नियमित दौड़ने वालों की उम्र होती है लंबी, जानें दौड़ने के फायदे

दौडऩा सबसे उत्तम व्यायाम है। अमेरिका के शोधकर्ताओं ने व्यायाम और मृत्यु दर के बीच के संबंधों का विश्लेषण किया। 

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Aug 15, 2018
नियमित दौड़ने वालों की उम्र होती है लंबी, जानें दौड़ने के फायदे

दौडऩा सबसे उत्तम व्यायाम है। अमेरिका के शोधकर्ताओं ने व्यायाम और मृत्यु दर के बीच के संबंधों का विश्लेषण किया। अध्ययन में पाया गया कि रोजाना दौडऩे वाले लोग, न दौडऩे वाले लोगों की तुलना में ज्य़ादा जीते हैं। शोधकर्ताओं ने 55 हजार से अधिक वयस्कों का विश्लेषण किया और पाया कि एक दिन में सिर्फ सात मिनट तक दौडऩे से दिल की बीमारी से मौत का खतरा कम हो सकता है। अमेरिका की आयोवा स्टेट यूनिवर्सिटी के डक चुल ली ने कहा कि इस शोध के प्रकाशित होने के बाद शोधकर्ताओं की टीम से सवाल पर सवाल होने लगे। धावकों ने उनसे पूछा कि क्या सच में उनके अच्छे प्रदर्शन से उनकी मृत्यु दर को कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें : न्यू वल्र्ड सिंड्रोम से प्रभावित है 75 प्रतिशत भारतीय, जानें क्या है ये रोग

क्या कहते हैं डॉक्टर

जो लोग रोजाना आधे घंटे से ज्य़ादा दौड़ते हैं या वॉक करते हैं, उनका दिल स्वस्थ रहता है। ऐसे लोगों में दिल से संबंधित बीमारियों के चांस कम हो जाते हैं लेकिन इसे प्रतिशत में आंकना सही नहीं हैं। लाइफस्टाइल और उम्र के हिसाब से नतीजों में अंतर देखा जा सकता है। 

दौड़ने के फायदे

  • यह डब्लू बी सी (सफेद रक्त कोशिकाएं जो रोगों से लड़ती हैं) के खून में केंद्रीयकरण के द्वारा प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है।
  • दौड़ना एक वजन सहन करने वाली गतिविधि (दौड़ते हुए आप अपने शरीर का वजन सहन करते हैं) है इसलिए ये मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाता है। इससे ऑस्टियोपोरोसिस का जोखिम कम हो जाता है।
  • नियमित रूप से दौड़ने से शरीर की प्रणाली की कंडीशनिंग होती है जिससे उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। यह हड्डियों और मांसपेशियों जो हमारी उम्र के साथ कमजोर होती जाती हैं, के बनने और उन्हें मजबूत करने में मदद करता है।
  • कई लोग बाहर दौड़ने के लिए जाते हैं जिससे वे दूसरों से मेल-जोल बढ़ा सकें। वे स्वास्थ्य और फिटनेस के लाभ प्राप्त करने के अलावा अच्छे दोस्त भी बना लेते हैं।
  • दौड़ने के कई मनोवैज्ञानिक लाभ भी हैं। दौड़ते समय एंडोर्फिन नामक हार्मोन शरीर में छोड़ा जाता है जो फील गुड फैक्टर की भावना देता है। धावक खुश और तनावपूर्ण कम लगता है। चूंकि दौड़ना एक बहुत ही चुनौतीपूर्ण गतिविधि है यह हर सत्र को पूरा करने पर उपलब्धि और गर्व की भावना देती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Health News In Hindi

Disclaimer