बढ़ जाती हैं सांस संबंधी ये 4 परेशानियां, जानें बचाव के उपाय

Common Respiratory Problems In Winter: सर्दियों में ये सांस से जुड़ी ये परेशानियां काफी बढ़ जाती हैं। 

Deepshikha Singh
Written by: Deepshikha SinghUpdated at: Jan 22, 2023 07:30 IST
सर्दियों में बढ़ जाती हैं सांस संबंधी ये 4 परेशानियां, जानें बचाव के उपाय

Common Respiratory Problems In Winter: सर्दियां आते ही सांस संबंधी मरीजों की संख्या में काफी इजाफा होता हैं। क्योंकि सर्दियों का मौसम में चलने वाली ठंडी हवाएं अस्थमा के मरीजों की परेशानी कई गुना बढ़ा देती है। मौसम का तापमान कम होने की वजह से हवा में ड्राईनेस काफी बढ़ जाती है। जिस कारण मॉइस्चराइचर की कमी के कारण सांस लेने में तकलीफ, गले में खराश और सीने में घरघराहट जैसी समस्याएं होने लगती हैं। कई बार ड्राई हवा फेफड़ों में में जलन भी पैदा कर सकती हैं। आइए जानते हैं सर्दियों में होने वाली सांस संबंधी परेशानियां और उससे बचने के उपाय।

अस्थमा

सर्दियां आते ही अस्थमा मरीजों की परेशानी कई गुना बढ़ जाती है। कई बार अस्थमा बढ़ने के साथ सर्दी और खांसी की समस्या भी बढ़ जाती है। इन सब से बचने के लिए सुबह और शाम ठंडी हवा में जाने से बचें। सर्दी होने पर गले और सिर को ढक्कर रखें।

ब्रोंकाइटिस

मौसम बदलने के साथ ब्रोंकाइटिस के मरीजों की संख्या भी बढ़ जाती है। ब्रोंकाइटिस होने पर खांसी होती है और कई बार सीने में जलन की समस्या भी होती हैं। ब्रोंकाइटिस बढ़ जाने पर बलगम भी बनने लगता है।  इससे बचने के लिए प्रदूषण और ठंडी हवा में जाने से बचें।

respiratory problems

निमोनिया

सर्दियों में निमोनिया होने के चांसेस काफी बढ़ जाते हैं। क्योंकि इस मौसम में हवा में नमी होने के कारण शरीर में बैक्टीरिया का इंफेक्शन तेजी से होता है। जिस कारण निमोनिया काफी बढ़ जाता है। इस समस्या से बचने के लिए सर्दी में खुद को पूरा ढक्कर रखें।  

इसे भी पढ़ें- नारियल का दूध पीने से शरीर को मिलेंगे ये 5 फायदे

क्रॉनिक ऑब्‍सट्रक्टिव पल्‍मोनरी डिजीज (COPD)

सीओपीडी की समस्या होने पर  फेफड़ों के रास्ते सिकुड़ जाते हैं। जिस कारण सांस लेने में तकलीफ की समस्या होती है। सर्दियों में सीओपीडी के मरीजों की संख्या भी काफी बढ़ जाती है। ऐसे में सर्दी होने पर अपना विशेष तौर पर ख्याल रखें। 

बचाव के उपाय

  • सर्दियां शुरू होते ही सांस संबंधी मरीज गर्म कपड़े पहने । ऐसा करने से शरीर को गर्माहट मिलती है और शरीर का बचाव होता है। 
  • सांस संबंधी मरीजों को सर्दियों में होने वाली धूल से बचना चाहिए। बाहर निकलने पर मास्क का प्रयोग करें। अपने बिस्तर और आसपास सफाई करें। धूल न जमने दें।
  • सर्दियों में कोशिश करे कि गुनगुना पानी ही पिएं। क्योंकि गुनगुना पानी गले में बलगम को जमने नहीं देता है और गले की खराश को भी दूर करता है।
  • ठंड बढ़ने पर घर से बाहर निकलने से बचें।
  • सांस संबंधी मरीजों को शराब और सिगरेट से दूर बनानी चाहिए। सर्दियों में इन दोनों का सेवन सांस संबंधी परेशानी को बढ़ा सकता है।

सर्दियां होने पर सांस संबंधी परेशानियां कई गुना बढ़ जाती हैं। ऐसे में परेशानी होने पर डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 

All Image Credit- Freepik

Disclaimer