नाखूनों का कमजोर होकर जल्दी टूटना भी है कई बीमारियों का लक्षण

अगर आपके नाखून अचानक से कमजोर हो गए हैं और छोटे-मोटे झटके से ही टूटने लगे हैं, तो सावधान हो जाएं। नाखूनों का कमजोर होना कई गंभीर बीमारियों का संकेत हो सकता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jul 23, 2018
नाखूनों का कमजोर होकर जल्दी टूटना भी है कई बीमारियों का लक्षण

आपके नाखूनों में भले जान नहीं होती है, मगर ये नाखून कई गंभीर बीमारियों का संकेत आपको समय रहते दे सकते हैं। नाखून आपके शरीर का हिस्सा हैं और दूसरे अंगों की तरह नाखून पर भी रोगों का प्रभाव पड़ता है। अगर आपके नाखून अचानक से कमजोर हो गए हैं और छोटे-मोटे झटके से ही टूटने लगे हैं, तो सावधान हो जाएं। नाखूनों का कमजोर होना कई गंभीर बीमारियों जैसे हाइपोथायरॉइडिज्म, लीवर रोग, त्वचा का संक्रमण आदि का संकेत हो सकता है। अगर आप इन संकेतों को समय रहते पहचान लेते हैं, तो इससे न सिर्फ रोग को बढ़ने से बचाया जा सकता है बल्कि सही इलाज भी किया जा सकता है। आइये आपको बताते हैं कि नाखूनों का कमजोर होना किन रोगों का हो सकता है इशारा।

हायपोथायरॉइडिज्म

हायपोथायरॉइडिज्म तब होता हैं, जब हमारे शरीर में थायरॉइड हार्मोन की कमी होती हैं - एक परिस्थिती  जिसमें  थायरॉइड ग्रंथि पर्याप्त थायरॉइड हार्मोन का उत्पादन नहीं कर सकती हैं। हाइपोथायरॉइडिज्म के तरफ लापरवाही से नही बरतनी चाहिए। इस समस्या में थायरॉइड ग्रंथि थायरॉक्सिन (टी-4) और ट्राईआयोडोथायरॉनिन (T-3) शरीर के लगभग सभी अंगों को प्रभावित करने लगती है। इससे हमारे मस्तिष्क और दिल के साथ-साथ शरीर का मेटाबॉलिज्म भी प्रभावित होता है। यह समस्‍या महिलाओं में ज्यादा होती है। इस विशेष स्थिति में, थायरॉयड ग्रंथि असामान्य रूप से निष्क्रिय हो जाती हैं। इस रोग का पहला लक्षण नाखूनों की कमजोरी यानि ब्रिटल नेल्स ही है।

इसे भी पढ़ें:- एक्जिमा क्‍या है, जानें इसके लक्षण और उपचार

विटामिन बी-12 की कमी

विटामिन बी-12 ऊतकों और रक्‍त कोशिकाओं के निर्माण और तंत्रिका को स्‍वस्‍थ रखने के लिए आवश्‍यक होता है। विटामिन बी-12 स्‍वाभाविक रूप से नहीं बनता और बॉडी को आहार या अन्‍य विटामिन सप्‍लीमेंट जैसे बाहरी संसाधनों पर निर्भर रहना पड़ता है। विटामिन बी-12 की कमी से रूखी और बेजान त्‍वचा के साथ-साथ नाखून के आसानी से टूटने की समस्‍या देखने को मिलती है।

एनीमिया

नाखूनों का कमजोर होना आयरन की कमी की ओर भी संकेत हो सकता है। एक अध्‍ययन के अनुसार, आयरन की कमी से बहुत से लोगों में एनीमिया की समस्‍या देखने को मिलती है। यह समस्‍या भी महिलाओं में ज्यादा पाई जाती है। शरीर में आयरन की कमी के कारण नाखून जल्दी टूटने लगते हैं या खुरदुरापन हो जाता है।

इसे भी पढ़ें:- कम पानी पीने वाले हो जाएं सावधान! बढ़ रहा है सिस्टाइटिस का खतरा

स्किन इंफेक्शन

सोरायसिस त्‍वचा रोग है, जिसमें त्‍वचा पर लाल रंग के चकत्‍ते हो जाते हैं। अध्‍ययन के अनुसार, त्‍वचा सोरायसिस या सोरायटिक अर्थराइटिस से ग्रस्‍त ज्‍यादातर लोगों में नेल सोरायसिस भी होता है। इसके आम लक्षणों में ब्रिटल नेल्‍स यानि कमजोर नाखून या नाखून के नीचे की त्वचा में संक्रमण फैल जाना शामिल है। इलाज में देरी होने पर संक्रमण गंभीर हो सकता है।

लिवर के रोग

क्‍या आप जानते हैं कि ब्रिटल नेल्‍स लीवर की बीमारियों का संकेत भी हो सकता है। एक अध्‍ययन के अनुसार, नाखून में बदलाव लीवर सिरोसिस रोगियों के साथ-साथ हेपे‍टाइटिस बी और सी के रोगियों में भी देखने को मिलता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer