Candle Massage Therapy: तनाव को दूर करने और त्‍वचा को चमकदार बनाए रखने में मददगार है कैंडल मसाज थेरेपी

Candle Massage: मोम की मालिश यानि कैंडल मसाज आपकी त्‍वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद मानी जाती है। इसमें मोमबत्ती पिघलाकर शरीर पर डालकर मसाज करते हैं।  

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Nov 28, 2019
Candle Massage Therapy: तनाव को दूर करने और त्‍वचा को चमकदार बनाए रखने में मददगार है कैंडल मसाज थेरेपी

आप सबने तरह-तरह के तेलों की मालिश तो की होगी, लेकिन क्‍या कभी मोम से भी मजास की है? अगर नहीं, तो अब शायद करने लगो। क्‍योंकि मोम की मसाज आपके पूरे शरीर और त्‍वचा के लिए बेहद फायदेमंद है। अक्सर काम और थकान भरे दिन के बाद आप तनाव को कम करने के तरीके ढ़ूढ़ते हैं। ऐसे में एक अच्छी नींद लेने के अलावा, अन्य कई तरीके हैं, जो आपके शरीर को तनावमुक्‍त कर सारी थकान को दूर कर सकते हैं। इन्‍हीं तरीकों में मालिश तनाव को कम करने का एक प्रभावी तरीका है। लेकिन आज हम जिस मसाज के बारे में बात कर रहे हैं, वह तेल की नहीं, बल्कि मोमबत्‍ती से होने वाली मालिश है, जिसे कैंडल मसाज कहा जाता है। यह इन दिनों काफी प्रचलन में है और काफी आरामदायक भी है। 

मोम की मालिश में गर्म मोम का उपयोग शामिल है, जो सीधे शरीर पर लगाया जाता है। शरीर पर गर्म मोम डालने का विचार आपको सोचने पर मजबूर कर सकता है, लेकिन यह एक मसाज थेरेपी है, जिससे कि आपके पूरे शरीर को आराम मिलता है। 

Candle Massage Benefits

कैसे की जाती है कैंडल मसाज? 

कैंडल मसाज में गर्म मोम से मालिश की जाती है, जिसके लिए पहले मोमबत्ती को जलाकर पिघलाया जाता है। इसके लिए, मोमबत्ती को एक बर्तन में रखा जाता है, जिसमें मोम पिघल जाता है। इसके बाद इस गर्म मोम को शरीर पर डाला जाता है और फिर इसे तुरंत फैलाया जाता है। इसकी मदद से डेड स्किन को हटाने के लिए हल्के हाथों से स्क्रब किया जाता है। इसके अलावा, नमी के लिए शरीर के चारों ओर गर्म तौलिये लपेटे जाते हैं। त्‍वचा को पुर्नजीवित करने के लिए मोम को जोजोबा तेल, कोकोआ बटर और विटामिन ई तेलों के साथ मिलाया जाता है। यह मालिश शरीर पर खिंचाव के निशान को कम करने में भी उपयोगी है। मोम की मालिश के दौरान कई खुशबूदार एसेंशियल ऑयल का उपयोग भी किया जाता है, जिसमें लैवेंडर का तेल, कोकोआ बटर, रोजमेरी का तेल, नींबू का तेल आदि शामिल हो सकते हैं।

त्‍वचा के लिए कैंडल मसाज

त्‍वचा की समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप कैंडल मसाज थेरेपी में आप लैवेंडर एसेंशियल ऑयल वैक्‍स थेरेपी ले सकते हैं। यह आपकी झुर्रियों दूर करने में मदद करेगा और सनबर्न से छुटकारा दिलाने में सहायक है। इतना ही नहीं यह आपके शरीर को आराम देने के साथ-साथ मन को भी शांति देने में मददगार है। 

डिप्रेशन और तनाव दूर करे जैस्मीन ऑयल कैंडल मसाज

यदि आप तनाव, डिप्रेशन और साइनस जैसी समस्याओं से गुजर रहें हैं, तो इन समस्‍याओं को दूर करने में भी कैंडल मसाज फायदेमंद शाबित हो सकती है। इसके लिए आपको कैंडल मसाज में जैस्मीन ऑयल को शामिल करना होगा। इससे तनाव जैसी समस्याओं को दूर करने में मदद मिलेगी। 

डार्क सर्कल्‍स का खात्‍मा करे जोजोबा ऑयल कैंडल मसाज

स्किन प्राबलम्‍स, जैसे झाईयां, पिगमेंटेशन, ब्लेमिश और डार्क सर्कल्स के साथ-साथ एक्‍ने को ठीक करने में कैंडल मसाल काफी कारगर है। यह आपके चेहरे की चमकदार बनाने में भी मदद करती है। 

इसे भी पढें: मेडिटेशन करते हैं मगर नहीं लगता है मन? इस्तेमाल करें ये 3 एसेंशियल ऑयल, मिलेगी तनाव से मुक्ति

Candle Massage Therapy

कोको बटर कैंडल मसाज

कोको बटर कैंडल मसाज त्वचा में ताजगी भरने का काम करती है। यह आपके ब्‍लउ सर्कुलेशन को बेहतर बनाने और त्वचा की झुर्रियों को भी खत्म करने में सहायक है। यह मालिश तन-मन को शांत करने और शरीर को तनावमुक्त बनाने में मदद करती है।

मांसपेशियों के आराम के लिए रोजमेरी ऑयल कैंडल मसाज

रोजमेरी ऑयल कैंडल मसाज से डिप्रेशन से राहत मिलती है और यह आपकी त्वचा की मांसपेशियों को आराम देता है। इसके अलावा, रोजमेरी या गुलमेंहदी का तेल शरीर के तनाव को कम करने में मदद करता है। इस मसाज का भरपूर लाभ उठाने के लिए रोजमेरी तेल के साथ मालिश करने के तुरंत बाद कुछ घंटों के लिए सोना चाहिए।

अनिद्रा के लिए चंदन का तेल मोमबत्ती की मालिश

यह मालिश मूत्र से संबंधित समस्याओं को दूर करने में मदद करती है। इसके अलावा, यह त्वचा को हाइड्रेट करने में उपयोगी है। चंदन का तेल एक दर्द निवारक है और अनिद्रा के इलाज में अत्यधिक प्रभावी है।

इसे भी पढें: वजन घटाने और स्ट्रेस दूर करने में बहुत फायदेमंद है रेकी थेरेपी, जानें इसके अन्‍य फायदे

कैंडल मसाज के फायदे 

कैंडल मसाज से आपको फ्लॉलेस और ग्‍लोइंग स्किन पाने में मदद मिलती है। यह आपकी त्वचा की चमक को भी बढ़ाता है। 

इसके अलावा, यह त्वचा में रक्त का प्रवाह बेहतर बनाता है, जिससे सुंदरता बढ़ती है और त्वचा संबंधी समस्याएं भी दूर होती हैं। 

गर्भावस्था के बाद त्वचा पर खिंचाव के निशान यानि स्‍ट्रेच मार्क्‍स को कम करने में भी कैंडल मसाज फायदेमंद है।

तनावमुक्‍त रहने और तन-मन को शांत रखने में भी कैंडल मसाज सहायक है। 

Read More Article On Mind and Body In Hindi

Disclaimer